Breaking News

‘ब्रेक्झिट’ को ठुकराकर दूसरा जनमत लिया तो ब्रिटन में भी फ्रान्स जैसी हिंसा भडकेगी

लंडन, दि. १० (वृत्तसंस्था) – ब्रिटन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे और यूरोपीय महासंघ में हुए ‘ब्रेक्झिट’ समझौते पर संसद में होनेवाले चुनाव के लिए कुछ ही घंटों का अवशी शेष है, ऐसे में उस पर चल रहा संघर्ष और भी तीव्र होने के संकेत मिल रहे है। ब्रिटन के भूतपूर्व मंत्री और सत्ताधारी पार्टी के वरीष्ठ नेता इयान डंकन स्मिथ ने, ब्रेक्झिट को ठूकरा कर फिर से जनमत का विकल्प सामने आया तो ब्रिटन में फ्रान्स जैसे दंगे भडकेंगे, ऐसी कडी चेतावनी दी। प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने भी इस मसले पर आक्रामक नीति अपनाते हुए खुदने रखे समझौते के बारे में ब्रिटन के सामने अन्य कोई विकल्प नहीं ऐसा खबरदार किया है।

मंगलवार ११ दिसंबर ब्रिटन की संसद में ‘ब्रेक्झिट’ के समझौते पर चुनाव होनेवाले है। प्रधानमंत्री मे की ओर से तैयार किया गया और महासंघ ने मंजूर किया समझौता संसद में नाकारा जाएगा, ऐसे संकेत पिछले सप्ताह मिल थे। सत्ताधारी पार्टी के करीब १०० से अधिक सांसदों ने इसका विरोध करते हुए विरोधी पार्टीयों ने भी समझौते के खिलाफ वोट देने के संकेत दिए है। समझौता बचाने के लिए प्रधानमंत्री मे द्वारा कोशिशे जारी है, वहीं यूरोपीय न्यायालय के नए फैसले से ब्रिटिश सरकार को बडा झटका दिया।

इससे पहले ‘ब्रेक्झिट’ के बारे में हुआ फैसला ब्रिटिश सरकार बदल सकती है, ऐसा फैसला यूरोपीयन कोर्ट ऑफ जस्टिस ने सोमवार को दिया है। इस फैसले से हमारे समझौते के अलावा विकल्प नहीं ऐसा कहनेवाली मे सरकार का पक्ष लूला पडा है, जिस समझौते पर विरोध करनेवालों का आवाज और भी अधिक तेज हुआ है। संसद में वोटींग के लिए २४ घंटे बचे है, ऐसे में यूरोपीयन कोर्ट से आया पैसला महासंघ के लिए झटका है, ऐसा माना जाता है।

इस पृष्ठभूमी पर ‘ब्रेक्झिट’ के समर्थक और वरीष्ठ नेता इयान डंकन स्मिथ ने ब्रिटन में फ्रान्स जैसा हिंसाचार भडक उठेगा, ऐसा खबरदार किया है। ‘ब्रेक्झिट’ ठूकराकर फिर एक बार जनता से मत जानने के लिए ये कोशिश जारी है। ऐसा होता है तो इससे पहले ब्रेक्झिट के लिए चूनाव करनेवाले बडे वर्ग में दगाबाजी की भावना तैयार होगी और ये गुस्साया वर्ग कोई भी प्रकार का कदम उठा सकता है। फ्रान्स में चल रहीं घटनाए देखी जाए तो ब्रिटन भी इससे दूर नहीं है, ये ध्यान में रखना चाहिए’, ऐसी चेतावनी स्मिथ ने दी।

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info