ईरान को कूट डालो, लेकिन तीसरा विश्वयुद्ध ना भड़कें इसका ख़याल रखो – अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने दिए विदेशमंत्री पॉम्पिओ को आदेश

वॉशिंग्टन – ‘ज्यो बायडेन अमरीका की बाग़ड़ोर सँभालने से पहले ईरान की ऐसी घेराबंदी करो कि ईरान की हुक़ूमत का दम घुट जायें। ऐसे विकल्पों का इस्तेमाल करो कि बायडेन ईरान के साथ परमाणु समझौता कर ही ना सकें। लेकिन यह कार्रवाई करते समय इस बात का ख़याल रखो कि तीसरा विश्वयुद्ध ना भड़कें’, ऐसे आदेश अमेरिकेचे राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने विदेशमंत्री माईक पॉम्पिओ को दिये हैं। अमरीका की ‘डेली बीस्ट’ इस न्यूज़ एजन्सी ने व्हाईट हाऊस के अधिकारियों के हवाले से यह ख़बर प्रकाशित की है।

पिछले महीने में राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने ईरान पर हमला करने का फ़ैसला किया था। लेकिन विदेशमंत्री माईक पॉम्पिओ के साथ ही, प्रशासन के वरिष्ठ सलाहकारों ने राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प के इस फ़ैसले से असहमति व्यक्त की थी। अमरीका यदि ईरान पर हमला करती है, तो उसके परिणामस्वरूप तीसरा विश्वयुद्ध भड़क सकता है, इसपर विदेशमंत्री पॉम्पिओ और सहकर्मियों ने राष्ट्राध्यक्ष का ग़ौर फ़रमाया। उसके बाद पॉम्पिओ तथा सहकर्मियों ने राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प को ईरान को लेकर अलग विकल्प सूचित किये थे, ऐसी ख़बर व्हाईट हाऊस के अधिकारियों के हवाले से अमरीका के अग्रसर अख़बार ने दी थी।

इस बार भी अमरीका की इस न्यूज़ एजन्सी ने व्हाईट हाऊस के अधिकारियों का हवाला दिया है। राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने विदेशमंत्री पॉम्पिओ तथा ईरान के लिए नियुक्त किये हुए विशेषदूत एलियट अब्राम्स को ईरान के संदर्भ में फ़ैसलें करने की पूरी आज़ादी दी है। बायडेन के शपथविधि से पहले ईरान का गला घोटने के लिए आवश्यक कार्रवाई करने के सर्वाधिकार पॉम्पिओ को दिये हैं। इसमें ईरान की हुक़ूमत का दम घुट जायें ऐसे कठोर निर्बंध थोंपने का समावेश है।

कुछ दिन पहले ही अमरीका ने ईरान के रिव्होल्युशनरी गार्ड्स तथा परमाणु कार्यक्रम से संबंधित लोगों पर निर्बंध लगाये थे। साथ ही, आनेवाले कुछ दिनों में ईरान पर अधिक निर्बंध थोंपे जायेंगे, ऐसी चेतावनी भी अब्राम्स ने दी थी। इस ईरानविरोधी कार्रवाई के भाग के रूप में पॉम्पिओ ने पिछले हफ़्ते में इस्रायल, सौदी अरब, युएई, बाहरिन इन् देशों का दौरा किया होने की बात पर अमरिकी न्यूज़ एजन्सी ने ग़ौर फ़रमाया।

इसके अलावा ईरान के विरोध में ख़ुफ़िया कार्रवाई करने के विकल्प पर भी विदेशमंत्री पॉम्पिओ, विशेषदूत अब्राम्स और अमरिकी गुप्तचर यंत्रणा ‘सीआयए’ की अध्यक्षा जिना हॅस्पेल ये लोग काम कर रहे होने का दावा अमरिकी न्यूज़ एजन्सी ने किया। ईरानविरोधी ख़ुफ़िया कार्रवाई में इस्रायल का इस्तेमाल किया जा सकें और अमरिकी सैनिकों को जान गँवानी नहीं पड़ें, ऐसी योजना पर ये तीनों भी काम कर रहे हैं, ऐसा इस वृत्तसंस्था ने सूत्रों के हवाले से कहा है। हॅस्पेल और इस्रायली गुप्तचर यंत्रणा ‘मोसाद’ के प्रमुख योसी कोहेन में इसपर सहयोग जारी है, ऐसा दावा अमरीकास्थित अभ्यासगुट ‘फाऊंडेशन फॉर डिफेन्स ऑफ डेमोक्रसिज्’ के अध्यक्ष मार्क डुबोवित्झ ने किया।

इसी बीच, अमरिकी अख़बार तथा न्यूज़ एजन्सियों में प्रकाशित हो रहीं इन ख़बरों पर ट्रम्प प्रशासन ने प्रतिक्रिया नहीं दी है। वहीं, कुछ दिन पहले ईरान में हुई परमाणुवैज्ञानिक फखरीझादेह की हत्या के बारे में भी राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने एक लफ़्ज़ तक नहीं कहा है। ट्रम्प प्रशासन के अधिकारियों ने भी इस हत्या पर बयान देना टाला है।

English     मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info