Breaking News

इसके आगे का युद्ध काफी अलग होगा – अमरिकी रक्षामंत्री लॉईड ऑस्टिन

पर्ल हार्बर-हिकैम – ‘अमरीका और मित्रदेश नए प्रकार के युद्ध के लिए तैयार रहें। क्योंकि, इससे पहले हमने जो जंग लड़ी है उससे काफी अलग तरह का युद्ध भविष्य में करना होगा। इसके आगे थलसेना, नौसेना, वायुसेना के साथ ही अतंरिक्ष और सायबर क्षेत्र में भी अमरीका को संभावित संघर्ष के लिए तैयार रहना होगा और इसके लिए बड़े बदलाव करने पड़ेगे’, ऐसा इशारा अमरिकी रक्षामंत्री लॉईड ऑस्टिन ने दिया है। रक्षामंत्री ऑस्टिन सीधा ज़िक्र करने से दूर रहे हैं, फिर भी आगे अमरीका की सुरक्षा को चीन से खतरा होने की बात अमरीका की इंडो-पैसिफिक कमांड के निवृत्त हो रहे प्रमुख एडमिरल फिलिप डेविडसन ने स्पष्ट की।

अमरिकी रक्षामंत्री ने हाल ही में इंडो-पैसिफिक कमांड के हवाई द्विपों के पर्ल हार्बर-हिकैम अड्डों की यात्रा की। इंडो-पैसिफिक कमांड का ज़िम्मा अब तक एडमिरल डेविडसन के हाथों में था। लेकिन, शनिवार से यह ज़िम्मा एडमिरल जॉन ऐक्विनो के हाथों में दिया गया है। इस अवसर पर आयोजित समारोह में बोलते समय रक्षामंत्री ऑस्टिन ने अमरीका की सुरक्षा की ओर नए नज़रिये से देखना होगा, यह स्पष्ट किया।

‘बीते दो दशकों से हमने पुराने तरीके से जंग लड़ी है। लेकिन, इसके आगे नए युद्धों के लिए अमरीका को अपने रक्षाबलों में बड़े बदलाव करने पड़ेगे। इसके लिए हमें अतिप्रगत तकनीक प्राप्त करनी पड़ेगी। साथ ही विचार, निर्णय प्रक्रिया और उस पर कार्रवाई की गति काफी हद तक बढ़ानी पड़ेगी’, ऐसा बयान रक्षामंत्री ऑस्टिन ने किया। थलसेना, नौसेना, वायुसेना एवं अंतरिक्ष और सायबर क्षेत्रों के मोर्चों पर अमरीका को सुरक्षित रखने के लिए अमरीका के काम के तरीकों में बदलाव करने होंगे, यह सुझाव ऑस्टिन ने दिया।

भविष्य के इन युद्धों के लिए अमरीका को नई क्षमता विकसित करनी पड़ेगी, ऐसा सुझाव अमरिकी रक्षामंत्री ने दिया। लेकिन, पुख्ता कौनसे देश के विरोध में अमरीका को इस युद्ध की तैयारी करनी पड़ेगी या कौनसे देश से अमरीका की सुरक्षा को खतरा होगा, इसका स्पष्ट ज़िक्र करने से रक्षामंत्री ऑस्टिन दूर रहे। लेकिन, इंडो-पैसिफिक कमांड की सेवा से निवृत्त हो रहे कमांडर एडमिरल डेविडसन ने चीन ही अमरीका के लिए सबसे बड़ा खतरा होने का इशारा दिया।

‘अमरीका और चीन के बीच इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में सामरिक वर्चस्व स्थापित करने की होड़ शुरू होने की बात कही जा रही है। लेकिन, यह अमरीका और चीन के बीच जारी होड़ नहीं है बल्कि मुक्त और खुले इंडो-पैसिफिक क्षेत्र के लिए लोकतंत्र की समर्थक अमरीका और तानाशाही कम्युनिस्ट पार्टी के नियंत्रण वाले चीन की होड़ है’, ऐसे स्पष्ट शब्दों में एडमिरल डेविडसन ने चीन को लक्ष्य किया। इस क्षेत्र में शांति बरकरार रखनी है तो अमरीका को युद्ध करके इसे जीतना ही होगा, यह बयान भी डेविडसन ने किया है।

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info