Breaking News

तैवान के ‘मिराज’ छह मिनिटों में चीन के विमान नष्ट करेंगे – तैवानी लष्कर की चेतावनी

तैपेई – चीन के किसी भी आक्रामकता को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैवान तैयार है| तैवान के वायु सेना में तैनात मिराज २००० विमान छठवें मिनट पर चीन के घुसपैठी विमानों को लक्ष्य कर सकते है, यह चेतावनी तैवान के लष्कर ने दी है| इस वर्ष के अंत तक चीन का लष्कर तैवान का कब्जा करेगा, ऐसी धमकियां चीन से दी जा रही थी| इस पृष्ठभूमि पर तैवान ने भी चीन के विरोध में अपनी तैयारी होने की बात डटकर रखी है|

चीन के राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंग ने अपने रक्षा दल को तैवान का कब्ज़ा लेने के लिए तैयार रहने के आदेश दिए हैं| इस पृष्ठभूमि पर तैवान के लष्कर से चीन को प्रत्युत्तर देने की चेतावनी दी जा रही है|

२ दिनों पहले तैवान के रक्षा मंत्रालय ने अपने लड़ाकू विमानों की सज्जता की घोषणा की है| तैवान के मिराज २००० लड़ाकू विमान ६ मिनटों में उड़ान भरके चीन के घुसपैठी विमानों को लक्ष्य कर सकते है, ऐसी चेतावनी तैवान के लष्कर ने दी है| तथा तैवान की वायु सेना २४ घंटे हवाई कार्रवाई के लिए तैयार होने की बात घोषित की है| अपने लड़ाकू विमानों की क्षमता दिखाने के लिए तैवान के लष्कर ने सिंचू हवाईअड्डे पर अंतरराष्ट्रीय माध्यमों को आमंत्रित किया था| उस समय तैवान के वायुसेना के बेड़े में तैनात मिराज विमानों ने अपने हवाई कुशलता का प्रदर्शन किया|

तैवान के पास फ्रान्स बनावट के मिराज तथा अमरिकन बनावट के एफ-१६ लड़ाकू विमान है| अपनी वायु सेना की क्षमता बढ़ाने के लिए तैवान ने अमरिका के साथ एफ-३५ लड़ाकू विमानों की खरीदारी के बारे में चर्चा की है| पर चीन के विरोध की वजह से यह सहयोग रुका है और तैवान ने एफ-१६ विमान का आधुनिकरण शुरू किया है|

तैवान की वायुसेना लड़ाकू विमानों की क्षमता अंतरराष्ट्रीय माध्यमों के सामने उजागर करते समय तैवान के लष्कर ने भी जमीन से हवा में हमला करने की क्षमता का परीक्षण किया है| स्वदेशी बनावट के ‘स्काय-बो ३’ मिसाइल विमान भेदी होने का दावा किया जा रहा है| तैवान के राष्ट्राध्यक्षा त्साई इंग वेन इस मिसाइल के परीक्षण में उपस्थित थी|

इस दौरान तैवान यह अपना सार्वभौम भूभाग होने का दावा करके चीन ने लष्करी सामर्थ्य के जोर पर तैवान का कब्जा प्राप्त करने के लिए गतिविधियां शुरू की है| चीन के नेतृत्व ने अपने लष्कर को वैसे आदेश दिए हैं और तैवान को सहयोग करनेवाले अमरिका को भी धमकाया है| तथा तैवान ने इस वर्ष के अंत तक ‘वन चाइना पॉलिसी’ मंजूर नहीं की तो तैवान को गंभीर परिणामों का सामना करना होगा, ऐसी धमकी चीनने दी थी| पर चीन की इन धमकियों की ओर ज्यादा ध्यान ना देकर तैवान ने चीन विरोधी गतिविधियां शुरू रखी है|

 चीनी लड़ाकू विमानों के तैवान के पास मंडराए

चीन के सुखोई-३० लड़ाकू विमान और शांक्सी-वाय-८ यह गश्ती विमान तैवान के हवाई सीमा के पास मंडराए है| तैवान और फिलिपाईन्स के हवाई क्षेत्र से चीन के विमानों ने उडान भरी और हमारी सार्वभौमत्व को चुनौती दी है, यह आरोप तैवान के रक्षा मंत्रालय ने किया है| चीन के इन विमानों को भगाने के लिए तैवान ने अपने लड़ाकू विमान भी रवाना किए|

चीन की आक्रामकता को तैवान ने भी प्रतिउत्तर देना शुरू किया है| कुछ दिनों पहले तैवान के हवाई सीमा के निकट चीन के लड़ाकू और गश्ती विमानों ने गश्त की थी| चीन के ‘पीपल्स लिबरेशन आर्मी’ के लड़ाकू विमान लगभग २ घंटे तैवान के हवाई सीमा के पास मंडरा रहे थे| चीन के इस भड़काऊ कार्रवाई को प्रत्युत्तर देने के लिए तैवान ने अपने लड़ाकू विमान रवाना किए थे|

English हिंदी

 

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info/status/1088877121622212608
https://www.facebook.com/WW3Info