Breaking News

अमरिकी ईंधन उत्पादन में रिकार्ड-तोड बढोतरी – अगले वर्ष तक प्रति दिन १.३० करोड बैरल्स का उत्पाद होने का अंदाजा

वॉशिंगटन – अमरिका में ईंधन उत्पादन रिकार्ड-तोड स्तर पर पहुंचा है और पिछले हफ्ते में हर दिन १.१९ करोड बैरल्स ईंधन उत्पाद का मुकाम दर्ज हुआ| पिछले चार दशकों में अमरिका में हो रहे ईंधन उत्पादन का यह सबसे अधिक प्रमाण है और अगले वर्ष अमरिका में हर दिन १.३० बैरल्स ईंधन उत्पादन होने का अंदाजा है| इस वजह से ईंधन की निर्यात पर निर्भर रशिया और ईरान जैसे देशों की अर्थव्यवस्था को बडा झटका प्राप्त होगा और इससे अमरिका को बडी तादात में सामरिक और राजनीतिक लाभ हो सकेगा|

अमरिका ने पिछले दशक से ‘शेल तकनीक’ का इस्तेमाल करके बडी मात्रा में ईंधन और नैसर्गिक वायु का उत्पादन शुरू किया था| वर्ष २०१४ के बाद ईंधन क्षेत्र में हुई गिरावट की पृष्ठभुमि पर भी अमरिका ने ईंधन उत्पादन में कटौती नही की है, बल्कि ईंधन उत्पादन कर रहे विश्‍व के शीर्ष देशों की सुचि में स्थान प्राप्त किया है| वर्ष २०१५ में अमरिका के उस समय के प्रशासन ने ईंधन की निर्यात शुरू करने का निर्णय किया था| यह निर्णय अमरिकी ईंधन क्षेत्र के लिए लाभ देनेवाला साबित हुआ है और यह क्षेत्र तेजी में लाने के लिए यह घटक निर्णायक साबित हुआ है, यह माना जाता है|

राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प इन्होंने पद संभालने के बाद ईंधन क्षेत्र पर लगाए प्रतिबंध हटाने का निर्णय किया था| उसके बाद ट्रम्प इन्होंने और भी यह भूमिका बरकरार रखकर रशिया और ‘ओपेक’ के सदस्य देशों को शह देने के लिए आक्रामक कदम उठाने की शुरूआत की थी| इसके लिए चीन के अलावा प्रमुख एशियाई देश और युरोपीय देशों को अमरिका ने बडी मात्रा में ईंधन का सप्लाई करना शुरू किया था| ईंधन निर्यात की गति बढने से इस अमरिकी क्षेत्र में चैतन्य निर्माण हुआ है और अमरिकी ईंधन कंपनीयों ने ईंधन उत्पादन के लिए बडी मात्रा में निवेश किया है|

इसका असर ईंधन उत्पादन पर हुआ है और पिछले वर्ष से अमरिका का ईंधन उत्पादन नया नया रिकार्ड दर्ज करता दिखाई दे रहा है| वर्ष २०१८ की शुरूआत में अमरिका में प्रति दिन १.९ करोड बैरल्स ईंधन उत्पादन हो रहा था| यही प्रमाण अब १.१९ करोड बैरल्स तक बढ गया है| केवल एक साल में अमरिकी ईंधन उत्पादन में १० लाख बैरल्स की बढोतरी हुई है| यह बढोतरी अमरिकी ईंधन क्षेत्र आगे के समय में और भी उंची उडान भरने के संकेत देती है, यह दावा देश का ऊर्जा विभाग कर रहा है|

वर्ष २०२० में अमरिका का ईंधन उत्पादन प्रति दिन १.३० करोड बैरल्स तक बढेगा और साथ ही अमरिका विश्‍व में सबसे अधिक ईंधन उत्पादन करने वाला देश साबित होगा, यह अंदाजा भी अमरिका के ऊर्जा विभाग ने व्यक्त किया है| कच्चे तेल के साथ ही नैसर्गिक वायु खनन क्षेत्र में भी अमरिका ने बडी छलांग लगाई है| वर्ष २०१८ के दौरान अमरिका में हर दिन ८२ अरब घन फूट नैसर्गिक ईंधन वायू का खनन हो रहा ता| वर्ष २०२० तक यही प्रमाण हर दिन ९२.२ अरब घन फूट तक बढेगा, यह दावा अमरिकी ऊर्जा विभाग ने किया है|

अमरिका से ईंधन उत्पादन में की जा रही यह बढोतरी ईंधन निर्यातदार देशों की ‘ओपेक’ संगठन और मित्र देशों के लिए नई चुनौती साबित हो रही है| ईंधन के दामों में हुई गिरावट रोक कर ईंधन के दाम बढाने के लिए ‘ओपेक’ और रशिया ने एक होकर जनवरी २०१९ से फिर से ईंदन उत्पादन में कटौती करने का निर्णय किया था| लेकिन अमरिका ने ईंधन उत्पादन बढाने से इन देशों को उम्मीद के नुसार लाभ प्राप्त नही हो सका है, बल्कि इनके सामने बना आर्थिक संकट और भी जटिल होने के संकेत प्राप्त हो रहे है|

अमरिका ने ईंधन उत्पादन में की हुई यह बढोतरी और युरोप एवं अन्य देशों को हो रही निर्यात बढाना, यह ईंधन क्षेत्र के व्यापार युद्ध का हिस्सा होने का दावा भी तज्ञ और विश्‍लेषक कर रहे है|

English
इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info