Breaking News

दुनिया में अब भी पहले विश्वयुद्ध के पूर्व के समय जैसा संघर्ष शुरु है – ब्रिटन के सेनाप्रमुख की चेतावनी

लंडन – ‘दुनिया में हर वक्त   चल रहा संघर्ष पहले विश्‍वयुद्ध के पूर्व के समय की याद दिला देता है| तब भी महासत्ता बनने की स्पर्धा से पहला विश्‍वयुद्ध भडक गया था|’ ऐसी चेतावनी ब्रिटन के सेनाप्रमुख जनरल सर निक कार्टर ने दी| साथ ही रशिया, चीन, ईरान और ‘आयएस’ द्वारा अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा को सबसे बडा धोखा है| ब्रिटन को अपनी शांतीसमय की मानसिकता छोडते हुए जंग की तैय्यारी करनी चाहिए, ऐसा जनरल कार्टर ने कहा है| ‘ब्रेक्झिट’ के मसले पर ब्रिटन में कडा राजकीय संघर्ष भड गया है | इस पृष्ठभूमी पर सेनाप्रमुख कार्टर का बयान, ब्रिटन को इस समय में अंतर्गत संघर्ष और विसंवाद नही चलेगा, ऐसा संदेश दे रहा है|

ब्रिटन की सुरक्षा के सामने बडी चुनौतियां है, इसकी याद जनरल कार्टर ने दिलायी| यह धोखा बढ रहा है और ब्रिटन उसे अनदेखा करके नही रह सकता, ऐसे शब्दों  में सेनाप्रमुख ने ब्रिटन की नेताओं को आवाहन किया| लंडन में आयोजित सेना के एक कार्यक्रम में जनरल कार्टर ने ब्रिटन तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होनेवाले  खतरों का जिक्र किया| यह खतरे टालने के लिए ब्रिटन को अतिप्रगत और उन्नत तकनीक तथा हथियारों की जरुरत है, ऐसा कार्टर ने कहा|

‘रशिया, चीन और ईरान महाशक्ती बनने के लिए बल का प्रदर्शन कर रहे है| उनकी सैनिकी गतिविधियां ब्रिटन की सुरक्षा, स्थिरता और समृद्धी के लिए खतरा बन रही है| पर सिर्फ इन्ही देशों से ब्रिटन को खतरा है, ऐसी बात नही है| ‘आयएस’ और यूरोप में शरणार्थियों के झुंड को घूसाने के लिए प्रयास करनेवाले गुट भी ब्रिटन तथा यूरोप की सुरक्षा के लिए उतने ही खतरनाक है|’ ऐसा दावा सेनाप्रमुख ने किया|

साथ ही अंतरराष्ट्रीय स्थिती अनिश्‍चितता के नजदीक जा रही है, ऐसी चिंता भी उन्होंने जतायी| ‘जागतिक स्तर पर अस्थिरता और हमेशा बदलनेवाली स्थिती की वजह से अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा मसला राजनीतिक और सामरिक दृष्टी से अनिश्‍चित बना हुआ है| इस वजह से ब्रिटन की सुरक्षा के लिए बने खतरे भी अलग हो गये है और उनकी तीव्रता बढ गयी है|’ इस तरफ जनरल कार्टर ने ध्यान खींचा| १९४५ के बाद लागू हुए जागतिक व्यवस्था की वजह से दुनिया में स्थैर्य स्थापित हुआ था| पर शरणार्थियों की झुंड की वजह से यह व्यवस्था गिरने की स्थिती में है, ऐसी चेतावनी उन्हों ने दी|

आनेवाले खतरों के लिए ब्रिटन को सैनिकी सज्जता रखनी ही होगी| साथ ही ब्रिटीश जनता को इतिहास तथा वर्तमान के स्थिती से अवगत कराना होगा, ऐसा जनरल कार्टर ने कहा| पहला विश्‍वयुद्ध किस वजह से हुआ, तब ब्रिटन के प्रधानमंत्री कौन थे, ब्रिटन ने किस के साथ जंग की, इस बारे में कोई भी जानकारी ब्रिटन के युवा पिढी को नही इस बारे में जनरल कार्टर ने खेद जताया|

मराठी English  

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:
https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info