अमरीका की मित्रता से अधिक, ईरान को रोकना इस्रायल के लिए ज्यादा अहमियत रखता है – इस्रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू

तेल अवीव – ‘अमरीका की मित्रता या ईरान को परमाणु अस्त्र से सज्जित होने से रोकना, इनमें से अगर एक विकल्प का चयन करना होता है, तो इस्रायल ईरान को रोकने का विकल्प अपनाएगा। इसके लिए अमरीका के साथ विवाद हुआ तो भी परवाह नहीं’, ऐसा ऐलान इस्रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू ने किया है। ईरान के साथ परमाणु समझौता करने के लिए अमरीका का बायडेन प्रशासन बातचीत कर रहा है। ऐसी स्थिति में इस्रायल के प्रधानमंत्री ने यह चेतावनी दी है।

बेंजामिन नेतान्याहू, इस्रायल के प्रधानमंत्री

इस्रायल की प्रमुख गुप्तचर यंत्रणा मोसाद के प्रमुख के तौर पर डेव्हिड बार्नी का बीते हफ्ते चयन हुआ था। बार्नी ने मंगलवार के दिन मोसाद के पूर्व प्रमुख योसी कोहेन से अपने पद का ज़िम्मा संभाला। इस अवसर पर आयोजित समारोह में बोलते समय इस्रायल के प्रधानमंत्री नेतान्याहू ने, ईरान को परमाणु अस्त्र से सज्जित होने से रोकना ही इस्रायल की सर्वोच्च प्राथमिकता होने का ऐलान किया।

इस्रायल की सुरक्षा के लिए आज कई खतरें हैं। सैकड़ों रॉकेट हमलों से लेकर परमाणु अस्त्र निर्माण करने की दिशा में ईरान की जारी कोशिश, यह सबकुछ इस्रायल की सुरक्षा के लिए खतरनाक साबित होता है। ईरान परमाणु अस्त्र से सज्जित हुआ, तो इस्रायल के अस्तित्व को खतरा निर्माण होगा। इस वजह से किसी भी स्थिति में ईरान परमाणु अस्त्र से सज्जित ना हो सकें, इसके लिए इस्रायल को लगातार जंग लड़नी होगी’, ऐसा नेतान्याहू ने कहा है।

बेंजामिन नेतान्याहू, इस्रायल के प्रधानमंत्री

ईरान को परमाणु अस्त्र से सज्जित होने से रोकने के लिए इस्रायल को कठीन निर्णय करने नहीं होंगे, यह उम्मीद है। लेकिन, यदि अमरीका की मित्रता और ईरान को परमाणु अस्त्र से सज्जित होने से रोकना, इनमें से एक विकल्प चयन करना होता है, तो ईरान को परमाणु अस्त्र से सज्जित होने से रोकने का विकल्प ही इस्रायल चुनेगा। इसके लिए इस्रायल का अमरीका के साथ विवाद हुआ, तो भी उसकी परवाह नहीं करेंगे। क्योंकि, अमरीका की मित्रता से अधिक ईरान को रोकना ही इस्रायल के लिए अहम साबित होता है’, यह बात प्रधानमंत्री नेतान्याहू ने ड़टकर कही।

अमरीका के राष्ट्राध्यक्ष ज्यो बायडेन के साथ कुछ दिन पहले फोन पर बातचीत करते समय भी, ईरान को लेकर इस्रायल ने अपनाई भूमिका स्पष्ट तौर पर रखी थी, ऐसा नेतान्याहू ने कहा। अमरीका का साथ लेकर या अमरीका के सहयोग के बिना, ईरान को परमाणु अस्त्र से सज्जित होने से रोके बगैर इस्रायल नहीं रहेगा, यह हमने कहा था, इसकी याद भी नेतान्याहू ने कराई।

इसी बीच, वियना में शुरू बातचीत निर्णायक चरण पर पहुँची होने की खबरें पहले ही जारी हुईं थीं। अमरीका के बायडेन प्रशासन ने, ईरान को प्रतिबंधों से सहूलियत देने की तैयारी रखी होने का दावा किया जा रहा है। हमास के साथ हुआ संघर्ष और ईरान के परमाणु कार्यक्रम, इन पर बातचीत करने के लिए इस्रायल के रक्षामंत्री बेनी गांत्ज़ अगले कुछ दिनों में अमरीका रवाना हो रहे हैं। इस पृष्ठभूमि पर, इस्रायल के प्रधानमंत्री ने बायडेन प्रशासन को नयी चेतावनी दी हुई दिख रही है।

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info