Breaking News

अफगान ‘स्पेशल फोर्सेस’ की कार्रवाई में ६० तालिबानी ढेर

काबुल – अफगाण लष्कर के ‘स्पेशल फोर्सेस’ ने पिछले २४ घंटों में वहां के अलग अलग हिस्से में की हुई कार्रवाई में तालिबान के ६० आतंकी ढेर किए। इस कार्रवाई में अफगान लष्कर ने तालिबानी आतंकियों के ठिकानों पर हवाई हमलें किए। अमरिका और तालिबान के बीच कतार में तिसरें स्तर की बातचीत असफल होने के बाद अफगान लष्कर ने तालिबान पर यह आक्रामक कार्रवाई की है।

अफगानिस्तान में लोगार, हेल्मंड, उरूझगन और वारदाक इन प्रांतों में अफगान लष्कर ने यह कार्रवाई की। इसमें से लोगार और वारदाक इन दो प्रांतों में ‘बराकी बराक’, ‘चर्ख’ एवं ‘सय्यीदाबाद’ इन जिलों में अफगानी ‘स्पेशल फोर्सेस’ की कार्रवाई में २९ तालिबानी आतंकियो को ढेर किया गया। साथ ही तालिबानी आतंकियों ने रखा विस्फटकों बडा जखीरा भी इस दौरान नष्ट किया गया।

हेल्मंड प्रांत में ‘नौजाद’ और ‘मुसा काला’ और उरूजगान प्रांत के ‘तारींक’ इन तीन शहरों में अफगान लष्कर ने हवाई हमलें किए। इन हवाई हमलों में १२ आतंकी ढेर हुए। साथ ही तालिबान का रेडिओ टॉवर भी नष्ट किया गया। इसके अलावा पाकिस्तान की सीमा के पास पाकतिया क्षेत्र में भी अफगान स्पेशल फोर्सेस ने तालिबान की ठिकानों पर छापा करके आतंकियों को खतम किया गया है, यह जानकारी अफगान लष्कर ने दी।

पिछले महीने से अमरिका और तालिबान के बीच शुरू बातचीत की पृष्ठभूमि पर अफगान लष्कर ने तालिबान पर की यह बडी कार्रवाई साबित हो रही है। अफगान तालिबान का वरिष्ठ कमांडर मुल्ला घनी बरादर और अमरिकी विशेष दूत ‘झाल्मे खलिलजाद’ इन्होंने पिछले सप्ताह में दुसरी और तिसरी स्तर की चर्चा की। यह चर्चा शुरू थी तभी तालिबान ने अफगान सुरक्षा बलों पर हमला करके अपनी शक्ति दिखाई थी। अमरिका अफगानिस्तान से पूरी तरह से वापसी करे और फिलहाल अफगानिस्तान में बनी सरकार को अहमियत ना दे, यह तालिबान की प्रमुख मांग है। यह मांग अमरिका ने ठुकराई है।

अमरिका के साथ तालिबान की बातचीत असफल होने पर अफगान सुरक्षा बलों ने तालिबान पर किया यह हमला महज इत्तेफाक नही है, यह स्पष्ट हो रहा है। अफगानिस्तान से अमरिका सेना की वापसी करने की तैयारी कर रही है, तभी तालिबान ने अधिक आक्रामक भूमिका अपना कर अमरिका पर दबाव बढाने की कोशिश की है, यह?भी इस दौरान सामने आ रहा है। लेकिन, अमरिकी वरिष्ठ लष्करी अधिकारी एवं नेता अफगानिस्तान से अमरिकी सेना की वापसी को लेकर राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प इन्हें सतर्कता बरतने की चेतावनी दे रहे है। ऐसे में अभी तक हमें अफगानिस्तान से सेना की वापसी करने के आदेश प्राप्त नही हुए है, यह दावा अमरिकी ‘सेंटकॉम’ के प्रमुख जनरल वोटेल इन्होंने किया था।

English   मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info