Breaking News

ब्रिटेन में अपराध रोकने के लिए २०,००० पुलिस तैनात होंगे – प्रधानमंत्री बोरिस जॉन्सन

लंदन – ब्रिटेन में बढ रहे अपराधिक मामलों पर रोक लगाने के लिए अतिरिक्त २० हजार पुलिस तैनात करने का निर्णय किया गया है| अगले तीन वर्षों के समय में यह तैनाती पूरी होगी, यह ऐलान प्रधानमंत्री बोरिस जॉन्सन ने किया है| ब्रिटेन में पिछले कुछ वर्षों में ‘नाईफ क्राईम’ समेत हिंसा की वारदात डरावनी मात्रा में बढने की बात सामने आ चुकी है| इन बढते अपराधिक मामलों के लिए पुलिस की कमी और कम आर्थिक प्रावधान कारण होने की बात सामने आ रही है|

बोरिस जॉन्सन, पुलिस तैनात करने का निर्णय, प्रिती पटेल, प्रधानमंत्री, आर्थिक प्रावधान, ब्रिटेन, रशियापिछले सप्ताह में प्रधानमंत्री पद का जिम्मा हाथ लेने के बाद बोरिस जॉन्सन ने अंतर्गत सुरक्षा और रक्षा विभाग को लेकर आक्रामक नीति अपनाने का ऐलान किया था| अंतर्गत सुरक्षा के लिए पुलिस दल की कमी पूरी करने पर लक्ष्य केंद्रीत करने का ऐलान करने के साथ ही देश में पहली बार ‘नैशनल पुलिसिंग बोर्ड’ का गठन करने का कदम उठाया गया था| इस बोर्ड की पहली बैठक बुधवार के दिन हुई| इस दौरान ब्रिटेन की गृहमंत्री प्रिती पटेल, ‘नैशनल क्राईम एजन्सी’ के संचालक जनरल लिन ओवेन्स समेत वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौजूद थे|

‘ब्रिटेन में अपराधिक मामलों का प्रमाण कम करने की जरूरत है| कुछ तादाद में यह कोशिश कामयाब हो रही है, फिर भी कई बातें गलत दिशा में हो रही है| हम सब मिलकर इस स्थिति से मार्ग निकाल सकते है और इसके लिए मजबूत पुलिस दल के लिए प्राथमिकता देनी होगी’, यह कहकर प्रधानमंत्री जॉन्सन ने अतिरिक्त २० हजार पुलिस भरती एवं तैनात करने की जानकारी दी| अगले तीन वर्षों में यह प्रक्रिया पूरी होगी और ब्रिटेन की सरकार इस तैनाती के लिए जरूरी आर्थिक प्रावधान करेगी, यह दावा भी प्रधानमंत्री जॉन्सन ने किया|

ब्रिटीश प्रधानमंत्री ने की हुई इस ऐलान की पृष्ठभूमि पर ब्रिटेन के सांसदों ने पाठशाला एवं नजदिकी इलाके में अतिरिक्त पुलिस तैनात करने की मांग रखी है|

रशिया के सायबर हमलें एवं अन्य खतरों का मुकाबला करने के लिए ब्रिटेन ने किया ‘सिक्स्थ डिवीजन’ का गठन

बोरिस जॉन्सन, पुलिस तैनात करने का निर्णय, प्रिती पटेल, प्रधानमंत्री, आर्थिक प्रावधान, ब्रिटेन, रशिया

लंदन – सायबर हमलों की बढती मात्रा एवं शत्रु देशों से ‘इन्फोर्मेशन ऍण्ड हायब्रिड वॉरफेअर’ का हो रहा इस्तेमाल ध्यान में रखकर ब्रिटीश सेना ने स्वतंत्र दल का गठन करने का ऐलान किया है| इस दल के लिए ‘सिक्स्थ डिवीजन’ यह नाम दिया गया है और इस दल में करीबन १४,५०० सैनिक तैनात होंगे| ब्रिटीश सेना ने किए इस ऐलान के पीछे रशिया ने शुरू किया ‘हायब्रिड वॉरफेअर’ प्रमुख कारण होने की बात कही जा रही है|

ब्रिटेन की सेना की ‘७७ ब्रिगेड डिसइन्फोर्मेशन युनिट’ और सेना के अन्य विभाग के सैनिक एवं विशेषज्ञों को एक करके नए ‘सिक्स्थ डिवीजन’ का गठन हो रहा है| लेफ्टनंट जनरल इवान जोन्स के खंदे पर नए ‘सिक्स्थ डिवीजन’ का जिम्मा सौपा गया है| युद्ध का स्वरूप लगातार बदल रहा है और ब्रिटीश सेना ने यह बदलाव जानकर एक सामर्थ्यशाली सेना के तौर पर तैयार रहना जरूरी है, इन शब्दों में जोन्स ने नए ‘सिक्स्थ डिवीजन’ के गठन के पीछे की भूमिका स्पष्ट की|

नया दल सायबर क्षेत्र के साथ ही ‘इलेक्ट्रोमैग्नेटिक वॉरफेअर’, ‘अनकन्व्हेंशनल वॉरफेअर’, ‘इन्फॉर्मेशन ऑपरेशन्स’ इस तरह की अलग अलग जिम्मेदारी संभालेगा, यह जानकारी सूत्रों ने दी| ब्रिटेन की गुप्तचर यंत्रणा ‘जीसीएचक्यू’ के साथ संयुक्त मुहीम का प्लैन किया जाएगा और इसमें सायबर हमलों का भी समावेश रहेगा, यह बताया जा रहा है|

English    मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info