Breaking News

इस्रायल ईरान पर हमले की योजना बना रहा है – इस्रायली अख़बार ने दी जानकारी

जेरूसलेम – अमरीका के आगामी राष्ट्राध्यक्ष ज्यो बायडेन ईरान के साथ नये से परमाणु समझौता करेंगे, ऐसी गहरी संभावना जतायी जा रही है। इसी कारण, ईरान का परमाणुकार्यक्रम रोकने के लिए इस्रायल ने लष्करी विकल्पों का इस्तेमाल करने की तैयारी की है। इस्रायल का लष्कर ईरान पर कार्रवाई करने के सिलसिले में तीन योजनाएँ बना रहा है। जल्द ही इन विकल्पों को प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू के सामने रखे जायेंगे, ऐसी ख़बर इस्रायल के अग्रसर अख़बार ने प्रकाशित की। कुछ घंटे पहले, इस्रायल के वरिष्ठ मंत्री ने भी यह धमकी दी थी कि यदि अमरीका ने ईरान के साथ परमाणु समझौता किया ही, तो इस्रायल ईरान के परमाणु कार्यक्रम को लक्ष्य करेगा।

पिछले दस दिनों में ईरान ने अपने परमाणु कार्यक्रम के संदर्भ में उक़साऊ घोषणाएँ कीं हैं। सन २०१५ के परमाणु समझौते की सारीं मर्यादाओं को लाँघकर ईरान ने, युरेनियम का संवर्धन २० प्रतिशत तक ले जाने का ऐलान किया। साथ ही, फोर्दो स्थित न्युक्लिअर प्लांट कार्यान्वित भी किया है। इसके अलावा एक हज़ार सेंट्रिफ्यूजेस भी सक्रीय किये जा रहे हैं, ऐसा ईरान के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था। इसपर इस्रायल से प्रतिक्रिया आयी थी।

इस्रायल के सांस्कृतिकमंत्री झाकी हानेग्बी ने अमरीका के आगामी राष्ट्राध्यक्ष ज्यो बायडेन को संबोधित करके चेतावनी दी। बायडेन ने अमरीका की बागड़ोर सँभालने के बाद यदि ईरान के साथ नये से परमाणु समझौता किया, तो इस्रायल ईरान के परमाणुकार्यक्रम पर हमले करेगा, ऐसा हानेग्बी ने धमकाया था। ‘चाहे कुछ भी हों, इस्रायल ईरान को परमाणुअस्त्रसिद्ध नहीं होने देगा। इससे पहले सन १९८१ में इराक के और सन २००७ में सिरिया के न्युक्लिअर प्लांट पर इस्रायल ने हमलें किये थे’, ऐसे स्पष्ट शब्दों में सांस्कृतिकमंत्री हानेग्बी ने ईरान के साथ अमरीका के आगामी राष्ट्राध्यक्ष को चेतावनी दी थी।

इस्रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू के क़रिबी सहयोगी के रूप में हानेग्बी का ज़िक्र किया जाता है। इस कारण, उन्हों ने दी हुई इस चेतावनी को इस्रायली तथा खाड़ीक्षेत्र के माध्यमों ने अहमियत दी थी। उसी में इस्रायल के लोकप्रिय अख़बार ने गुरुवार को,  इस्रायल का लष्कर ईरान पर हमला करने की योजना बना रहा होने की ख़बर जारी की। इस्रायल के रक्षाबलप्रमुख अविव कोशावी ने अपने अधिकारियों को, ईरान के परमाणुकार्यक्रम पर हमले की तीन योजनाएँ बनाने की सूचना की है। ये तीन विकल्प प्रधानमंत्री नेतान्याहू के सामने रखे जायेंगे, ऐसा इस अख़बार ने कहा है।

वहीं, कुछ दिन पहले, इस्रायल के रक्षामंत्री बेनी गांत्झ ने भी, ईरान का परमाणुकार्यक्रम रोकने के लिए इस्रायल के पास अलग अलग लष्करी विकल्प उपलब्ध होने चाहिए, ऐसा कहा था। उसका भी ज़िक्र इस ख़बर में किया गया है। इससे, अमरीका के आगामी राष्ट्राध्यक्ष ने यदि ईरान के साथ परमाणुसमझौता किया ही, तो इस्रायल क्या कर सकता है, इसका एहसास भी इस देश द्वारा कराया जा रहा है।

दो ही दिन पहले सिरिया के पूर्वीय ओर के ‘देर अल-झोर’ स्थित ईरान के लष्करी अड्डे पर हुए हमलें, यह ईरान के लिए संदेश था, ऐसा इस्रायल की लष्करी गुप्तचर यंत्रणा के पूर्व प्रमुख अमोस याद्लिन ने कहा था। अमरीका में बायडेन का प्रशासन आया, तो भी इस्रायल के हमलें नहीं रुकेंगे, यह संदेश ईरान तक पहुँचें, इसके लिए यह कार्रवाई की, ऐसा याद्लिन ने डटकर कहा। सिरिया में किये इस हमले में ईरान से जुड़े गुट के ५७ आतंकी ढेर हुए होने का दावा किया जाता है।

इसी बीच, सन २०२१ में इस्रायल और ईरान के बीच सिरिया में संघर्ष भड़केगा; सिरिया की दक्षिणी ओर, गोलान सीमा के पास इस संघर्ष की शुरुआत होगी, ऐसा दावा रशियन अख़बार ने किया है। इस्रायल के पूर्व लष्करी और गुप्तचर यंत्रणा के अधिकारी वैसे संकेत दे रहे हैं, ऐसा इस रशियन अख़बार ने कहा है।

English

 

मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info