Breaking News

कुर्दों के विरोध में कार्रवाई पर अमरिका ने दिया तुर्की को इशारा

वॉशिंगटन – ‘सीरिया से अमरिका अपनी सेना हटा रही है, फिर भी हमनें कुर्द वंशियों को बेसहारा छोडा नही है| तुर्की ने मर्यादा के बाहर जाकर सीरिया में कुर्द वंशियों पर हमलें किए तो, इसके गंभीर परीणाम तुर्की की अर्थव्यवस्था को भुगतने होंगे| अमरिका कुर्द वंशियों को आर्थिक और लष्करी सहायता करती ही रहेगी’, इन शब्दों में अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने कडी चेतावनी दी है|

सीरिया से सेना की वापसी करके राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने कुर्द वंशियों पर हमलें करने के लिए तुर्की को अनुमति ही दी है, यह आलोचना अमरिकी नेताओं ने की थी| इन कुर्द वंशियों ने सीरिया और इराक में ‘आईएस’ विरोधी संघर्ष के दौरान अमरिका का साथ किया था| इसकी याद संयुक्त राष्ट्रसंघ में अमरिका के राजदूत रही निक्की हैले ने दिलाई है| वही, सिनेटर लिंडसे ग्रॅहम और मार्को रुबिओ ने ट्रम्प ने किया यह निर्णय पुरी तरह से गलत है, यह आलोचना की थी|

लेकिन, सीरिया से सेना वापसी का ऐलान करने के बाद कुछ ही घंटों में राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने तुर्की को कडे शब्दों में चेतावनी दी है| तुर्की नाटो में अमरिका का सहयोगी देश है, यह बात भुल नही सकते| लेकिन, कुर्द वंशी भी अमरिका के सहयोगी है और उन्हें अमरिका बेसहारा नही छोडेगी, यह कहकर ट्रम्प ने तुर्की की अनियंत्रित कार्रवाई बर्दाश्त नही होगी, यह चेतावनी दी है|

‘सीरिया में कार्रवाई करते समय तुर्की ने मर्यादा लांघकर कुर्दों पर हमलें किए तो हम तुर्की की अर्थव्यवस्था तबाह करेंगे| हमनें इससे पहले कभी भी अपनाई नही ती, उतनी कडी भूमिका तुर्की के लिए अपनानी होगी’, यह इशारा राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने दिया| सीरिया के ‘वायपीजी’ यह कुर्द बागियों की संगठना तुर्की के ‘पीकेके’ इस कुर्द गुट से जुडी है| तुर्की ने ‘पीकेके’ को आतंकी घोषित किया है और ‘वायपीजी’ का भी आतंकियों की सुचि में समावेश किया है| इस वजह से तुर्की की अस्थिरता के लिए जिम्मेदार साबित हुए कुर्द वंशियों पर कार्रवाई करने का अधिकार हम रखते है, यह दावा तुर्की के राष्ट्राध्यक्ष एर्दोगन ने किया है| साथ ही सीरिया में सेना उतारने के बाद अपनी सेना ‘आईएस’ और ‘कुर्द’ यह फरक नही करेगी, यह बात भी तुर्की के रक्षा मंत्रालय ने स्पष्ट की थी|

बल्कि, तुर्की की भूमि पर अधिकार जता रहे सीरियन कुर्दों को खतम करने के लिए ही तुर्की ने सीरिया में यह कार्रवाई शुरू कर रहा है| लेकिन, तुर्की ने यह कार्रवाई की तो, अमरिका शांत नही रहेगी, यह इशारा अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ने देने से सीरिया में कार्रवाई जारी रखना तुर्की के लिए कठिन हो सकता है| लेकिन, सीरिया में बडी तादाद में सेना और लष्करी सामान उतारनेवाले तुर्की के लिए अब पीछे हटना भी मुश्किल साबित हो सकता है|

English    मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info