Breaking News

खुफिया ‘जेसन्स ग्रुप’ पर पेंटॅगॉन की पाबंदी

वॉशिंगटन – पिछले छह दशकों से दुनिया भर में एटमी कार्यक्रम, लेजर यंत्रणा के अलावा अन्य सुरक्षा से जुडे अन्य खतरों के विषय में अमरिका को अत्यंत संवेदनशील जानकारी की आपुर्ति करनेवाली ‘द जेसन्स ग्रुप’ इस खुफिया तरीके से काम कर रही संगठन की ओर पीठ करने की तैयारी अमरिकी रक्षा मुख्यालय पेंटॅगॉन ने की है। अमरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए यह संगठन सहायक साबित नही हो रही है, यह कहकर पेंटॅगॉन ने ‘द जेसन्स ग्रुप’ पर पाबंदी लगाने के आदेश जारी किए है।

वर्ष १९६० में गठित ‘जेसन’ गुट अमरिका के लिए खुफिया तरीके से काम करनेवाला अहम गुट समझा जाता रहा है। अबतक अमरिका के रक्षा, उर्जा मंत्रालय के साथ ‘इंटेलिजन्स कम्युनिटी’ विभाग ने ‘जेसन’ को जरूरी सहायता की थी। लेकनि, अमरिका की सुरक्षा से संबंधी अभ्यास के लिए ‘जेसन’ के सहयोग की जरूरत नही है, यह कहकर इसके आगे अमरिकी रक्षा विभाग ‘जेसन’ से जुडा नही रहेगा, यह पेंटॅगॉन ने स्पष्ट किया है।

अमरिकी रक्षा मंत्राल की सुरक्षा विषयक भूमिका में बदलाव हुए है। इस वजह से अमरिका को अब नई नीति की जरूरत है, यह जानकारी पेंटॅगॉन की प्रवक्ता ‘हिदर बॅब’ इन्होंने दी। साथ ही अबतक अमरिकी रक्षा मंत्रालय से दी जा रही आर्थिक नीधि भी बंद करने का ऐला पेंटॅगॉन ने किया है। इस वजह से १ मई से ‘जेसन’ के साथ पेंटॅगॉन का कोई भी संबंध नही रहेगा। इस स्थिति में अगले कुछ घंटों में हो रही बैठक ‘जेसन’ की आखिरी बैठक साबित होगी।

पेंटॅगॉन के इस निर्णय पर अमरिकी रक्षा मंत्रालय से संबंधित विभाग और अधिकारी प्रतिक्रिया दर्ज कर रहे है। अमरिका की सुरक्षा से जुडी अत्यंत अहम योजनाओं में इस गुट ने उपलब्ध कराई जानकारी की काफी अहमियत रही है। साथ ही इस गुट के वैज्ञानिक, अभ्यासक और अधिकारीयों को विशेष सुरक्षा अधिकार भी दिए गए है। ३० से ६० सदस्यों के समावेश के साथ बना यह गुट सबसे पहले वियतनाम युद्ध के कारण दुनिया के सामने पेश हुआ था। इस गुट के सदस्य रहनेवाली व्यक्ती वैज्ञानिक, प्राध्यापक और विशेषज्ञ के तौर पर अलग अलग क्षेत्र में कार्यरत होते है। अमरिका की लष्करी, गुप्तचर एवं अन्य विभागों के लिए उपयुक्त साबित होनेवाली जानकारी की ‘जेसन’ के सदस्यों से आपुर्ति होती थी।

एसिड रेन, लेजर यंत्रणा एवं आर्टिफिशल इंटेलिजन्स, सायबर सुरक्षा, क्वांटम कॉम्प्युटिंग, हायपरसोनिक मिसाइल, सोनिक बूम इस तरह के कई प्रोजेक्ट में ‘जेसन’ का समावेश होने की जानकारी सामने आती रही है। अमरिकी रक्षादलों में ‘लेजर’ का इस्तेमाल हो, इसके लिए इसी गुट ने मांग रखी थी। इस और ऐसी कई मोर्चेपर जेसन ने अमरिका की सुरक्षा के लिए बडा योगदान दिया था, यह दावा ‘डार्पा’ एवं अमरिका की अन्य संगठन और अधिकारी कर रहे है। इस वजह से अगले समय में ‘पेंटॅगॉन’ने इस गुट की ओर पीठ की तो इससे अमरिका की सुरक्षा पर असर होगा, यह दावा कुछ अधिकारी और संगठन कर रही है। पेंटॅगॉन ने ‘जेसन’ के लिए नीधि देने से इन्कार किया है, फिर भी इस गुटने अपना संशोधन कार्य जारी रखने का ऐलान किया है।

‘जेसन’ संबंधी पेंटॅगॉन ने किया निर्णय ट्रम्प प्रशासन की बदलती राष्ट्रीय सुरक्षा से जुडी नीति का हिस्सा होने के संकेत प्राप्त हो रहे है। इसके पहले ट्रम्प प्रशासन ने अहम पदों पर काम कर रहे अधिकारियों पर भी कडी कार्रवाई की थी।

English    मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info