Breaking News

सरकार विरोधी आंदोलन दबाने के लिए सुदान के राष्ट्राध्यक्ष बशीर ने किया आपातकाल का ऐलान

खार्तुम – पूर्व अफ्रीका के सुदान में पिछले दो महीनों से राष्ट्राध्यक्ष ओमर बशिर इनकी हुकूमत के विरोध में जोरदार आंदोलन शुरू है| राजधानी खार्तुम के साथ देश के अलग अलग शहरों में लाखों नागरिक बशिर इनके विरोध में लगातार प्रदर्शन कर रहे है और यह प्रदर्शन दबाने के लिए सरकार पुलिस का इस्तेमाल कर रही है| लेकिन, इसके बावजूद यह आंदोलन अभी भी शुरू है और इस वजह से राष्ट्राध्यक्ष बशिर ने आपातकाल का ऐलान किया है| इस ऐलान के बाद सरकार बरखास्त की गई है और कार्यवाहक सरकार का गठन किया गया है|

सुदान के राष्ट्राध्यक्ष, आपातकाल का ऐलान, ओमर बशिर, सरकार विरोधी आंदोलन, प्रदर्शन, ww3, सुदान, संयुक्त अरब अमिरात

सुदान के राष्ट्राध्यक्ष ओमर बशिर १९९३ से सत्ता पर है और उन्होंने लष्कर के बल पर देश पर अपनी पकड कायम रखने में सफलता प्राप्त की है| ‘साउथ सुदान’ का निर्माण और ईंधन के दामों में हुई गिरावट की पृष्ठभूमि पर सुदान की अर्थव्यवस्था पिछले कुछ वर्षों से तकलिफ का सामना कर रही है| अर्थव्यवस्था पर नियंत्रण रखने में बशिर इनकी कोशिश नाकाम साबित हुई है और जनता में बना असंतोष लगातार बढ रहा है|

दिसंबर महीने से सुदान में ईंधन और ब्रेड की किमत लगातार बढ रही है और महंगाई रोकने की सरकार की कोशिश नाकाम हुई है| इस नाकाम सरकार को गिराने के लिए देश के अधिकांश विपक्षी गुट एक हुए है और दिसंबर के दुसरे हफ्ते से सुदान में प्रदर्शन शुरू हुए है| यह प्रदर्शन रोकने के लिए राष्ट्राध्यक्ष बशिर इन्होंने सुरक्षा यंत्रणा की बडी तादाद में तैनाती की है|

सुदान के राष्ट्राध्यक्ष, आपातकाल का ऐलान, ओमर बशिर, सरकार विरोधी आंदोलन, प्रदर्शन, ww3, सुदान, संयुक्त अरब अमिरात

सुरक्षा यंत्रणा ने प्रदर्शनकारियों पर बल का प्रयोग किया है और इसमें ६० से अधिक लोगों की मौत हुई है| लेकिन, इसके बावजूद प्रदर्शन जारी है और यह प्रदर्शन और भी तेज हो रहे है| इस वजह से आखिरी उपाय के तौर पर राष्ट्राध्यक्ष बशिर ने आपातकाल का ऐलान किया है, ऐसा कहा जा रहा है|

आपातकाल का ऐलान करने के साथ ही देश में केंद्र के साथ सभी राज्यों की सरकार बर्खास्त की गई है| इसी दौरान संविधान में सुधार करने में देरी करने के संकेत भी दिए गए है| नजदिकी समय में सरकार विरोधकों के साथ बातचीत करेगी, ऐसी जानकारी राष्ट्राध्यक्ष बशिर इनके नजदिकी लोगों ने दी है|

कुछ दिन पहले राष्ट्राध्यक्ष बशिर इन्होंने, सुदान में शुरू यह आंदोलन ‘अरब स्प्रिंग’ का हिस्सा होने का आरोप किया था| इसके पहले स्थानिय सूत्रोंने बशिर इन्हें झटका दे रहे इस आंदोलन के पिछे सौदी अरब और संयुक्त अरब अमिराती का हाथ हो सकता है, यह दावा किया था|

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info