Breaking News

ऑस्ट्रिया में हुए आतंकी हमले में पांच की मौत – गुस्से से उत्तेजित हुए यूरोपिय देशों ने एकजुट होकर प्रत्युत्तर देने का किया ऐलान

वियना/पैरिस/बर्लिन – कट्टरपंथियों का आतंकवाद हमारा समान शत्रु है और यूरोप आतंकियों के सामने कभी भी झुकेगा नहीं, ऐसा स्पष्ट बयान यूरोपिय नेतृत्व ने किया है। सोमवार के दिन ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में हुए आतंकी हमले के बाद यूरोपिय देशों में आक्रामक प्रतिक्रिया उमड़ रही है और यूरोप की कट्टरपंथी और आतंकवाद के विरोध में एकजुट होने का चित्र सामने आ रहा है। ऑस्ट्रिया में हुआ हमला यूरोप में बीते महीने से हुआ चौथा आतंकी हमला है। यूरोप में हो रहे हमले आतंकी आयएस संगठन अभी भी यूरोप में सक्रिय और प्रभावी होने की बात दिखाते हैं, यह इशारा स्वित्ज़र्लैंड़ की सुरक्षा यंत्रणा ने जारी किया है।

दहशतवादी हल्ला, आतंकी हमले

सोमवार रात करीबन ८ बज़े ‘आयएस’ समर्थक आतंकियों ने वियना में यहूदी वंशियों के प्रार्थनास्थल समेत कई जगहों पर हमले किए। इन हमलों के दौरान एक आतंकी और अन्य चार लोग मारे गए और १७ घायल हुए। घायलों में से सात की स्थिति गंभीर है और मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है। यह हमला करनेवाले आतंकियों में से एक का नाम ‘कुज्तिम फेजुलाय’ होने की बात स्पष्ट हुई है। फेलाय नॉर्थ मैसिडॉनियन वंशिय नागरिक है और वे ऑस्ट्रिया समेत मैसिडॉनिया की दोहरी नागरिकता रखता हैं, यह भी स्पष्ट हुआ है। हमला करने के दौरान फेझुलाय के पास असॉल्ट राइफल, हैंडगन और छुरा था, यह जानकारी भी ऑस्ट्रियन अधिकारी ने साझा की। उसके बदन पर ‘फेक एक्सप्लोज़िव वेस्ट’ लगा था, यह जानकारी भी संबंधित अधिकारी ने प्रदान की।

फेझुलाय के अलावा कई आतंकी इस हमले में शामिल थे, यह आशंका है। वियना के नागरिकों ने इन हमलों के कई वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किए हैं। इन वीडियों की सहायता से अन्य हमलावरों की तलाश जारी हैं। इसके लिए शहर में बड़ी मात्रा में सर्च मुहिम शुरू की गई है और सुरक्षा के लिए सेना के अतिरिक्त दल भी तैनात किए गए हैं। ऑस्ट्रिया के अंतर्गत सुरक्षा मंत्रालय ने सावधानी बरतने का इशारा जारी करके नागरिकों को घर से बाहर ना निकलें, यह आवाहन किया है। इस दौरान सुरक्षा यंत्रणा ने वियना में १५ ठिकानों पर छापे मारे हैं और कई संदिग्धों को हिरासत में लिया है, यह जानकारी ऑस्ट्रियन सुरक्षामंत्री कार्ल नेहैमर ने प्रदान की।

दहशतवादी हल्ला, आतंकी हमले

सोमवार के दिन हुए आतंकी हमले के बाद ऑस्ट्रिया में तीन दिनों के लिए शोक घोषित किया गया है और इस हमले पर विश्‍वभर से प्रतिक्रिया प्राप्त हो रही है। ऑस्ट्रिया के चान्सेलर सेबैस्टियन कर्ज़ ने वियना में हुआ हमला कट्टरपंथीयों ने ही किया है, यह बयान करके यह संस्कृति और जंगली क्रूरता का संघर्ष है, यह इशारा भी दिया। फ्रान्स के बाद हमारे सहयोगी देश को हमले से लक्ष्य किया गया है। यह हमारा यूरोप है। यूरोप के शत्रु किसके खिलाफ हैं, इस बात का पूरा अहसास रखें। हम कुछ भी बर्दाश्‍त नहीं करेंगे। यूरोप आतंकवाद के सामने झुकेगा नहीं, ऐसा सख्त इशारा फ्रान्स के राष्ट्राध्यक्ष इमैन्युएल मैक्रॉन ने दिया।

कट्टरपंथीयों का आतंकवाद सभी का समान शत्रु है। आतंकवादी और उन्हें भड़कानेवालों के विरोध में जारी संघर्ष यूरोप की एकत्रित लड़ाई है, इन शब्दों में जर्मन चान्सेलर एंजेला मर्केल ने यूरोपिय देश आतंकवाद के विरोध में एकसाथ खड़े होंगे, यह संकेत भी दिए। ब्रिटेन, इटली, ग्रीस, ज़ेक रिपब्लिक, नेदरलैण्ड जैसे प्रमुख यूरोपिय देशों ने भी ऑस्ट्रिया में हुए हमले का निषेध किया है और साथ ही आतंकवाद के विरोध में यूरोप एकता दिखाएगा, यह भरोसा भी व्यक्त किया। अमरीका, रशिया, भारत और कनाड़ा इन प्रमुख देशों ने भी ऑस्ट्रिया में हुए हमले की कड़ी आलोचना की है।

यूरोप में बीते छह वर्षों में आतंकी हमलों की मात्रा बढ़ी है और इसके पीछे खाड़ी एवं अफ्रिकी देशों से हो रही शरणार्थियों की घुसपैठ प्रमुख कारण होने का आरोप किया जा रहा था। शुरू में यूरोपिय देशों ने इस मुद्दे पर काफी सौम्य भूमिका अपनाकर अपनी सुरक्षा की ओर अनदेखी की, यह आरोप पत्रकार एवं विश्‍लेषकों ने किया था। इसका असर आतंकी हमलों के स्वरूप में सामने आने के बाद अब यूरोपिय देशों ने आक्रामक निर्णय करना शुरू किया है। फ्रान्स और ऑस्ट्रिया में हुए आतंकी हमलों के बाद प्राप्त हो रही प्रतिक्रिया इसी की पुष्टि कर रही है। इस वजह से अगले दौर में यूरोप में आतंकवाद विरोधी नीति एवं मुहिम अधिक आक्रामकता के साथ चलाई जाएगी, यह संकेत भी प्राप्त हो रहे हैं।

English     मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info