Breaking News

अमरिका जल्द ही ‘स्कायबॉर्ग’ का परीक्षण करेगी

वॉशिंगटन – अमरिका ने ‘रोबोट वॉर’ कि दिशा में कदम बढाना शुरू किया है| मानव रहित गश्ती विमान, विध्वंसक और पनडुब्बी का निर्माण एवं परीक्षण करने के बाद अमरिका ने अब मानव रहित लडाकू विमानों के परीक्षण की तैयारी शुरू की है| ‘आर्टिफिशल इंटेलिजन्स’ (एआई) और ‘ऑटोनॉमी अल्कोरिदम’ पर निर्भर यह मानव रहित लडाकू विमान यानी ‘स्कायबॉर्ग’ का जल्द ही परीक्षण होगा, यह जानकारी अमरिका के प्रमुख मासिक पत्रिका ने प्रसिद्ध की है| इस मानव रहित लडाकू विमान का परीक्षण अमरिकी वायुसेना के सामर्थ्य में बढोतरी करनेवाली साबित होगी, यह दावा इस मासिक पत्रिका ने किया है|

अमरिकी वायुसेना ‘के ‘रिसर्च लैबोरेटोरी’ ने मानव रहित लडाकू विमान का परीक्षण किया है| इस विमान के ‘प्रोटोटाईप’ के परीक्षण अगले कुछ दिनों में शुरू होंगे| कैलिफोर्निया के ‘कर्न कौंटी’ में एडवर्डस् हवाईअड्डे पर यह परीक्षण होंगे| अमरिकी वायुसेना की प्रवक्ता ‘कॅरा बॉसी’ ने इस परीक्षण संबंधी जानकारी दी| इस मानव रहित लडाकू विमान यानी ‘स्कायबॉर्ग’ का परीक्षण शुरू में छोटे स्तर होगा|

लेकिन, किसी भी लडाकू विमान की तरह युद्ध की स्थिति में जरूरी भारी गति से स्कायबॉर्ग उडान भरेगा, यह भी बॉसी ने कहा| इस परीक्षण के दौरान उम्मीद के नुसार नतीजे प्राप्त होने के बाद ‘स्कायबॉर्ग’ के अगले परीक्षण का स्तर बढाया जाएगा, ऐसा बॉसी ने कहा| पिछले दो वर्षों से वायुसेना और संबधित संगठन ‘स्कायबॉर्ग’ के निर्माण के लिए कडी कोशिश कर रहे है| मार्च महीने में ‘स्कायबॉर्ग’ को लेकर पहली जानकारी उजागर की गई थी|

अमरिका में तैयार हो रहे मानव रहित लडाकू विमानों के बेडे में ‘स्कायबॉर्ग’ सबसे प्रमुख और आगे रहेगा, यह दावा भी अमरिका में मौजुद विश्‍लेषक कर रहे है| ‘एआई’ और ‘ऑटोनॉमी अल्गोरिदम’ पर निर्भर होने से स्कायबॉर्ग विमान युद्ध के दौरान या मुहिम के दौरान अपना निर्णय खूद कर सकेगा, यह बात भी वर्णित मासिक पत्र ने अपनी जानकारी में कही है| अगले कुछ महीनों में ‘स्कायबॉर्ग’ अलग अलग परीक्षणों की कसौटी पर उतरेगा और वर्ष २०२३ में यह मानव रि७त लडाकू विमान अमरिकी वायुसेना के बेडे में शामिल होगा|

मार्च महीने में अमरिकी वायुसेना के वरिष्ठ अधिकारी विल रॉपर ने दी जानकारी के नुसार जून-सितंबर के दौरान ‘स्कायबॉर्ग’ का परीक्षण होगा| लेकिन, ‘स्कायबॉर्ग’ के साथ अमरिकी वायुसेना के अन्य मानव रि७त विमानों का परिक्षण भी होगा| इसमें ‘कार्टोस एक्सक्यू-५८ए वल्करी’ स्टेल्थ लडाकू विमान, बोईंग कंपनी का ‘क्यूएफ-१६’ मानव रि७त लडाकू विमान और ‘बीक्यूएम-१६७ स्कीटर’ हमलावर ड्रोन का भी परीक्षण होगा| इनमें से ‘वल्करी’ का परीक्षण मार्च महीने में होगा| वही, अमरिकी वायुसेना के पुराने ‘एफ-१६’ विमानों में प्रगत तकनीक का प्रयोग करके तैयार किए गए मानव रहित लडाकू विमान का पहला परीक्षण वर्ष २०१३ में किया गया था|

इस दौरान, से चीन और रशिया ने भी ‘एआई’ के जोड के साथ बनाए मानव रहित ड्रोन्स और टैंक का निर्माण करने में आगे दौड लगाई है| चीन के ‘स्वार्म ड्रोन्स’ ने ‘साउथ चाइना सी’ के क्षेत्र में युद्धाभ्यास करने की जानकारी भी प्रसिद्ध हुई थी| इस पृष्ठभूमि पर अमरिका ने ‘स्कायबॉर्ग’ और अन्य मानव रहित लडाकू विमानों के निर्माण में प्राप्त की हुई बढत अहमियत रखती है|

English    मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info