Breaking News

इस्रायल के रक्षाबलप्रमुख ने सेना को दिए ईरान पर हमले के लिए तैयार रहने के आदेश

जेरूसलम – ईरान पर लगाए प्रतिबंध हटाने की गलती अमरीका के नए राष्ट्राध्यक्ष ज्यो बायडेन ना करें, ऐसा इशारा इस्रायल के प्रधानमंत्री नेत्यान्याहू ने बीते हफ्ते में ही दिया था। इसके बावजूद बायडेन प्रशासन ईरान के साथ नया परमाणु समझौता करने पर ड़टा है। अमरीका की इस भूमिका पर क्रोध व्यक्त करके इस्रायल के रक्षाबलप्रमुख लेफ्टनंट जनरल अविव कोशावी ने अपनी सेना को ईरान पर हमला करने के लिए तैयारी बढ़ाने के आदेश दिए हैं। इस्रायल के रक्षाबलप्रमुख ने बायडेन के प्रशासन को बीते सप्ताह से दूसरी बार यह इशारा दिया है।

रक्षाबलप्रमुख, आदेश, जनरल अविव कोशावी, प्रतिबंध, हमला, ईरान, इस्रायल, ज्यो बायडेन, TWW, Third World War

ज्यो बायडेन ने बीते सप्ताह में ही अमरीका के राष्ट्राध्यक्ष पद की शपथ ग्रहण की। शपथ ग्रहण समारोह के २४ घंटों बाद तुरंत ही बायडेन प्रशासन ने ईरान के साथ नया परमाणु समझौता करने का ऐलान किया। इसके लिए ईरान अपनी नई शर्तें स्वीकार करे, यह बात भी बायडेन प्रशासन ने स्पष्ट की। ईरान ने अमरीका का यह प्रस्ताव ठुकराया है। इसके साथ ही ईरान पर लगाए गए सभी प्रतिबंध बायडेन प्रशासन बिना शर्त हटाए। ऐसा करते समय ईरान से किसी भी तरह की नई उम्मीद अमरीका ना रखे, यह बयान करके ईरान के विदेशमंत्री जावेद ज़रिफ ने अमरीका की शर्तें ईरान नहीं स्वीकारेगा, यह बात स्पष्ट की।

इसके बाद भी बायडेन प्रशासन ने ईरान के साथ नया परमाणु समझौता करने की गतिविधियां बढ़ाई हैं। बायडेन प्रशासन के विशेष प्रतिनिधियों ने ईरान के मुद्दे पर यूरोप के मित्रदेशों के साथ बातचीत करने की खबरें भी सामने आ रही हैं। तभी, वर्ष २०१५ में ईरान के साथ परमाणु समझौता करने में अहम भूमिका निभानेवाले रॉबर्ट मैली को बायडेन प्रशासन ने दुबारा ईरान संबंधित निर्णय प्रक्रिया में शामिल किया है। इस वजह से इस्रायल, सौदी अरब एवं अन्य मित्रदेशों में नाराज़गी का माहौल बना है।

रक्षाबलप्रमुख, आदेश, जनरल अविव कोशावी, प्रतिबंध, हमला, ईरान, इस्रायल, ज्यो बायडेन, TWW, Third World War

इस्रायल के रक्षाबलप्रमुख लेफ्टनंट जनरल कोशावी ने भी ‘इन्स्टिट्युट फॉर नैशनल सिक्युरिटी स्टडिज्‌’ नामक अभ्यासगुट को संबोधित करते समय बायडेन प्रशासन को अगले परिणामों का अहसास कराया। ‘कितनी भी सख्त शर्तें लगाकर अमरीका ने ईरान के साथ नया परमाणु समझौता करे तब भी वह सामरिक नज़रिये से उचित नहीं होगा। इस परमाणु समझौते की वजह से ईरान का परमाणु कार्यक्रम अधिक गतिमान होगा और इस्रायल के खतरे में बढ़ोतरी होती रहेगी। इसे इस्रायल कभी भी बर्दाश्‍त नहीं करेगा। ज़रूरत महसूस होने पर इस्रायल अपने बल पर ही ईरान पर लष्करी कार्रवाई करेगा’, ऐसी सख्त चेतावनी इस्रायल के रक्षाबलप्रमुख ने दी है।

‘ईरान पर कार्रवाई करने के लिए सेना को अलग अलग विकल्प तैयार करने के आदेश दिए गए हैं। इस्रायल का नेतृत्व इससे संबंधित निर्णय करेगा। लेकिन, सेना के कर्तव्य के हिस्से के तौर पर हमने सारी तैयारी जुटाई है’, यह बयान भी लेफ्टनंट जनरल कोशावी ने किया है। इस्रायल के रक्षाबलप्रमुख ने ही इससे पहले भी ईरान पर हमले करने के लिए विकल्प के तौर पर अलग अलग योजनाओं पर सोच-विचार जारी होने का पुख्ता इशारा दिया था। इसी बीच अमरीका ने ईरान पर लगाए प्रतिबंध शिथिल किये तो इस्रायल ईरान पर कार्रवाई करेगा, ऐसी धमकी इस्रायल ने बीते सप्ताह पहले ही दी थी। इस वजह से बायडेन के प्रशासन पर दबाव बढ़ रहा है।

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info