गाज़ा से इस्रायल पर ५८० रॉकेट हमले

  • जेरूसलम शहर की ओर दागी गई रॉकेट
  • पीआईजे के सभी कमांड़रों को ढ़ेर किए जाने का इस्रायल का दावा
  • इस्रायल ने गाज़ा में आतंकियों के १४० ठिकानों को किया लक्ष्य

गाज़ा/जेरूसलम – गाज़ापट्टी के आतंकी संगठन ‘पैलेस्टिनीयन इस्लामिक जिहाद-पीआईजे’ और इस्रायल के बीच संघर्ष तीव्र हुआ है। ‘पीआईजे’ ने इस्रायल पर तकरीबन ५८० रॉकेटस्‌‍ दागे। इनमें से कुछ रॉकेटस्‌‍ इस्रायल के अति संवेदनशील जेरूसलम की दिशा में दागे गए, यह आरोप इस्रायल ने लगाया। इस पर इस्रायल ने भी गाज़ा में आतंकियों के १४० ठिकानों को लक्ष्य करके अपनी कार्रवाई की तीव्रता बढ़ाई। ‘पीआईजे’ के सुरक्षा विभाग से संबंधित सभी कमांड़र इस कार्रवाई में मारे गए हैं और इनमें दूसरे क्रमांक का नेता खालेद मन्सूर का समावेश है।

५८० रॉकेट हमले

लगातार तीसरे दिन इस्रायली सेना और पीआईजे के आतंकियों में संघर्ष जारी है। ‘पीआईजे के आतंकियों ने इस्रायल पर रॉकेट हमलों की तीव्रता बढ़ाई है। पिछले तीन दिनों में पीआईजे ने इस्रायल पर ५८० से अधिक रॉकेटस्‌‍ दागे हैं। इस्रायल के आयर्न डोम मिसाइल विरोधि यंत्रणा ने इनमें से २०० रॉकेटस्‌‍ सफलतापूर्वक नष्ट किए और १२० रॉकेटस्‌‍ गाज़ा की सीमा में ही गिरे। इससे ९ लोग मारे गए हैं। पीआईजे के कुछ रॉकेटस्‌‍ रविवार को भी गाज़ा के सरहदी क्षेत्र में गिरेंगे, यह सूचना इस्रायल ने सरहदी क्षेत्र में लगाए सायरन की वजह से पहले ही प्राप्त हुई। इस वजह से गाज़ा की सीमा से पैलेस्टिनी नागरिक पहले ही भाग निकले, ऐसी जानकारी प्राप्त हो रही है।

५८० रॉकेट हमले

इस्रायल की सेना ने जारी की हुई जानकारी के अनुसार ‘ऑपरेशन ब्रेकिंग डाऊन’ के तहत गाज़ा के ‘पीआईजे’ के ठिकानों को लक्ष्य किया जा रहा है। इस्रायली सेना ने सूचि बनाई थी इसमें दर्ज़ पीआईजे के सभी कमांड़र मारे गए है, ऐसा इस अभियान के वरिष्ठ अधिकारी मेजर जनरल ओदेद बास्यूक ने साझा की। ‘पीआईजे’ का दूसरे क्रमांक का कमांडर और अल कुदस्‌‍ ब्रिगेड का प्रमुख खालेद मन्सूर को मार गिराने में भी सफलता हासिल हुई, ऐसा मेजर जनरल बास्यूक ने कहा। लगातार दूसरे दिन ‘पीआईजे’ को जोरदार नुकसान पहुँचाने में इस्रायली सेना सफल रही, ऐसा बास्यूक ने कहा। खालेद मन्सूर ने पहले ही गाज़ा के दक्षिणी हिस्से से इस्रायल पर हमले किए थे।

इस्रायल की इस कार्रवाई में पैलेस्टिन के ३१ नागरिकों के मारे जाने का दावा गाज़ा के हमास से जुड़े स्वास्थ्य संगठन कर रही है। इस दौरान हमारी कार्रवई में अधिकांश आतंकी मारे गए, ऐसा इस्रायल का कहना है। पिछले साल भी हमास ने इस्रायल पर हर दिन सैंकड़ों रॉकेटस्‌‍ की बौछार की थी। ११ दिनों के इस संघर्ष में हमास ने इस्रायल पर ३.५ हज़ार से अधिक रॉकेटस्‌‍ बरसाए थे। ‘पीआईजे’ पिछले साल के इन हमलों को दोहरा रही है, ऐसी चिंता जतायी जा रही है। इसके लिए इजिप्ट की मध्यस्थता से इस्रायल और पीआईजे के इस संघर्ष को खत्म करने की कोशिशें जारी हैं।

English    मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info