अमरीका के साथ यदि नया शीतयुद्ध करना पड़ा, तो रशिया तैयार है – रशियन प्रवक्ता का दावा

मॉस्को/वॉशिंग्टन – अमरीका के साथ अच्छे संबंध बनाए रखने के लिए रशिया ने हमेशा ही कोशिशें कीं हैं, लेकिन फिर एक बार यदि शीतयुद्ध करना पड़ा, तो रशिया उसके लिए तैयार होने का दावा रशियन राष्ट्राध्यक्ष के प्रवक्ता दिमित्रि पेस्कोव्ह ने किया। कुछ दिन पहले अमरीका के राष्ट्राध्यक्ष बायडेन ने रशिया के राष्ट्राध्यक्ष पुतिन का उल्लेख ‘हथियारा’ ऐसा करके कार्रवाई की चेतावनी दी थी। उसके बाद पुतिन ने अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष को प्रत्युत्तर देते समय ही, बायडेन के साथ ठेंठ ऑनलाइन चर्चा के लिए तैयार हैं, ऐसा कहा था। इस पृष्ठभूमि पर, राष्ट्राध्यक्ष पुतिन के प्रवक्ता ने शीतयुद्ध के संदर्भ में किया दावा गौरतलब साबित होता है।

अमरीका के राष्ट्राध्यक्ष ज्यो बायडेन ने सत्ता में आने के बाद रशिया के विरोध में आक्रामक भूमिका अपनाई है। पूर्व राष्टाध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प की भूमिका की आलोचना करके बायडेन ने यह डटकर कहा था कि वे रशिया के सामने घुटने नहीं टेकेंगे। पिछले दो महीनों में बायडेन ने रशिया के खिलाफ एक के बाद एक फैसले किए होकर, नॅव्हॅल्नी मामले को लेकर लगाए प्रतिबंध, युक्रेन को घोषित की नई रक्षासहायता, साइबर हमलों पर दी चेतावनी इनका उसमें समावेश है।

कुछ दिन पहले अमेरिकन यंत्रणा ने जारी की एक रिपोर्ट में, सन २०२० में हुए चुनावों में रशिया ने दखलअंदाजी की होने का दोषारोपण भी किया गया था। बायडेन की भूमिका पर रशिया ने लगातार नाराज़गी ज़ाहिर की होकर, ‘जैसे को तैसा’ जवाब दिया जाएगा, ऐसा भी बार-बार जताया है। लेकिन ऐसा होने के बावजूद भी रशिया ने अब तक अमरीका के खिलाफ बड़ा निर्णय नहीं किया था। लेकिन राष्ट्राध्यक्ष बायडेन ने रशियन राष्ट्राध्यक्ष के बारे में ऐसा उल्लेख करने के बाद हालात बदले होकर, रशिया ने भी अमरीका के खिलाफ आक्रामक भूमिका अपनाने की गतिविधियाँ शुरू कीं हैं।

अमरीका में नियुक्त अपने राजदूत को वापस बुलाने का फैसला और पुतिन ने बायडेन को लगाई फटकार यह उसीका भाग माना जाता है। अब रशियन राष्ट्राध्यक्ष के प्रवक्ता ने ठेंठ शीतयुद्ध के बारे में बयान करके, दो देशों के बीच का तनाव चरमसीमा तक पहुँचा होने के संकेत दिए हैं। ‘बायडेन ने राष्ट्राध्यक्ष पुतिन के बारे में किया बयान अनदेखा किया नहीं जा सकता। रशिया ने अमरीका के साथ अच्छे संबंध बनाए रखने के लिए कोशिशें की है। लेकिन उसी समय, इन संबंधों में यदि बहुत ही खराब स्थिति निर्माण हुई, तो उसका भी मुकाबला करने के लिए रशिया हमेशा ही तैयार है’, इन शब्दों में पेस्कोव्ह ने नये शीतयुद्ध की संभावना का एहसास करा दिया।

लेकिन नये शीतयुद्ध की संभावना की ओर गौर फरमाते समय ही, रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमिर पुतिन ने हमेशा ही यह बताया है कि वे अमरीका के साथ सहयोग बनाए रखने के लिए इच्छुक हैं, ऐसा भी राष्ट्राध्यक्ष के प्रवक्ता ने स्पष्ट किया। ‘चाहे कुछ भी हो, फिर भी अमरीका के खिलाफ ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने में तथा एक-दूसरे को ताने मारते रहने में कुछ भी फ़ायदा नहीं है। संबंध बरकरार रखना महत्वपूर्ण है’, ऐसा राष्ट्राध्यक्ष पुतिन ने कहा होने की बात पेस्कोव्ह ने स्पष्ट की।

English    मराठी 

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info