Breaking News

ब्रेक्जिट की वजह से ब्रिटेन के रास्तों पर दंगे होंगे – युरोपीय महासंघ के गुप्तचर अधिकारी की चेतावनी

ब्रुसेल्स/लंडन – ‘ब्रेक्जिट’ के मुद्दे पर ब्रिटेन के राजनीतिक सर्कल में बनी अनिश्‍चिता कायम रहते हुए युरोपीय महासंघ ने ‘ब्रेक्जिट’ के बाद ब्रिटेन के रास्तों पर दंगे शुरू होंगे, यह चौकानेवाला इशारा दिया है| महासंघ के गुप्तचर अधिकारीयों ने इस संबंधी अहवाल तैयार किया है और इसमें ‘ब्रेक्जिट’ के बाद सिर्फ डेढ वर्ष में आजाद स्कॉटलैंड और आयर्लंड के विलय पर सार्वमत होने का अंदाजा व्यक्त किया है| ब्रिटेन के प्रसारमाध्यमों ने इस संंबधी वृत्त प्रसिद्ध किया है और महासंघ ने इस पर कोई भी प्रतिक्रिया दर्ज नही की है|

मंगलवार के दिन ब्रिटेन के संसद में ‘ब्रेक्जिट’ से जुडे प्रस्ताव पर अंतिम मतदान होना है| प्रधानमंत्री थेरेसा मे इन्होंने उनके ओर से रखा जाने वाला ‘प्लैन बी’ मंजूर नही हुआ तो ‘नो डील ब्रेक्जिट’ का विकल्प स्वीकारने के लिए विवश होंगे, यह चेतावनी भी दी है| लेकिन विपक्षी और सत्तारूढ पक्ष के कुछ सदस्यों ने ‘नो डील ब्रेक्जिट’ के अलावा ‘ब्रेक्जिट’ की प्रक्रिया आगे धकलने के या दुसरा सार्वमत लेने का विकल्प आगे किया है| वही, संसद में तिसरे गुट ने ब्रिटेन महासंघ में रखने के लिए प्रस्ताव आगे किया है|

ब्रिटेन में शुरू इन राजनीतिक गडबडी की पृष्ठभुमि पर युरोपीय महासंघ ने तैयार किया अहवाल खलबली मचानेवाला साबित हुआ है| महासंघ के सदस्य देशों के गुप्तचर यंत्रणा ने ‘ब्रेक्जिट’ के संबंधी अहवाल तैयार करने की बात कही जा रही है| इसमें ‘ब्रेक्जिट’ के विषय में कोई भी विकल्प स्वीकारा गया तो भी इससे ब्रिटेन अस्थिर होने का खतरा है, यह चेतावनी दी गई है|

‘ब्रेक्जिट’ की पृष्ठभुमि पर आनेवाले समय की परिस्थिति का अंदाजा लेने के लिए कई घटकों का विचार किया गया है| ब्रिटेन ने कोई भी विकल्प चुना तो भी ब्रेक्जिट के बाद हिंसा होगी ही, यह अंदाजा इससे सामने आ रहा है| वर्तमान का करार मंजूर हुआ तो ब्रिटेन में दक्षिणी गुट आक्रामक होकर रास्तों पर उतरेंगे| यदि ‘नो डिल’ का विकल्प स्वीकार हुआ तो ब्रिटेन के सभी गुट संतप्त होने की संभावना है| फिर से सार्वमत होने की आशंका दिखाई दी तो भी कुछ गुट भडक उठने का अंदाजा है, इन शब्दों में महासंघ दंगे की आशंका जता रहा है और तभी ब्रिटीश सरकार ने ‘ब्रेक्जिट’ के लिए आपातकाल घोषित करने के संकेत दिए है| इसके लिए ब्रिटेन के कुछ हिस्सों में अलग अलग यंत्रणाओं से रिहर्सल की गई है, ऐसी जानकारी सामने आ रही है|

ब्रिटेन के रक्षा बलों को इसके पहले ही ‘हाय अलर्ट’ पर रखा गया है और अतिरिक्त तैनाती के संकेत दिए गए है| पिछले महीने में ही, ३,५०० से भी अधिक सैनिक ‘स्टैंडबाय’ पर और औषधि एवं अत्यावश्यकता के लिए नौका का वापर इन जैसी आपातकाल के दौरान इस्तेमाल हो रही प्रावधानों का समावेश है ऐसे ‘नो ब्रेक्जिट डूम्सडे प्लैन’ को ब्रिटेन के मंत्रिमंडल ने मंजुरी दी थी|

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info