रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमीर पुतिन ने किया ‘सरमात मिसाइल’ और ‘एस-५००’ की तैनाती का ऐलान

'S-500'

मास्को/किव – रशिया-यूक्रेन युद्ध लंबे समय तक चलने के संकेत प्राप्त हो रहे हैं और इसी दौरान रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमीर पुतिन ने अंतरमाद्वीपीय ‘सरमात मिसाइल’ और ‘एस-५००’ डिफेन्स सिस्टिम’ की तैनाती का ऐलान किया है। मिसाइल और डिफेन्स सिस्टि इस साल के अन्त तक रक्षाबलों में सक्रीय होंगे, यह ऐलान पुतिन ने मंगलवार को किया। फ़रवरी महीने के अन्त से शुरू यूक्रेन के सैन्य अभियान मे रशियन रक्षाबलों ने हायपरसोनिक मिसाइल एवं लेज़र वेपन्स का इस्तेमाल करने की बात पहले ही सामने आयी थी। इस पृष्ठभूमि पर राष्ट्राध्यक्ष पुतिन का यह ऐलान ध्यान आकर्षित कर रहा है।

रशिया ने पिछले डेढ़ महीनों में यूक्रेन अभियान में बड़ी सफलता प्राप्त करने की बात सामने आयी है। डोन्बास क्षेत्र के अहम स्थान और शहरों पर कब्ज़ा करनेवाली रशियन सेना ने यूक्रेन की सेना की स्थिति काफी खराब कर दी है। इससे पहले जीन शहरों से पीछे हटने के लिए मज़बूर हुए थे उन शहरों पर रशिया ने नए जोर से आक्रामक हमलें शुरू किए हैं। यूक्रेन के ईशान्य क्षेत्र में स्थित खार्किव से दक्षिणी ओर के ओडेसा तक के कई मोर्चों पर मिसाइल्स, रॉकेटस्‌ एवं तोंपों से लगातार हमलें हो रहे हैं। इस वजह से यूक्रेन काफी मुश्‍किलों से घिरा हैं और रशिया से जंग करना हर दिन कठिन हो रहा है, ऐसा बयान करते यूक्रेन का नेतृत्व सामने आ रहा है।

इस पृष्ठभूमि पर रशिया के राष्ट्राध्यक्ष ने परमाणु वाहक अंतरमहाद्वीपीय बैलेस्टिक ‘सरमात’ मिसाइल के साथ ‘एस-५००’ की तैनाती का ऐलान करना अहमियत रखता हैं। शुरू के दौर में रशियन रक्षाबल यूक्रेन में अधिक समय तक जंग नहीं कर सकेंगे, ऐसें दावे किए जा रहे थे। रशियन रक्षाबलों का बड़ा नुकसान होने की बात भी कही जा रही थी। लेकिन, पिछले कुछ दिनों में स्थिति बदली है और रशिया कम से कम सालभर तक यूक्रेन संघर्ष जारी रख सकेगी, ऐसी जानकारी सामने आयी है। संघर्ष लंबा चला तो रशिया अधिक प्रगत मिसाइल और रक्षा यंत्रणाओं के ज़रिये यूक्रेन एवं उसकी सहायता कर रहें मित्रदेशों को बड़ा नुकसान पहुँचा सकती हैं, ऐसें संकेत प्राप्त होने लगे हैं।

रशिया का परमाणु वाहक ‘सरमात’ मिसाइल प्रतिघंटा १६ हज़ार मील गति से धावा बोलती हैं और ११,२०० मील दूरी पर स्थित लक्ष्य को निशाना करने की क्षमता रखती है। ‘एस-५०० एअर डिफेन्स सिस्टिम’ विश्‍व की सबसे प्रगत हवाई सुरक्षा यंत्रणा होने की बात कही जाती है। इसके मिसाइल ६०० किलोमीटर्स मारक क्षमता रखती हैं और यह मिसाइल हायपरसोनिक मिसाइलों को भी नष्ट कर सकती हैं, ऐसा दावा रशिया ने किया है।

इसी बीच, रशिया ने बुधवार को लिशिचान्स्क, खेरसन एवं मायकोलेव शहरों में हमलें करने की जानकारी रक्षाबलों के प्रवक्तां ने साझा की। लिशिचान्स्क के करीबी अहम गांवों पर रशियन सेना ने नियंत्रण हासिल किया हैं और शहर का बचाव करना कठिन होने का दावा यूक्रेन के अधिकारियों ने किया।

English      मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info