Breaking News

ईरान की दिशा में उंगली दिखा रहे युरोप में ही आतंकी गुट सक्रिय – युरोपीय महासंघ पर इरानी विदेश मंत्रालय की आलोचना

तेहरान/ब्रुसेल्स – परमाणु समझौते से अमरिका पीछे हटने के बाद ईरान के साथ सहयोग कर रहे युरोपीय महासंघ ईरान के बीच कडे मतभेद निर्माण हुए है। मिसाइल निर्माण एवं आतंकी हमलों का षडयंत्र करने के आरोप करके युरोपीय महासंघ ने ईरान पर प्रतिबंध लगाए है। इस पर ईराने ने यह आरोप कर रहे युरोप में ही आतंकी और गुनाहगारों के गुट सक्रिय होने का जवाबी हमला किया है। साथ ही अमरिकी प्रतिबंधों को नजरअंदाज करने के लिए फ्रान्स, जर्मनी एवं ब्रिटेन ने विकल्प के तौर सामने रखी व्यवस्था भी ईरान ने ठुकरा दी है।

‘इन्स्टेक्स’, कार्यान्वित, SPV, पेमेंट चॅनेल, अमरिकी प्रतिबंधों को बाईपास, ww3, ईरान, FATFपिछले वर्ष फ्रान्स, जर्मनी, बेल्जियम इन युरोपीय देशों में आतंकी हमलों के षडयंत्र उधेडे गए थे। इन मामलों में युरोपीय देशों में गिरफ्तारी हुई आतंकियों के सीधे ईरान की प्रमुख लष्करी ‘रिव्होल्युशनरी गार्डस्’ संगठन के साथ संबंध होने की बात उजागर हुई थी। इसके अलावा पिछले वर्ष ईरान ने बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण भी किया था। ईरान की इन दोनों गतिविधियों पर कडी आलोचना करके युरोपीय महासंघ ने ईरान पर प्रतिबंध लगाने के संकेत दिए थे। ईरान ने युरोप में शुरू आतंकी गतिविधियां एवं मिसाइल निर्माण पर रोक लगाई तो, प्रतिबंधों से बचना मुमकिन है, ऐसा महासंघ ने कहा था।

लेकिन, ईरान मिसाइल निर्माण एवं परीक्षण करने की भूमिका पर कायम है। अमरिका के दबाव के सामने झुककर युरोपीय महासंघ ने ईरान पर प्रतिबंध लगाए तो उसके गंभीर परीणाम होंगे, यह इशारा भी ईरान ने दिया था। लेकिन, सोमवार के दिन महासंघ ने ईरान के दो अधिकारी एवं एक संगठन पर प्रतिबंध जारी किए। युरोप की सुरक्षा के लिए खतरा निर्माण कर रहे ईरानी गुटों पर भी प्रतिबंध जारी करने का ऐलान महासंघ ने किया है। इस पर ईरान के विदेश मंत्रालय ने युरोपीय महासंघ को धमकाया है। ‘आतंकी हमलों का षडयंत्र करने का युरोपीय महासंघ ने किया आरोप झुठा है और गैरजिम्मेदाराना है। महासंघ के इस आरोप की वजह से ईरान निराश हुआ है’, ऐसी नाराजगी ईरानी विदेश मंत्रालय ने व्यक्त की है।

साथ ही ईरान पर आरोप कर रहे महासंघ आत्मपरिक्षण करे। युरोप में ही आतंकी और अपराधियों के गुट अधिक मात्रा में सक्रिय है। इस वजह से महासंघ आतंकवाद के मुद्दे पर ईरान को दोष ना दे, ऐसे कडे शब्दों में ईरान ने फटकार लगाई है। ईरान की रिव्हाल्युशनरी गार्डस् ने भी महासंघ को धमकाया है। ‘युरोपीय महासंघ इसके आगे भी अपनी ईरान विरोधी भूमिका पर कायम रहा तो ईरान को अपने मिसाइल की क्षमता बढानी होगी’, यह चेतावनी रिव्होल्युशनरी गार्डस् ने दी है।

वही, अमरिकी प्रतिबंध नजरअंदाज करके ईरान एवं युरोप में शुरू व्यवहार सही रखने के लिए विकल्प के तौर पर शुरू कि हुई चलन व्यवस्था ईरान ने ठुकराई है। यह चलन व्यवस्था कार्यान्वित करने के लिए ‘फायनान्शियल एक्शन टास्क फोर्स’ के नियमों का पालन करना संभव नही है, यह कहकर युरोपीय देशों की यह व्यवस्था ईरान ने ठुकराई। इस वजह से ईरान और युरोपीय महासंघ में बने मतभेद गंभीर रूप प्राप्त करते दिखाई दे रहे है।

English      मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info