Breaking News

अमरिका और ईरान के एक-दुसरे पर सायबर हमलें शुरू

वॉशिंगटन/तेहरान – ईरान के मिसाईल और रॉकेट यंत्रणा पर अमरिका ने सायबर हमलें शुरू किए है। अमरिकी समाचार पत्र ने यह जानकारी उजागर की। इसके बाद ईरान ने अमरिकी सायबर हमले होने की बात स्वीकार की। अमरिका ने सायबर हमलें किए है, यह सच्चाई है। लेकिन, इसमें ईरान का बिल्कुल नुकसान हुआ नही है। यह हमलें रोकने में ईरान को सफलता प्राप्त होने का दावा भी ईरान के मंत्री ने किया है। इसी बीच ईरान ने भी अमरिका पर सायबर हमलें किए है, यह दावा सायबर सुरक्षा क्षेत्र की कंपनी ने किया है।

अमरिका और ईरान, सायबर हमलें, रिव्होल्युशनरी गार्डस्, कंप्युटर्स, अस्थिरता का माहौल तैयार करने की कोशिश, वॉशिंगटन, सौदी

ईरान ने पिछले सप्ताह में मिसाइल हमला करके अमरिका का ड्रोन गिराया था। इसके बाद दोनों देशों में संघर्ष भडकने की संभावना बढी थी। अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने अपनी सेना को ईरान पर हमलें करने के आदेश भी दिए थे। लेकिन, हमलों में संभावित जानों का होनेवाला नुकसान टालने के लिए राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने अंतिम क्षण पर हमलें करने का यह आदेश पीछे लिया था। लेकिन, अगले कुछ घंटों में ट्रम्प के आदेश पर अमरिका की ‘सायबर कमांड’ ने ईरान पर सायबर हमलें किए, यह जानकारी अमरिका के ‘द वॉशिंगटन पोस्ट’ ने दी।

इन सायबर हमलों में ईरान की रिव्होल्युशनरी गार्डस् के जरिए नियंत्रित किए जा रहे मिसाइल और रॉकेटस् के कंप्युटर्स को लक्ष्य करने का दावा अमरिकी समाचार पत्र ने किया। अमरिकी सायबर कमांड ने काफी पहले ही इस हमलें की तैयारी की थी। पिछले महीने में सौदी अरब के ईंधन टैंकर्स पर हुए रॉकेट हमले के बाद ही यह सायबर हमलें करने का विचार था, यह भी वर्णित समाचार पत्र ने कहा है। लेकिन अमरिकी रक्षा मंत्रालय से जुडे अधिकारी ने इस समाचार का खंडन किया है।

लेकिन, ईरान के जानकारी एवं संपर्क यंत्रणा विभाग के मंत्री मोहम्मद जावेद अझारी जहरोमी ने अमरिका ने सायबर हमलें करने की बात स्वीकार है। अमरिका ने सायबर हमलों के जरिए ईरान का बडा नुकसान करने की नाकाम कोशिश की है, ऐसा अझारी जहरोमी ने कहा। पिछले वर्ष ईरान ने बडी तादाद में हुए सायबर हमलें सफलता के साथ रोके थे, यह दावा भी ईरान के नेता ने किया। साथ ही सायबर सुरक्षा क्षेत्र की दो अमरिकी कंपनियों ने अलग ही जानकारी प्रसिद्ध की है।

पिछले कुछ हफ्तों से अमरिका और ईरान के एक दुसरे पर सायबर हमलें शुरू है। ईरान से अमरिकी प्रशासकीय यंत्रणा एवं ईंधन-गैस कंपनियां और आर्थिक क्षेत्र से जुडी कंपनियों पर सायबर हमलें हो रहे है। फिशिंग ई-मेल्स के जरिए ईरान अमरिका पर सायबर हमलें कर रहा है, ऐसा इन अमरिकी कंपनियों का कहना है। इन सायबर हमलों में अमरिका का नुकसान हुआ या नही, यह स्पष्ट नही हो सका है। लेकिन, अमरिका ने ईरान पर नए सायबर हमलें करने की तैयारी की है, यह दावा ‘द न्यूयॉर्क टाईम्स’ ने किया है।

ईरान की अहम जगहों पर सायबर हमलें करने का प्लैन अमरिकी सेना और गुप्तचर यंत्रणा ने तैयार किया है। साथ ही होर्मुझ की खाडी में तैनात ईरान की सैकडों गश्ती पोतों को नाकाम करने के लिए अमरिका ने तैयारी शुरू की है। इसके अलावा ईरान में हुकूमत के विरोध में अस्थिरता का माहौल तैयार करने की कोशिश अमरिका कर रही है, यह दावा द न्यूयॉर्क टाईम्स ने किया है।

इससे पहले अमरिका ने ‘स्टक्सनेट’ व्हायरस के जरिए ईरान के नातांझ परमाणु केंद्र के हजारों सेंट्रीफ्युजेस् को नाकाम किया था। इस हमलें से अवगत होने में ईरान को काफी समय लगा था। ऐसे में कुछ हफ्तें पहले ही इस्रायल अपने परमाणु केंद्रों पर सायबर हमलें करने की तैयारी में होने का आरोप ईरान ने किया था।

English       मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info