Breaking News

सौदी और दोस्त राष्ट्रों ने येमन पर हमलों की तीव्रता बढ़ाई

सना – येमन के ‘हौदेदा’ बंदरगाह पर सौदी अरेबिया और अरब दोस्त राष्ट्रों ने बड़ा आक्रमण कर हौथी विद्रोहियों पर के हमलों की तीव्रता बढ़ाई है। वहीं सौदी के हमलों से येमन में शुरू मानवतावादी सहायता पर असर होगा, ऐसी चिंता मानवाधिकार संगठन जता रहे है।

सौदी अरेबियायेमन की हौथी विद्रोहियों द्वारा पिछले कई सप्ताहों से सौदी के सीमावर्ती इलाकों पर जोरदार रॉकेट तथा प्रक्षेपास्त्रों के हमले शुरू है। इनमें कुछ प्रक्षेपास्त्र सौदी की राजधानी रियाध तक पहुँचे थे। इसके अलावा हौथी विद्रोहियों ने एडन के खाड़ी में तैनात संयुक्त अरब अमिरात (युएई) और इजिप्त के विध्वंसकों की ओर भी रॉकेट हमले किए थे।

सौदी और अरब दोस्त राष्ट्रों ने हौथी विद्रोहियों के इन हमलों को जवाब देने के लिए येमन के सीमारेखा के करीब कार्रवाई शुरू की। साथही व्यापारी बंदरगाह हौदेदा इस शहर पर कब्जा करनेवाले हौथी विद्रोहियों को पिछे हटने के लिए २४ घंटों की अंतिम चेतावनी दी थी। लेकिन हौथी विद्रोहियोम ने हौदेदा शहर खाली करने से इन्कार किया। इस कारण मंगलवार से सौदी और दोस्त राष्ट्रों ने हवाई हमले शुरू किए।

सौदी और दोस्त राष्ट्रों ने पिछले कई घंटो से हौदेदा और आसपास के इलाकों पर हमलों की तीव्रता बढ़ाई है। सौदी और दोस्त राष्ट्रों के हमलों की खबरें येमन के मिडिया ने जारी की है। सौदी और दोस्त राष्ट्रों की सेना, नौसेना और वायुसेना एकही समय हौदेदा शहर पर हौथी विद्रोहियों के ठिकानों को निशाना बना रही है। इससे व्यापारी तरीके से महत्त्वपूर्ण माने जाने वाले हौदेदा पर कब्जा करने से हौथी विद्रोहियों की गर्दन दबोची जाएगी, ऐसा दावा सौदी की मिडिया कर रही है।

फिलहाल सौदी में आश्रय लिए हुए राष्ट्राध्यक्ष अब्द मन्सूर हादी, जिन्हें हौथी विद्रोहियों ने येमन की सत्ता से नीचे खिचा, उन्होंने हौदेदा पर शुरू हमलों का समर्थन किया। येमन में ईरान समर्थक हौथी विद्रोहियों के वर्चस्व को झटका देने के लिए हौदेदा पर कार्रवाई महत्त्वपूर्ण है, ऐसी जानकारी राष्ट्राध्यक्ष हादी ने दी। हौथी विद्रोहियों के खिलाफ राजनीतिक स्तर पर कोशिश करने के उपरांत सैनिकी कार्रवाई का विकल्प बाकी है, ऐसा दावा हादी ने किया।

लेकिन सौदी द्वारा हौदेदा पर शुरू हमलों पर मानवाधिकार संगठन और ईरान कड़ी अलोचना कर रहा है। सौदी और दोस्त राष्ट्रों के कार्रवाई से हौदेदा बंदरगाह से येमनी जनता के लिए भेजा गए मानवतावादी सहाय फंस सकता है, ऐसी चिंता मानवाधिकार संगठन जता रहे है।

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info