Breaking News

तैवान ने शुरू किया चीन के हमले को रोकने का युद्धाभ्यास

युद्धाभ्यास, रिहर्सल, कम्बाईन्ड् आर्म्स बटालियन, चीन का हमला, घुसपैठ, तैवान, चीन, अमरीका, TWW, Third World War

तैपेई – तैवान के मुद्दे पर अमरीका और चीन के संबंधों में काफी तनाव निर्माण हुआ है और ऐसे में तैवान ने चीन का हमला रोकने की ‘रिहर्सल’ समझे जा रहे युद्धाभ्यास की शुरूआत की है। तैवान की सेना के ‘५८४ ब्रिगेड़’ के हिस्से वाले ‘कम्बाईन्ड आर्म्स बटालियन के इस युद्धाभ्यास में पहली बार ‘हेलिकॉप्टर ड्रोन्स’ के परीक्षण की जानकारी सेना ने साझा की है। इस युद्धाभ्यास के दौरान चीन के दो गश्‍त विमानों ने तैवान की हवाई सीमा में घुसपैठ करने की जानकारी सामने आयी है।

युद्धाभ्यास, रिहर्सल, कम्बाईन्ड् आर्म्स बटालियन, चीन का हमला, घुसपैठ, तैवान, चीन, अमरीका, TWW, Third World War

बीते वर्ष से अमरीका ने तैवान के साथ लष्करी और राजनीतिक सहयोग में काफी मात्रा में बढ़ोतरी की है। अमरीका-तैवान के बढ़ते सहयोग के कारण चीन काफी बौखला गया है और अब उसने सीधे अमरिकी अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाने का इशारा दिया है। साथ ही चीन ने तैवान के खिलाफ ‘कॉग्निटिव वॉरफेअर’ का इस्तेमाल शुरू किया है, ऐसी रपट तैवानी अभ्यासगुट ने पेश की है। इस पृष्ठभूमि पर तैवान ने चीन का हमला रोकने की ‘रिहर्सल’ समझे जा रहे युद्धाभ्यास का आयोजन करना ध्यान आकर्षित करता है।

युद्धाभ्यास, रिहर्सल, कम्बाईन्ड् आर्म्स बटालियन, चीन का हमला, घुसपैठ, तैवान, चीन, अमरीका, TWW, Third World War

राजधानी तैपेई के दक्षिणी ओर स्थित ‘हुकोउ आर्मी बेस’ पर मंगलवार से इस युद्धाभ्यास की शुरूआत हुई। तीनों बलों के सैनिकों के समावेश वाली ‘कम्बाईन्ड आर्म्स बटालियन’ इस युद्धाभ्यास में शामिल हुई है। अलग अलग स्थिति में चीन के रक्षाबलों ने तैवान के हवाई अड्डों पर कब्जा करने की कोशिश करने पर यह कोशिश नाकाम करना ही इस युद्धाभ्यास का उद्देश्‍य होने की बात सेना ने कही है। इस युद्धाभ्यास में पहली बार ‘ड्रोन हेलिकॉप्टर’ का इस्तेमाल होने की जानकारी तैवान के रक्षा विभाग ने साझा की है। ‘तैवान की खाड़ी एवं नज़दिकी क्षेत्र में कुछ भी हुआ तो मातृभूमि की रक्षा करने के हमारे निर्धार पर इसका असर नहीं होगा’, इन शब्दों में तैवान के अधिकारी मेजर जनरल चेन चोंग-जी ने इस युद्धाभ्यास पर बयान किया।

युद्धाभ्यास, रिहर्सल, कम्बाईन्ड् आर्म्स बटालियन, चीन का हमला, घुसपैठ, तैवान, चीन, अमरीका, TWW, Third World War

तैवान की सेना यह युद्धाभ्यास कर रही थी तभी चीन ने अपनी घुसपैठ करने की कोशिश अभी बंद ना की है, यह बात भी स्पष्ट हुई है। मंगलवार की सुबह चीन के दो गश्‍त विमानों ने तैवान के ‘एअर डिफेन्स आयडेंटिफिकेशन ज़ोन’ में प्रवेश किया था, यह जानकारी रक्षा विभाग ने साझा की। इन विमानों में ‘इलेक्ट्रॉनिक वॉरफेअर’ की क्षमता वाले विमान का भी समावेश था।

 

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info