Breaking News

अस्थिरता एवं मंदी की डर से सोने के दामों में उछाल छह महीनों के सर्वोच्च स्तर पर

वॉशिंगटन/लंडन – अमरिका की राजनीतिक अस्थिरता और जागतिक अर्थव्यवस्था से प्राप्त मंदी के संकेत की पृष्ठभुमि पर सोने के दरों में जोरदार उछाल दिखाई दिया है| अंतरराष्ट्रीय बाजार में ‘स्पॉट गोल्ड’ की किमत १,२८१ डॉलर्स प्रति औंस दर्ज हुई है और अमरिका में ‘गोल्ड फ्युचर्स’ का दर प्रति औंस १,२८३.२० डॉलर्स तक बढा है| सोने के दरों में हुए इस उछाल के साथ ही सोने के दाम पिछले छह महीनों के सर्वोच्च स्तर पर पहुंचे है|

पिछले कुछ दिनों में अमरिका में जोरदार उथल पुथल शुरू है और इसका प्रभाव अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हो रहा है| राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प इन्होंने सीरिया से सेना की वापसी करने का लिया निर्णय, रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस का इस्तेफा, फेडरल रिझर्व्ह ने व्याजदरों में की हुई बढोतरी और ‘शटडाऊन’ की वजह से जागतिक शेअर बाजार और अर्थव्यवस्था में गिरावट होने के संकेत प्राप्त हो रहे है| पिछले हफ्तें में अमरिका समेत जागतिक शेअर बाजार में विक्रमी गिरावट दर्ज हुई है|

इसके परिणाम क्रुड आइल, चलन और अन्य उत्पादनों के दरों पर हो रहा है| ईंधन के दाम मंगलवार के दिन भारी छह प्रतिशत गिरे और ‘ब्रेंट क्रूड’ के दाम प्रति बैरल ५० डॉलर्स के निचे गिरे है| अमरिका में ईंधन के दाम छह प्रतिशत गिरकर प्रति बैरल ४२.५३ डॉलर्स तक पहुंचे है| ईंधन के दरों का यह पिछले १६ महीनों का नीच्चांक रहा है|

मंदी, राजनीतिक अस्थिरता, US Shutdown, सोने के दाम, व्यवहार, अमरिका, रशिया

शेअर बाजार, ईंधन और चलन की गिरावट शुरू है तभी सोने कें दामों में उछाल दिखाई दे रहा है| सोमवार के दिन हुए व्यवहार में सोने के दाम प्रति औंस १२७१.४० डॉलर्स तक पहुंचे| उसके बाद भी सोने के दामों की बढोतरी बरकरार है और केवल तीन दिनों में सोने के दामों में १० डॉलर्स से अधिक बढोतरी हुई है|

आम नागरिक और निवेशकार फिल हाल सिर्फ सोने की ओर सुरक्षित निवेश के तौर पर देख रहे है, इन शब्दों में सिंगापूर के विश्‍लेषक ब्रायन लैन इन्होंने सोने की दरों में हुए उछाल का समर्थन किया है| अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दिखाई दे रही अनिश्‍चितता की ओर ध्यान केंद्रीत करके नजदिकी समय में सोने का दाम प्रति औंस १,३०० डॉलर्स तक उछलने की आशंका विश्‍लेशक व्यक्त कर रहे है|

दो महीने पहले ‘वर्ल्ड गोल्ड कौन्सिल’ ने अपनी रपट में विश्‍व के कई भागों में बने तनाव की ओर ध्यान केंद्रीत करने की कोशिश की थी| साथ ही २०१८ के पहले छह महीनों में सोने की मांग में भारी ४२ प्रतिशत बढोतरी हुई है, इसका जिक्र रपट में किया था| २०१८ के पहले छह महीनों में सोने की सबसे अधिक खरिदी करने वाले देशों में रशिया, तुर्की, हंगेरी इन जैसे देशों का समावेश है|

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info