Breaking News

अमरिका पर १९ अरब यूरो कर लगाने की युरोप ने दी धमकी

वॉशिंटन/ब्रुसेल्स – अमरिका और चीन में भडके व्यापार युद्ध की वजह से जागतिक अर्थव्यवस्था के लिए खतरा होने के इशारे अर्थशास्त्री दे रहे है। ऐसी स्थिति में अमरिका और युरोप में नए से व्यापारयुद्ध भडकने की गहरी संभावना बन रही है। लगभग १.१ ट्रिलियन डॉलर्स का व्यापार कर रहे अमरिका और युरोप के बीच व्यापारी विवाद बढा तो उसका असर जागतिक अर्थव्यवस्था पर हो सकता है। इस पृष्ठभूमि पर युरोप ने अमरिका के उत्पादों पर १९ अरब युरो का कर लगाने की धमकी दी है। अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष ने युरोप की निर्यात पर ११ अरब डॉलर्स का कर लगाने का इशारा देने के बाद युरोप से यह प्रतिक्रिया उमडी है।

यूरो कर, व्यापारी विवाद, जागतिक व्यापार संगठन, युरोपिय महासंघ, व्यापारयुद्ध, वॉशिंटन, ब्रुसेल्स, चीन

जागतिक व्यापार संगठन में अमरिका और युरोपिय महासंघ में बडी मल्टिनैशनल कंपनीयों ने दिए आर्थिक सहायता से जोरों से विवाद शुरू है। इनमें से एक मामले में संगठन ने अमरिका के पक्ष में निकाल दिया था। इस निकाल के नुसार अमरिका ने महासंघ पर कार्रवाई करने का निर्णय किया था। इसी निकाल का जिक्र करके राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प इन्होंने युरोपिय महासंघ पिछले कई वर्षों से व्यापार में अमरिका का अवैध लाभ उठा रहा है और यह इसके आगे बरकरार नही रहेगा, यह कहकर कर लगाने की धमकी दी थी।

अमरिका ने यह कर लगाने पर महासंघ ने कडी आपत्ति जताई थी। इस आपत्ति में अमरिका ने भारी कर लगाया है, यह आरोप किया था। लेकिन, अमरिका ने यह बात नजरअंदाज की और अपना निर्णय सही होने का समर्थन किया था। इस वजह से यूरोपिय महासंघ ने भी व्यापार संगठन में दर्ज मामला उठाकर अमरिका के विरोध में कर लगाने का इशारा दिया है।

जागतिक व्यापार संगठन के निर्णय के बाद अमरिका ने करों के दरों में भारी बढोतरी की है और यूरोपिय महासंघ भी उसी भाषा में जवाब देगा, यह महासंघ के अधिकारी ने स्पष्ट किया। अमरिका की ‘बोईंग’ कंपनी को दी जा रही आर्थिक सहायता की वजह से यूरोपिय देशों का नुकसान होने का दावा करके करीबन १९ अरब युरो कर लगाने का निर्णय महासंघ ने किया है, यह जानकारी अधिकारी ने दी। इससे जुडी उत्पाद की सुचि सदस्य देशों को भेजी गई है और अगले सप्ताह में यह घोषित होगी, ऐसा महासंघ ने कहा है।

पिछले दो वर्षों से अमरिका और यूरोपिय महासंघ के बीच व्यापार युद्ध शुरू है और राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प इन्होंने महासंघ पर अवैध व्यापारी लाभ उठाने के आरोप किए थे। पिछले वर्ष ट्रम्प ने यूरोप से आयात हो रहे पोलाद एवं अन्य उत्पादों पर कर भी लगाए थे। इसके बाद यूरोप से अमरिका में पहुंच रही गाडियों पर भी १५ से २० प्रतिशत कर लगाने की धमकी ट्रम्प ने दी। उसके बाद महासंघ एवं अमरिका के बीच व्यापार के मुद्दे पर बातचीत शुरू है, फिर भी अभी तक इस मुद्दे पर हल नही निकला है।

इस पृष्ठभूमि पर, व्यापार संगठन के निकाल के बाद हुई कार्रवाई ने अब फिर से व्यापार युद्ध भडकने की संभावना स्पष्ट हो रही है। अमरिका और चीन के बीच व्यापार युद्ध शुरू है और अब यूरोपिय महासंघ के साथ भी व्यापार में तनाव बढा तो उसका विपरित असर अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था पर हो सकते है।

English    मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info