Breaking News

‘आयएनएफ’ से अमरीका की वापसी का ब्रिटन से समर्थन

न्यूयॉर्क – ‘रशिया समेत इंटरमीडिएट-रेंज न्यूक्लिअर फोर्सेस’ (आयएनएफ) इस एटमी समझौते से पिछे हटते हुए अमरीका ने रशिया को सही संदेश दिया’, ऐसा कहते हुए ब्रिटन के रक्षा मंत्री गॅविन विल्यमसन ने अमरीका के फैसला का समर्थन किया। इस समझौते को बारबार लॉंघकर रशिया ने अमरीका का अवमान किया, ऐसी तीखी आलोचना ब्रिटन के रक्षा मंत्री ने की।

अमरीका ये ब्रिटन का निकटतम और काफी पुराना सहयोगी देश है जो रशिया के खिलाफ लिए गए इस फैसले पर अमरीका के पिछे खडा होगा’, ऐसा विल्यमसन ने कहा। ‘अमरीका और रशिया में हुआ आपसी समझौता जारी होता तो अच्छाही होता। लेकिन इस समझौते का अनादर करने वाले रशिया को स्पष्ट संदेशा देने के लिए इससे बाहर निकलने की आवश्यकता थी’, ऐसा ब्रिटन के रक्षा मंत्री ने कहा।

अमरीका की यात्रा पर गए विल्यमसन ने अमरीका के वापसी के लिए रशिया को जिम्मेदार ठहराया। ‘कोई भी द्वीपक्षीय समझौता निभाने के लिए दोनों गुटों को संबंधित नियमों का पालन करना जरूरी है। लेकिन यहॉं अमरीका ही ‘आयएनएफ’ के नियमों का पालन कर रही थी, वहीं रशिया ने इसका उल्लंघन किया. इससे ये समझौता निभाना है, तो फिर रशिया को अपनी नीति में सुधार करना होगा’, ऐसा सुझाव ब्रिटन के रक्षा मंत्री ने दिया।

अमरीका के राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने ‘आयएनएफ’ के बारे में लिए फैसले का सत्ताधारी रिपब्लिकन पार्टी के कुछ सिनेटर्स ने स्वागत किया। रशिया के आक्रामक गतिविधियों के चलते समय रहते चेतावनी देने के लिए राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने योग्य फैसला लिया, ऐसा सिनेटर टॉम कॉटन ने कहा है। लेकिन राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प के विरोधक उनके फैसले पर आलोचना कर रहे है।

‘आयएनएफ’ मामले में फ्रान्स-जर्मनी रशिया की ओर

बर्लिन/पॅरिस – फ्रान्स और जर्मनी ने अमरीकी राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा ‘आयएनएफ’ के बारे में लिए गए फैसले पर चेतावनी दी है। रशिया के साथ ‘आयएनएफ’ समझौता इस यूरोप की सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण था, ऐसा दावा फ्रान्स के राष्ट्राध्यक्ष ‘इमॅन्यूअल मॅक्रॉन’ ने किया। वहीं इस समझौते से पिछे हटनेवाली अमरीका इसके आगे के नतीजों के लिए तैयार रहे, ऐसी चेतावनी जर्मनी के विदेश मंत्री ने दी।

अमरीका और रशिया में ‘आयएनएफ’ ये ऐतिहासिक समझौता एटम बम के परीक्षण पर बंदी डालनेवाला था, साथही इस बारे में यूरोपीय देशों की सुरक्षा को भी उतनाही अहमत था, ऐसा फ्रान्स और जर्मनी ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा है। यूरोप की सुरक्षा के लिए ‘आयएनएफ’ यह महत्त्वपूर्ण स्तंभ था, ऐसा कहते हुए अमरीका के पिछे हटने से यूरोपीय देशों की सुरक्षा खतरे में आ सकती है, ऐसे संकेत फ्रान्स के राष्ट्राध्यक्ष मॅक्रॉनन ने दिए।

जर्मनी के विदेश मंत्री ‘हैको मास’ ने रशिया समेत इस समझौते से पिछे हटनेवाला अमरीका अपने फैसले के परीणामों के लिए तैयार रहे, ऐसा धमकाया है।

 

English   मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info