यूरोप पर प्रतिबंध लगाना चीन की बड़ी रणनीतिक भूल – अमरीका के पूर्व अधिकारी का दावा

Imposing sanctions

वॉशिंग्टन – चीन ने यूरोपिय महासंघ और अधिकारियों के खिलाफ लगाए प्रतिबंध चीन की काफी बड़ी रणनीतिक भूल साबित हुई हैं, ऐसा दावा अमरीका के पूर्व अधिकारी क्लेट विल्यम्स ने किया है। इन प्रतिबंधों की वजह से यूरोपियन संसद ने चीन के साथ निवेश के मुद्दे पर किया समझौता रद किया और अब करीबी दिनों में यह समझौता पुनर्जीवित होने की संभावना ना होने का बयान विल्यम्स ने किया है। विल्यम्स अमरीका के ‘नैशनल इकॉनॉमिक कौन्सिल’ के उप-संचालक एवं राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प के उप-सहायक के तौर पर कार्यरत थे।

‘चीन ने प्रतिबंध लगाने की कार्रवाई करने की वजह से यूरोपिय महासंघ और चीन का काफी अहम निवेश संबंधित समझौता खत्म हुआ है। अब यह समझौता जल्द पुनर्जीवित होने के आसार नहीं हैं। कामगारों का गुलामों की तरह इस्तेमाल करने जैसे कानूनी मुद्दे पर चीन को उचित जवाब देना संभव नहीं हुआ। उसने गुस्से से आगबबूला होकर काफी भड़कानेवाली और दायरे के बाहर की करवाई की। यह कार्रवाई ही चीन की बड़ी रणनीतिक भूल साबित होती है’, यह दावा विल्यम्स ने ‘सीएनबीसी’ को दिए साक्षात्कार के दौरान किया।

Read more: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/imposing-sanctions-on-europe-is-chinas-strategic-mistake-says-clete-willems/