Breaking News

‘ब्रेक्जिट’ के लिए ३१ जनवरी, २०२० तक समय देने का प्रस्ताव ब्रिटेन की संसद में पारित

लंदन – ब्रिटेन ३१ जनवरी, २०२० के रोज यूरोपिय महासंघ से बाहर निकलेगा, यह समय सीमा तय करनेवाला विधेयक ब्रिटीश संसद ने बहुमत के साथ पारित किया है| शुक्रवार के दिन ब्रिटेन की संसद में हुए वोटिंग में ‘ब्रेक्जिट’ के लिए प्रधानमंत्री बोरिस जॉन्सन ने रखे प्रस्ताव के पक्ष में ३५८ सांसदों वोट किया| इस दौरान प्रस्ताव के विरोध में २३४ सांसदों ने वोट किया| लेबर पार्टी के कुछ सदस्यों ने भी प्रधानमंत्री जॉन्सन के प्रस्ताव का प्रकट समर्थन करने की बात भी स्पष्ट हुई है| ‘ब्रेक्जिट’ के कडे समर्थक निगेल फैराज ने इस प्रस्ताव को प्राप्त हुई मंजुरी एक ऐतिहासिक क्षण होने की प्रतिक्रिया दर्ज की है|

 

पिछले हफ्ते में ब्रिटेन में आम चुनाव हुए थे| इस में ब्रिटीश संसद की ६५० में से ३६४ जगहों पर बोरिस जॉन्सन के नेतृत्व में ‘कॉन्झर्व्हेटिव्ह पार्टी’ ने जीत हासिल की थी| तीन दशक बाद ‘कॉन्झर्व्हेटिव्ह पार्टी’ को पुरा बहुमत देनेवाले यह नतीजे पार्टी के लिए ऐतिहासिक जीत साबित हुई है| ‘गेट दे ब्रेक्जिट डन’ यह नारा देकर ‘ब्रेक्जिट होकर ही रहेगा’, इसी मुद्दे को केंद्र में रखकर ‘कॉन्झर्व्हेटिव्ह पार्टी’ को चुनाव में सफलता हासिल हुई है|

इस वजह से नजीते घोषित होने के बाद संसद के पहले सत्र में ही ‘ब्रेक्जिट’ का प्रस्ताव पारित करने के लिए प्रधानता दी गई| इसके अनुसार प्रधानमंत्री जॉन्सन ने ३१ जनवरी, २०२० के रोज ब्रिटेन यूरोपिय महासंघ से पुरी तरह से बाहर होने के प्रावधान के साथ ही वर्णित प्रस्ताव संसद में पेश किया| यह प्रस्ताव लगभग १२० से भी अधिक वोट से पारित करने में सफलता प्राप्त होने से यह प्रस्ताव प्रधानमंत्री जॉन्सन को अधिक बल प्रदान करनेवाला साबित होने की बात कही जा रही है|

इससे पहले ब्रिटेन के भूतपूर्व प्रधानमंत्री थेरेसा मे के समय में ब्रिटेन की संसद ने ‘ब्रेक्जिट’ संबंधी अनेक निर्णय असफल किए गए थे| इसके पीछे ब्रिटेन की सियासी अस्थिरता का मुद्दा प्रमुख कारण साबित हुआ था| पर, जॉन्सन के नेतृत्व में स्पष्ट बहुमत प्राप्त होने पर ‘ब्रेक्जिट’ की राख खुली होने की बात समझी जा रही है| जॉन्सन ने प्रचार में एवं जीत हासिल करने के बाद भी ‘ब्रेक्जिट’ के मुद्दे पर ही जोर दिया है और किसी भी स्थिति में ब्रिटेन महासंघ से बाहर निकलेगा, यह वादा स्पष्ट शब्दों में किया है|

ब्रिटेन को महासंघ से अलग करने के लिए हमने रखा प्रस्ताव देश के लिए नई सुबह लानेवाला साबित होगा, यह दावा भी प्रधानमंत्री जॉन्सन ने किया| शुक्रवार के दिन ब्रिटेन की यह प्रस्ताव पारित करने के बाद ब्रिटीश संसद की छुट्टीयां शुरू हुई है और संसद का अगला सत्र नए वर्ष में ही शुरू होगा| इस सत्र में ब्रेक्जिट डील से संबंधित अलग अलग मुद्दों पर बातचीत होगी और फिर इस विधेयक का अंतिम प्रस्ताव तय होगा, यह जानकारी ब्रिटेन के सूत्रों ने साझा की है|

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info