Breaking News

अमरीका में बायडेन की शपथग्रहणविधि के बाद इस्रायल ने किये सिरिया के ‘हमा’ पर हवाई हमलें

दमास्कस – अमरीका के नये राष्ट्राध्यक्ष ज्यो बायडेन ने सत्ता की बागड़ोर सँभालने के कुछ ही घंटों में, इस्रायल ने सिरिया के हमा प्रांत पर हवाई हमलें किये। इस्रायल के इस हमले में चार नागरिकों की मृत्यु होने का आरोप सिरियन लष्कर ने किया है। अमरीका में हुए सत्तापरिवर्तन के बाद इस्रायल ने सिरिया में किया यह पहला हमला है।

सिरियन लष्कर और ‘सना’ वृत्तवाहिनी ने साझा की जानकारी के अनुसार, शुक्रवार सुबह लगभग चार बजे हमा प्रांत में क्षेपणास्त्र दागे गये। लेबेनॉन के सीमाक्षेत्र के त्रिपोली शहर से ये हमलें किये गये। इस्रायल के लड़ाक़ू विमानों ने लेबेनॉन की हवाई सीमा में घुसकर क्षेपणास्त्र दागे होने का आरोप सिरियन लष्कर तथा न्यूज़ चैनल कर रहे हैं। इस्रायल ने दागे हुए अधिकांश क्षेपणास्त्र सिरियन लष्कर की हवाई सुरक्षा यंत्रणाओं ने छेदे, ऐसा दावा भी सिरियन न्यूज़ चैनल ने किया। वहीं, कुछ क्षेपणास्त्र यहाँ के रिहायशी इलाक़े में गिरे। इसमें एक ही परिवार के चार लोगों की मृत्यु हुई होकर, इसमें दो बच्चों का समावेश है, ऐसा सिरियन लष्कर ने कहा है।

कुछ ही दिन पहले सिरिया के देर अल-झोर इस पूर्वी भाग में इस्रायल ने हवाई हमलें किये होने का आरोप सिरियन लष्कर एवं सरकारी न्यूज़्च चैनल ने किया था। इस हमले में कितना नुकसान हुआ, इसके बारे में बात करना सिरियन लष्कर ने टाला था। लेकिन सिरिया के मानवाधिकार संगठन ने दी जानकारी के अनुसार, यहाँ के कम से कम १८ लष्करी अड्डों पर किये हवाई हमलों में ईरान के कुद्स फोर्सेस के जवान और ईरान से जुड़े आतंकवादी संगठनों के ५७ सदस्य मारे गये थे।

इसके अलावा इस्रायल के लड़ाक़ू विमानों ने ईरान के परमाणुकार्यक्रम से संबंधित स्थान को लक्ष्य किया होने का दावा किया गया था। इस्रायल ने सिरियास्थित ईरान के लष्करी अड्डों पर की हुई अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई होने की ख़बरें प्रकाशित हुईं थीं। ईरान ने इन ख़बरों पर प्रतिक्रिया देना टाला था। लेकिन पिछले ही हफ़्ते ईरान के जवान और ईरान से जुड़े आतंकी, ‘देर अल-झोर’ स्थित अपने लष्करी अड्डें खाली करके अल-बुकमल, मयादिन के रिहायशी इलाक़ों में छिपकर बैठे होने की जानकारी सामने आयी थी। इस्रायल के हवाई हमले के डर से ईरान ने यह गतिविधि की, ऐसा दावा किया जाता है।

शुक्रवार सुबह सिरिया के हमा प्रांत में हुए इस हमले के बारे में इस्रायल के लष्कर ने प्रतिक्रिया नहीं दी है। लेकिन अमरीका के नये राष्ट्राध्यक्ष ज्यो बायडेन ने बागड़ोर सँभालने के बाद इस्रायल ने सिरिया में की यह पहली कार्रवाई है। राष्ट्राध्यक्ष बायडेन ने ईरान के सन्दर्भ में नर्म भूमिका अपनाने के संकेत दिये हैं। अमरीका की शर्तें मानीं, तो ईरान के साथ नया परमाणुसमझौता किया जायेगा, ऐसा बायडेन ने स्पष्ट किया है। अमरीका की इस भूमिका पर प्रतिक्रिया देते समय इस्रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू ने कड़ी चेतावनी दी थी कि बायडेन प्रशासन ईरान पर थोंपे निर्बंध हटाने की ग़लती ना करें।

इसी बीच, रशिया के विदेशमंत्री सर्जेई लॅव्हरोव्ह ने चार दिन पहले यह घोषणा की थी कि इस्रायल सिरियास्थित ईरान के स्थानों पर हवाई हमलें ना करें। सिरिया इस्रायल और ईरान के संघर्ष की युद्धभूमि ना हों। सिरियास्थित ईरान के ख़तरनाक लष्करी अड्डों के बारे में इस्रायल रशिया को सूचित करें, रशिया उसपर कार्रवाई करेगा, ऐसा आवाहन रशियन विदेशमंत्री ने किया था।

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info