डोन्बास समेत यूक्रेन के दो प्रांतों ने रशिया में शामिल होने का निर्णय किया

- रशिया ने यूक्रेन के चार प्रांतों में किए सार्वमत के नतीजों का किया ऐलान

रशिया में शामिल

मास्को – रशिया ने नियंत्रण पाए यूक्रेन के चार प्रांतों ने रशिया में शामिल होने का निर्णय किया है। डोन्बास क्षेत्र के लुहान्स्क और डोनेत्स्क और खेर्सन समेत झेपोरिझिआ में पिछले हफ्ते मतदान शुरू हुआ था। इसके नतीजे घोषित हुए हैं और ८५ प्रतिशत से अधिक मतदाताओं ने रशिया का हिस्सा होने के पक्ष मे वोट किया है, ऐसा रशियन यंत्रणाओं ने घोषित किया। इसके बाद रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमीर पुतिन ने चारों प्रांतों की जनता की सुरक्षा रशिया की ज़िम्मेदारी हैं और आनेवाले समय में इसके लिए प्राथमिकता दी जाएगी, ऐसी गवाही दी। पश्‍चिमी देशों ने सार्वकमत की प्रक्रिया को नकारा हैं और यूक्रेन अपने क्षेत्र की जनता की सुरक्षा का ध्यान रखेगा, ऐसा बयान यूक्रेन के राष्ट्राध्यक्ष वोलोदिमीर झेलेन्स्की ने किया है।

रशिया में शामिल

सात महीनें पहले यूक्रेन में सैन्य अभियान शुरू करते समय रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमीर पुतिन ने डोन्बास प्रांत के साथ यूक्रेन के अन्य हिस्सों में स्थित रशियन मुल के नागरिकों की सुरक्षा का मुद्दा उठाया था। यूक्रेन की हुकूमत रशियन भाषिक जनता पर अत्याचार कर रही हैं और उनकी सुरक्षा के लिए रशिया को सैन्य कार्रवाई का कदम उठाना पड़ा, ऐसा बयान पुतिन ने किया था। सात महीनों में रशिया ने डोन्बास के लुहान्स्क प्रांत पर पूरा कब्ज़ा किया हैं।इसके अलावा डोनेत्स्क समेत दक्षिण यूक्रेन के खेर्सन और झेपोरिझिआ प्रांत के ७० प्रतिशत से अधिक हिस्से पर रशिया ने नियंत्रण पाया हैं। यूक्रेन ने इन क्षेत्र पर फिर से कब्ज़ा पाने के लिए पिछले महीने से जवाबी हमलें करने का अभियान शुरू किया था। इसे ईशान्य यूक्रेन के खार्किव प्रांत में सफलता प्राप्त हो रही हैं, फिर भी अन्य प्रांतों में ज्यादा कुछ असर नहीं हुआ है।

रशिया में शामिल

इस पृष्ठभूमि पर रशिया ने राष्ट्राध्यक्ष पुतिन ने सार्वमत करने का ऐलान करके इसके नतीजों के अनुसार अगला कदम उठाया जाएगा, ऐसा कहा था। इसके बाद पिछले हफ्ते शीघ्रता से कड़ी सुरक्षा व्यवसथा में सार्वमत प्रक्रिया का आयोजन किया गया। इस प्रक्रिया को नाकाम करने के लिए यूक्रेन ने इस क्षेत्र में जारी हमलों की तीव्रता बढ़ाने की कोशिश की थी। लेकिन, इसे कामयाबी नहीं मिली। बुधवार को रशिया ने सार्वमत के नतीजे घोषित करके चारों प्रांतों ने रशिया में शामिल होने का निर्णय करने का ऐलान किया। खेर्सन प्रांत में ७८ प्रतिशत और डोनेत्स्क की कुल ९७ प्रतिशत जनता ने मतदान किया, ऐसा दावा रशिया ने किया। खेर्सन के ८७ प्रतिशत वोटर्स ने रशिया में शामिल होने का निर्णय दिया। लुहान्स्क और डोनेत्स्क समेत झेपोरिझिआ में ९० प्रतिशत से अधिक मतदाता ने रशिया का हिस्सा होने का निर्णय किया, यह जानकारी रशिया ने साझा की।

इसी बीच, यूक्रेन के राष्ट्राध्यक्ष झेलेन्स्की के साथ पश्‍चिमी देशों ने रशिया के सार्वमत पर तीव्र आलोचना की है। राष्ट्राध्यक्ष झेलेन्स्की ने जल्द ही रशिया के कब्ज़े से सभी क्षेत्र मुक्त करने का इशारा दिया। इसी बीच यूरोपिय महासंघ ने आगाह करते हुए नए प्रतिबंध लगाने की बात कही है।

English     मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info