Breaking News

ऑस्ट्रेलिया की सियासी व्यवस्था में हस्तक्षेप करने के लिए चीन से हो रही हरकतों की जांच शुरू

कैनबेरा/बीजिंग – चीन की शासक कम्युनिस्ट हुकूमत ने ऑस्ट्रेलिया के सियासी क्षेत्र में हो रही हरकतों की जांच करने के आदेश दिए गए है| ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने चीन के गुप्तचर ने दी जानकारी और हो रही हरकतें काफी चौकानेवाली और चिंताजनक होने का दावा किया है| पर, चीन ने यह दावा ठुकराया है और ऑस्ट्रेलिया से पनाह देने की मांग करनेवाला गुप्तचर ‘फ्रॉड’ होने का दावा भी किया है|

ऑस्ट्रेलिया, जांच, स्कॉट मॉरिसन, वैंग विल्यम, संघर्ष, चीन, निक झाओकुछ दिन पहले ही चीन सरकार और गुप्तचर यंत्रणा ऑस्ट्रेलिया समेत अन्य देशों में किस तरह से सियासी एवं अन्य क्षेत्रों में हस्तक्षेप कर रहे है, इसकी पोलखोल चीन के गुप्तचर ने की थी| वैंग ‘विल्यम’ लिकिआंग, नाम के इस गुप्तचर ने ऑस्ट्रेलिया के सामने पनाह देने की मांग रखी थी| इस गुप्तचर ने ऑस्ट्रेलिया की गुप्तचर यंत्रणा ‘ऑस्ट्रेलियन सिक्युरिटी इंटेलिजन्स ऑर्गनायझेशन’ के सामने चीन की हरकतों की पूरी जानकारी रही है, यह बात भी सामने आयी है|

इसी पृष्ठभूमि पर ऑस्ट्रेलिया के ‘नाईन टेलिव्हिजन’ने पेश किए एक कार्यक्रम में चीन के गुप्तचरों से ऑस्ट्रेलिया के सियासी दलों के सदस्यों को कैसे लालूच दिखाकर जाल में फंसाया जा रहा है, यह जानकारी देनेवाला वृत्त दिया गया है| इसमें कुछ महीने पहले हत्या की साजिश में मारे गए निक झाओ इस शासक लिबरल पार्टी के सदस्य का भी जिक्र किया गया है| ऑस्ट्रेलियन माध्यमों का यह दावा ऑस्ट्रेलिया के सियासी दायरे को झटका देनेवाला साबित हुआ है|

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने इस मुद्दे पर कडी प्रतिक्रिया देते समय प्राप्त जानकारी काफी चौकानेवाली होने की बात कही है| साथ ही उन्होंने इस विषय की जांच करने के आदेश दिए है, यह भी घोषित किया है| ऑस्ट्रेलिया की गुप्तचर यंत्रणा ‘ऑस्ट्रेलियन सिक्युरिटी इंटेलिजन्स ऑर्गनायझेशन’ ने चीन की साजिश की जांच शुरू की है और इस जांच से प्राप्त होनेवाली जानकारी संसद एवं जनता के सामने रखी जाएगी, यह भी प्रधानमंत्री मॉरिसन ने स्पष्ट किया है|

पिछले वर्ष से व्यापार, साउथ चायना सी और इंडो-पैसिफिक क्षेत्र समेत कई अलग अलग मुद्दों पर ऑस्ट्रेलिया और चीन के संबंधों में काफी तनाव बना है| ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने चीन के साथ संघर्ष करने की भूमिका खुलेआम अपनाई है और किसी भी स्थिति में चीन का दबाव या हस्तक्षेप बर्दाश्त नही किया जाएगा, यह इशारा भी उन्होंने दिया है| इस वजह से पिछले कुछ वर्षों में ऑस्ट्रेलिया में प्रभाव बढाने की कोशिश कर रही चीन की हुकूमत में काफी बेचैनी बनी है|

इसी पृष्ठभूमि पर, ऑस्ट्रेलिया की सियासी व्यवस्था पर पुरी तरह से कब्जा करने के लिए चीन सरकार घातक हरकतें कर रही है, यह गंभीर आरोप ऑस्ट्रेलियन गुप्तचर यंत्रणा के भूतपूर्व प्रमुख ने हाल ही में किया था| ऑस्ट्रेलियन सरकार की कोई भी व्यक्ती चीन की इस कुटील साजिश का लक्ष्य हो सकती है और इसका असर समझने के लिए कई दशकों का समय लगेगा, यह इशारा भी ‘ऑस्ट्रेलियन सिक्युरिटी इंटेलिजन्स ऑर्गनायझेशन’ के भूपतूर्व प्रमुख डंकन लुईस ने दिया है|

हिंदी     मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info