Breaking News

अमरिका और चीन में बढ रही स्पर्धा से ‘आर्थिक युद्ध’ होगा – चीन के भूतपूर्व वित्तमंत्री का इशीरा

बीजिंग – ‘अमरिका और चीन में बढ रही स्पर्धा से आर्थिक शुरू होने का खतरा है, यह इशारा चीन के भूतपूर्व वित्तमंत्री लो जिवेई ने स्पष्ट शब्दों में दिया है| पिछले कुछ दिनों में अमरिका औड़ चीन में शुरू व्यापार युद्ध का हल निकालने के लिए समझौता होने के संकेत प्राप्त हो रहे है| इस पृष्ठभूमि पर चीन के सत्तापक्ष कम्युनिस्ट पार्टी की अहम कमिटी के सदस्य एवं भूतपूर्व मंत्री ने नए संघर्ष का संकेत देना ध्यान आकर्षित कर रहा है|

अमरिका और चीन के बीच पिछले कुछ समय से शुरू स्पर्धा का अगला स्तर आर्थिक युद्ध ही होगा| कानून के लंबे हाथों का इस्तेमाल करके होनेवाली कार्रवाई, अलग अलग बहानों से विशिष्ट कंपनियों पर लगाई जा रही पाबंदी जैसे मुद्दे इस आर्थिक युद्ध के कारणों का हिस्सा होंगे| झेडटीई और हुवेई जैसी कंपनियों पर की गई कार्रवाई से यही बात दिखाई पडी है, इन शब्दों में जिवेईने दो देशों के नए संघर्ष का एहसास कराया है|

अमरिका को फिलहाल राष्ट्रवाद और लोकवाद की निती ने बंधक बनाया है, यह दावा करके इसी निता से अन्य लोगों के विरोध में उपद्रव करना मुमकिन हो, इसके लिए प्रावधान किया जाएगा, यह आरोप भी चीन के भूतपूर्व अर्थमंत्री ने किया| विरोधी देश का विस्तार रोकने के लिए और उसके विरोध में कई प्रावधानों का इस्तेमाल शुरू होगा और यह लंबे समय के लिए विवाद का मुद्दा बना रहेगा, इस ओर भी जिवेई ने ध्यान केंद्रीत किया| सही सबुतों के बगैर आतंकी कार्रवाई एवं विद्रोह का आरोप थोंपने की प्रवृत्ति अमरिका में बढेगी, इन शब्दों में उन्होंने अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प को लक्ष्य करने की कोशिश की|

अमरिका से चीन के विरोध में हो रही कार्रवाई को रोकना हो तो चीन ने अन्य देशों के साथ सहयोग बढाकर विकल्प के तौर पर प्रावधान करने होंगे, यह सलाह भी चीन के भूतपूर्व अर्थमंत्री ने दी| साथ ही अपनेयुआनका पूरी तरह से अंतरराष्ट्रीयकरण करने की जल्दबाजी चीन ना करें और उसपर सीमित तादाद में नियंत्रण रखे, यह भी जिवेई ने कहा है| चीन के भूतपूर्व अर्थमंत्री ने किया यह बयान चीन और अमरिका में शुरू हुआ व्यापार युद्ध नजदिकी समय में बंद होने की संभावना ना होने के दावों का समर्थन कर रहा है|

अमरिका के अर्थतज्ञ और नेताओं ने भी दो देशों में होनेवाले संभावित व्यापारी समझौते से विशेष लाभ प्राप्त ना होने के संकेत देना शुरू किया है| राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने समझौते के लिए पहल करने की बात दिखाई है, फिर भी अमरिका किसी भी मुद्दे से पीछे नही हटेगी, यही बात उनके बयान से लगातार सामने रही है| इस कारण अमरिका और चीन में शुरू व्यापारी एवं अन्य आर्थिक स्तरों पर शुरू हुआ संघर्ष बंद नही होगा, यही दिख रहा है| अमरिकी यंत्रणाओं ने चीन की कंपनियों संबंधी हाल ही में किए निर्णय भी इसी संभावना का समर्थन कर रहे है|

इस पृष्ठभूमि पर चीन के वरिष्ठ नेता ने दिया इशारा अमरिकाचीन संघर्ष लंबे समय तक जारी रहेगा, यही संकेत स्पष्ट तौर पर देता दिख रहा है|

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info