Breaking News

होर्मूझ की नाकाबंदी के लिए ईरान की नौसेना का भव्य युद्धाभ्यास – अमेरीकी अधिकारी का आरोप

वॉशिंग्टन – अगले ४८ घंटो में ईरान की नौसेना के १०० से अधिक नौकाए युद्धाभ्यास में शामिल होंगी। पर्शियन खाडी में होने वाला ये अब तक का सबसे बड़ा युद्धाभ्यास होगा। इन नौकाओं के साथ ईरान ‘स्वार्म टॅक्टिक्स’ का इस्तेमाल करते हुए होर्मूझ की खाड़ी बंद करने का अभ्यास करने वाला है। अमेरीका से बढ़ते तनाव के पृष्ठभूमी पर ईरान ने इस युद्धाभ्यास का आयोजन कर अमेरीका साथही अमेरीका के दोस्त राष्ट्रों को चेतावनी दी है।

पर्शियन तथा होर्मूझ की खाड़ी में पिछले कई दिनों से ईरान के युद्धाभ्यासों की संख्या बढ़ी है। ईरान के इस युद्धाभ्यास में गश्ती जहाज और गनबोट्स के युद्धाभ्यास भी शामिल है। अमेरीकी अधिकारी ने दी जानकारी के अनुसार, आने वाले दो दिनों में ईरान पर्शियन खाड़ी में १०० से अधिक नौकाओं का काफिला भेजने वाला है। ईरान के इस युद्धाभ्यास को ‘स्वार्म ड्रिल’ ऐसा कहा जाता है और हर वर्ष अक्तूबर – नवंबर के महीनों में ईरान इस युद्धाभ्यास का आयोजन करता है।

लेकिन अमेरीकी अधिकारीयों ने दी जानकारी के अनुसार इस वर्ष ईरान ने काफी जल्दी ‘स्वार्म ड्रिल’ का आयोजन किया है। साथही इस युद्धाभ्यास में ईरान के जलद गनबोट्स और गश्तीनौका होर्मूझ को बंद करने का सराव करेंगे, ऐसा इन अधिकारीयों ने कहा। ईरान की सरकार या सेना ने इस पर कुछ कहने से इन्कार किया है। लेकिन पिछले कुछ दिनों से ईरान के नेता तथा सैनिकी अधिकारी होर्मूझ की खाड़ी बंद करने की धमकी दे रहे है।

ईरान के राष्ट्राध्यक्ष हसन रोहानी ने कुछ दिनों पहले धमकाते हुए, ईरान से युद्ध अमेरीका के लिए सभी युद्धों की जननी साबित होगी, ऐसे कहा था। इसके बाद ईरान के रिव्होल्युशनरी गार्ड्स के अधिकारीयों ने राष्ट्राध्यक्ष रोहानी के आदेशों पर होर्मूझ की खाड़ी बंद करने की चेतावनी दी थी। दुनिया के कूल इंधन निर्यात के २० प्रतिशत निर्यात होर्मूझ से की जाती है। ये समुद्री मार्ग बंद होता है तो इसका थेट नतीजा अंतर्रराष्ट्रीय बाजार में तेलों की किंमतों पर होगा।

दौरान, इससे पहले ईरान के जलद गश्तीनौका तथा गनबोट्स ने पर्शियन खाड़ी में अमेरीका की विमान वाहक युद्धपौत और विध्वंसकों की ओर खतरनाक तरीके से पिछा करते हुए हमले के लिए उकसाने की घटना घटी थी। इस पृष्ठभूमी पर ईरान ने पर्शियन खाडी में आयोजित किए इस युद्धाभ्यास की ओर गंभीरता से देखा जा रहा है।

ईरान के युद्धाभ्यास पर अमेरीका की कडी नजर

‘ईरान ने पिछले कुछ सप्ताह से अरबी समुद्र, होर्मूझ की खाड़ी और ओमान की खाड़ी में आयोजित किए युद्धाभ्यासों की संख्या बडी है। ईरान के हर एक युद्धाभ्यासों पर अमेरीका की कड़ी नजर रखे है। अमेरीका अपने दोस्त राष्ट्रों के सहयोग से समुद्री यातायात की स्वतंत्रता कायम रखेगा तथा अंतर्रराष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र में व्यापारी यातायात की सुरक्षा करेगा’, ऐसी घोषणा अमेरीका के सेंट्रल कमांड के प्रवक्ता कॅप्टन विल्यम अर्बन ने की।

अमेरीकी अधिकारीयों ने जानकारी दी है कि, पर्शियन खाड़ी से होने वाली तेल की यातायात को ईरान से खतरा नहीं है। लेकिन ईरान ने आयोजित किए युद्धाभ्यास और पिछले कई दिनों से ईरान द्वारा दी जा रहीं धमकीयों की पृष्ठभूमी पर अमेरीका के ‘सेंट्रल कमांड’ तथा पर्शियन खाड़ी में तैनात अमेरीका का पाचवा नौका-समुदाय सभी संभावनों का सामना करने के लिए सज्ज है, ऐसा कॅप्टन अर्बन ने कहा।

पिछले सप्ताह अमेरीका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने ईरान को धमकाया था। ईरान अमेरीका को धमकाने की भूल ना करे, क्योंकी ईरान ऐसा करता है, तो इतिहास में कभी किसी ने अनूभुती नहीं की होगी, ऐसे भीषण नतीजे ईरान को भुगतने होंगे, ऐसी चेतावनी राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने दी थी।

 
English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info