Breaking News

व्हेनेजुएला के मदुरो इनकी स्थिति लिबिया के तानाशाह गद्दाफी की जैसी होगी – अमरिकी सिनेटर मार्को रुबिओ से रहस्यमयी चेतावनी

वॉशिंगटन/कॅराकस – व्हेनेजुएला के तानाशाह निकोलस मदुरो इनकी स्थिति लिबिया के पूर्व तानाशाह मुअम्मर गद्दाफी की जैसी होगी, ऐसा इशारा अमरिकी सिनेटर मार्को रुबिओ इन्होंने दिया है| सोशल मीडिया पर किए एक ट्विट में रुबिओ इन्होंने गद्दाफी के फोटो प्रसिद्ध करके यह चेतावनी दी| अमरिका के प्रमुख नेता व्हेनेजुएला के विरोध में लष्करी कार्रवाई करने के संकेत दे रहे है| ऐसे में रुबिओ इन्होंने गद्दाफी के फोटो प्रसिद्ध करने से अलग ही संकेत दिए जा रहे है, ऐसी चर्चा माध्यमों के साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शुरू हुई है|

रविवार की सुबह करीबन दस बजे अमरिका के रिपब्लिकन पक्ष के प्रमुख सिनेटर मार्को रुबिओ इन्होंने सोशल नेटवर्किंग साईट पर यह ट्विट किया| इस ट्विट में उन्होंने लिबिया के तानाशार मुअम्मर गद्दाफी के दो फोटो प्रसिद्ध किए| इसमें से एक फोटो में सफेद कोट, हरा शर्ट और गोगल लगाकर हांथ पर हांथ रखकर गद्दाफी दिख रहे है|

दुसरे फोटो में विरोधकों की मार से चेहरे पर खून के धब्बों के साथ गद्दाफी दिख रहे है| रुबिओ इन्होंने इन फोटो के साथ किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया नही लिखी है| उनके इस ‘ट्विट’ को लगभग ३२ हजार लोगों का लाईक्स मिला है और १८ हजार लोगों ने इन फोटों पर प्रतिक्रिया दर्ज की है| रुबिओ इन्होंने किए इस ट्विट पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तीव्र नाराजजी जताई गई है|

रुबिओ यह अमरिकी संसद के प्रभावी सिनेटर के तौर पर जाने जाते है और इस लिए ‘व्हेनेजुएला’ से संबंधी नीति तय करनेवाली कमिटी में उनका समावेश है| रविवार के दिन यह ट्विट करने से पहले उन्होंने व्हेनेजुएला में बढ रही हिंसा के मुद्दे पर आक्रामक वक्तव्य किया था| इस हिंसा की वजह से व्हेनेजुएला में अलग अलग प्रकार की कार्रवाई करने का अवसर उपलब्ध हुआ है, यह चेतावनी रुबिओ इन्होंने दी थी| साथ ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई देश इसी प्रकार की की कार्रवाई के लिए तैयार होने के संकेत भी उन्होंने दिए थे|

रुबिओ इनकी इस रहस्यमयी ‘ट्विट’ पर अमरिका के अन्य प्रमुख नेताओं से हो रहे वक्तव्य की पृष्ठभूमि है| रविवारके दिन अमरिकी विदेश मंत्री माईक पोम्पिओ इन्होंने दी मुलाकात में व्हेनेजुएला के तानाशाह निकोलस मदुरो इनके दिन पूरे हो रहे है, यह इशारा दिया था| जब तक मदुरो इन्हें यह एहसास नही होता, तब तक अमरिका मदुरो पर दबाव बना के रहेगी, ऐसा भी पोम्पिओ ने डटकर कहा था|

सोमवार के दिन अमरिका के उप राष्ट्राध्यक्ष माईक पेन्स कोलंबिया की राजधानी पहुंच रहे है और वह व्हेनेजुएला के अंतरिम राष्ट्राध्यक्ष जुआन गैदो इनकी भेंट करेंगे| इस भेंट के बाद पेन्स कुछ अहम ऐलान करने की संभावना होने का दावा सूत्रों ने किया है|

लिबिया के तानाशाह के तौर पर जाने जा रहे मुअम्मर गद्दाफी ने वर्ष १९६९ से २०११ तक चार दशकों से अधिक समय लिबिया की सत्ता संभाली थी| लेकिन, वर्ष २०११ में शुरू हुए ‘अरब स्प्रिंग’ के प्रदर्शनों के दौरान पश्‍चिमी देशों ने लिबिया में तानाशाह मुअम्मर गद्दाफी की सत्ता पलट दी थी| उसके बाद लिबियन जनता ने गद्दाफी को रास्ते पर खिंचकर खतम किया था|

व्हनेजुएला के राष्ट्राध्यक्ष बने मदुरो इनकी भी ऐसी ही स्थिति होगी, यह संकेत अमरिका से दिए जा रहे है| लेकिन, अमरिका के विरोध में रशिया, चीन, ईरान, तुर्की और क्युबा इन देशों ने मदुरो के पिछे अपना समर्थन खडा किया है| साथ ही व्हेनेजुएला में अमरिका ने लष्करी हस्तक्षेप किया तो उसके परीणाम खराब होंगे, यह चेतावनी इन देशों ने दी है|

इन गतिविविधयों की वजह से व्हेनेजुएला में अमरिकी एवं मित्र देशों के गठबंधन का मदुरो के समर्थन में उतरे देशों के साथ संघर्ष शुरू होने का चित्र स्पष्ट हो रहा है| इस वजह से व्हेनेजुएला ‘लैटिन अमरिका का सिरीया’ होने की संभावना स्पष्ट होने लगी है|

 

English   मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info