Breaking News

ईंधन टैंकर्स पर हुए हमलों के बाद अमरिका शांत नही रहेगी – राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प

वॉशिंगटन/तेहरान – ओमान की खाडी में ईंधन टैंकर्स पर हुए हमलों के लिए ईरान ही जिम्मेदार है, यह आरोप अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प इन्होंने किया। ईरान ने किए इन हमलों के बाद अमरिका शांत नही रह सकती, यह कडी चेतावनी भी राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने दी। अमरिका के विदेशमंत्री माईक पोम्पिओ ने ईंधन टैंकर्स पर हमलों के लिए ईरान ही जिम्मेदार होने के सबुत व्हिडिओ के जरिए प्रसिद्ध किए। उसके बाद ब्रिटेन, सौदी अरब और यूएई ने भी इन हमलों के लिए ईरान को जिम्मेदार कहा है। लेकिन, अमरिका के हाथ पुख्ता सबुत ना होने का कारण आगे रखकर ईरान ने यह सभी आरोप ठुकराए है

गुरूवार की सुबह ओमान की खाडी में नॉर्वे और जापान के ईंधन टैंकर्स पर हमला होने के बाद इस समुद्री क्षेत्र की गतिविधियां तेज हुई है। पिछले चौबिस घंटों में अमरिका ने ईरान के सामने और भी मुश्किलें खडी करना शुरू किया है। महीने पहले ही यूएई के फुजैराह बंदरगाह के निकट और गुरूवार के दिन ओमान की खाडी में ईंधन टैंकर्स पर ईरान ने ही हमलें करवाए है, यह कहा जा रहा है। अमरिकी गुप्तचर यंत्रणा ने दी जानकारी के आधार पर ही हम यह दावा कर रहे है, ऐसा पोम्पिओ ने स्पष्ट किया।

इसके लिए येमन की ईरान से जुडे हौथी बागियों ने सौदी के ईंधन पाईपलाईन पर किए ड्रोन हमले का दाखिला भी विदेशमंत्री पोम्पिओ ने दिया। इस वजह से ईंधन टैंकर्स पर हुए हमलों में ईरान का हाथ होने की संभावना ठुकराई नही जा सकती, ऐसा पोम्पिओ ने कहा। इसके बाद अमरिकी सेना ने जापान के ईंधन टैंकर का फोटो और व्हिडिओ प्रसिद्ध किए। इस व्हिडिओ में गश्ती पोत से पहुंचे ईरान के सैनिक जापान के ‘कोकूका’ टैकर से विस्फोट कराने में नाकामयाब साबित हुए सुरूंग निकालते देखे गए है। वही, फोटो में जापान के टैकर पर दो जगहों पर हमलें होने की बात दिख रही है।

इन दोनों सबुतों से ही ईंधन टैंकर्स पर हुए हमलों के लिए ईरान ही जिम्मेदार होने की सच्चाई अमरिकी सेनाने दिखाई है। राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने भी इन हमलों से जुडे प्राप्त सबुतों में हर जगह ईरान का ही नाम होने की बात कही है। अमरिकी सेना के व्हिडिओ के बाद ईरान की सच्चाई विश्‍व के सामने रखी गई है, यह ट्रम्प ने कहा। ‘फिलहाल अमरिका खाडी क्षेत्र की गतिविधियों पर कडी नजर रख रही है। लेकिन, अमरिका ज्यादा देर शांत नही रहेगी’, यह इशारा अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ने दी है।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ईरान की मुश्किल करने के लिए अमरिका की कोशिश हो रही है। ईंधन टैंकर्स पर हुए हमलों के लिए ईरान जिम्मेदार होने की बात स्पष्ट होने पर संयुक्त राष्ट्रसंघ ने जागतिक सुरक्षा को ईरान से बन रहा खतरा पहचाने, यह निवेदन अमरिका ने किया है। ब्रिटेन, सौदी अरब और यूएई ने भी ईंधन टैंकर पर हुए हमलों के लिए ईरान को ही जिम्मेदार कहा है। वही, अमरिका किसी भी प्रकार के पुख्ता सबुतों के बिना ही ईरान पर आरोप थोंप रहा है, यह दावा ईरान के विदेशमंत्री जावेद झरिफ ने किया। अमरिका और मित्रदेशों ने ईरान को फंसाने के लिए यह जाल बिछाया है, यह उल्टा आरोप विदेशमंत्री झरिफ ने रखा।

इस दौरान, खाडी क्षेत्र में बना तनाव कम करने के लिए संबंधित देश ईरान के साथ बातचीत करें, यह निवेदन चीन ने किया है। लेकिन, ईंधन टैंकर्स पर हमलें होते हुए ईरान के साथ बातचीत करना जल्दबाजी साबित होगी, यह कहकर ट्रम्प ने बातचीत की संभावना ठुकराई।

English     मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info