Breaking News

ईरान के हजारों मिसाइल खाडी क्षेत्र में बने अमरिका के २१ लष्करी अड्डों की दिशा में तैनात – ईरान के वरिष्ठ अधिकारी की धमकी

तेहरान  – ‘ईरान अपने सबसे बडे शत्रु अमरिका के विरोध में सबसे बडे युद्ध करने की तैयारी में है| ईरान के हजारों मिसाइल्स अमरिका के २१ लष्करी अड्डों की दिशा में तैनात हुए है| ईरान हर दिन २० हजार मिसाइलों के हमलें कर सकता है’, यह चेतावनी ईरान की रिव्होल्युशनरी गार्डस् के वरिष्ठ कमांडर जनरल अल्लानूर नूरोल्लाही ने यह बयान किया है| साथ ही इस्रायल के तेल अवीव और हैफा यह दोनों शहर तबाह करने की क्षमता ईरान ने प्राप्त की है, यह इशारा भी जनरल नूरोल्लाही ने दिया है|

मिसाइल, तैनात, अल्लानूर नूरोल्लाही, लष्करी अड्डे, लष्करी कार्यक्रम, ईरान, रशिया मिसाइल, तैनात, अल्लानूर नूरोल्लाही, लष्करी अड्डे, लष्करी कार्यक्रम, ईरान, रशिया मिसाइल, तैनात, अल्लानूर नूरोल्लाही, लष्करी अड्डे, लष्करी कार्यक्रम, ईरान, रशिया

पिछले हफ्ते में बुशहर शहर में आयोजित लष्करी कार्यक्रम के बाद बोलते समय जनरल नूरोल्लाही ने ईरान की इस रक्षा तैयारी से नाटो के मन में भी डर होने का दावा किया| ईरान के ‘रिव्होल्युशनरी गार्डस् कोअर’ (आयआरजीसी) इस लष्करी दल के सलाहकार होनेवाले जनरल नूरोल्लाही ने भी ईरान के हाथ में बडी संख्या में मिसाइल होने का दावा किया है| ‘अमरिका, रशिया और चीन के साथ अब ईरान ही दुनिया का चौथे क्रमांक की मिसाइलों की ताकत रखनेवाला देश बना है’, यह जानकारी जनरल नूरोल्लाही ने इस लष्करी कार्यक्रम के दौरान रखी|

‘दुर्भाग्यवश खाडी क्षेत्र के कुछ देशों में ईरान के शत्रुदेश ने लष्करी अड्डे स्थापित किए है| यह होते हुए भी इस शत्रुदेश के २१ लष्करी ठिकानों की दिशा में ईरान के मिसाइल तैनात किए गए है| ईरान में करीबन ११० मिसाइलों के ठिकाने, प्रक्षेपण अड्डे प्रति दिन २० हजार मिसाइलों से हमलें कर सकते है, ऐसा नाटो ने कहा है| अमरिका ने भी ईरान के मिसाइल ताकत की बात स्वीकार की है| इसके अलावा जमीन के नीचे बने मिसाइलों के ठिकाने और मिसाइलों के शहर भी अमरिका पर हमलें करने के लिए तैयार है| इसके जरिए ईरान की तैयारी और ताकत दिख रही है’, ऐसा जनरल नूरोल्लाही ने बडे गर्व से कहा है| ईरान के समाचार चैनल ने प्रसिद्ध किए इस वीडियो का भाषांतर अमरिकी कंपनी ने किया है|

‘इसी का मतलब ईरान सबसे बडे शत्रू के विरोध में सबसे बडा युद्ध शुरू करने के लिए तैयार है’, यह दावा जनरल नूरोल्लाही ने किया| सौदी अरब एवं खाडी क्षेत्र के अन्य देश ईरान के शत्रु नही है, यह भी नूरोलाही ने कहा| पर, खाडी क्षेत्र के अमरिकी मित्रदेशों ने ही ईरान को उकसाने में कामयाबी हासिल की तो ईरान भी पीछे नही हटेगा, यह कहकर जनरल नूरोल्लाही ने सौदी एवं मित्रदेशों को भी धमकाया|

इस दौरान कुछ दिन पहले ही ईरान के रिव्होल्युशनरी गार्डस् के वरिष्ठ अधिकारी जनरल हुसेन सलामी ने भी अमरिका, इस्रायल और सौदी को नष्ट करने की क्षमता अपनी ओर होने का दावा किया था|

English    मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info