Breaking News

परमाणु अस्त्रों से सज्जित देशों के बीच परमाणु युद्ध भड़केगा – अंतरराष्ट्रीय विश्‍लेषिका का इशारा

लंदन – ‘परमाणु अस्त्रों से सज्जित देश अपने पमाणु हथियारों की संख्या बढ़ा रहे हैं। यह परमाणु हथियारों के इस्तेमाल की तैयारी हो रही है। परमाणु देशों के बीच निर्माण हुआ तनाव बढ़ रहा है और आनेवाले दिनों में वैश्‍विक महायुद्ध भड़क सकता है। ऐसा हुआ तो परमाणु हथियारों से सज्जित देशों के बीच परमाणु युद्ध शुरू हुए बगैर नहीं रहेगा’, ऐसा इशारा अंतरराष्ट्रीय विश्‍लेषिका डॉ.पैट्रिशिया लुईस ने दिया है। अपने दावों की पुष्टि के लिए डॉ.पैट्रिशिया ने उत्तर कोरिया का दाखिला भी दिया है।

वर्ष २०१८ में उत्तर कोरिया ने बैलेस्टिक मिसाइल दागने का अलर्ट जारी किया था। पैसिफिक महासागर क्षेत्र के हवाई द्विपों पर मौजूद कर्मचारी ने यह सनसनीखेज अलर्ट जारी किया था। हवाई द्विपों पर मोबाईल्स, रेडियो और समाचार चैनलों के ज़रिये यह अलर्ट जारी किया गया था। इस कर्मचारी ने इस विषय को लेकर १०० फीसदी कायम होने का दावा किया था। इस वजह से कम से कम ४० मिनटों के लिए इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में काफी बड़ा तनाव निर्माण हुआ था। लेकिन, सुरक्षा यंत्रणाओं ने जाँच करने के बाद यह एक ‘फॉल्स अलार्म’ साबित हुआ था।

इस एक घटना की वजह से संबंधित क्षेत्र में परमाणु युद्ध जैसी स्थिति निर्माण हुई थी। उत्तर कोरिया के पड़ोसी दक्षिण कोरिया और जापान की सुरक्षा यंत्रणा अलर्ट पर थी। उत्तर कोरिया से जुड़ी यह घटना आनेवाले दिनों के लिए काफी बड़ा उदाहरण होने का बयान डॉ.पैट्रिशिया ने ब्रिटिश रेडियो चैनल से बातचीत के दौरान दिया। मौजूदा युग में कोई भी जानकारी तेज़ गति से प्रसारित होती है। लेकिन, तनाव के दौर में गलत मतलब की गलतफहमी बढ़ानेवाली जानकारी प्रसारित की जाए तो परमाणु अस्त्रों से सज्जित देशों के बीच तनाव बढ़कर वैश्‍विक महायुदद्ध भड़क सकता है, ऐसा इशारा डॉ.पैट्रिशिया ने दिया।

इसके लिए डॉ.पैट्रिशिया ने शीतयुद्ध की याद ताज़ा की। शीतयुद्ध के दौर में अमरीका और सोवियत रशिया सिर्फ इन दो देशों के बेड़े में काफी संख्या में परमाणु हथियार थे। शीतयुद्ध के बाद अमरीका और रशिया के बीच तनाव कम हुआ। लेकिन, इन दोनों देशों के बीच उस समय निर्माण हुआ तनाव मौजूदा दौर के तनाव से काफी कम था, ऐसा दावा डॉ.पैट्रिशिया ने किया।

फिलहाल अमरीका और रशिया के अलावा ईरान, इस्रायल, पाकिस्तान, भारत और उत्तर कोरिया के पास कम संख्या में परमाणु हथियार हैं। संख्या में कम परमाणु अस्त्र रखनेवाले इनमें से कुछ देशों ने दूसरे देश के खिलाफ परमाणु हथियारों का इस्तेमाल करने की धमकी भी दी है, यह बात भी डॉ.पैट्रिशिया ने कही। इस वजह से आनेवाले दिनों में इन देशों के बीच तनाव बढ़ा और उत्तर कोरिया जैसी स्थिति बनी तो इन परमाणु देशों के बीच परमाणु युद्ध भड़केगा, ऐसा इशारा डॉ.पैट्रिशिया ने दिया।

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info