Breaking News

यूरोप में ‘सीक्रट मिशन’ को अंजाम देने अमरिका के तीन ‘बी-२ स्टेल्थ बॉम्बर्स’ ब्रिटेन पहुंचे

लंदन – अमरिका के काफी प्रगत लडाकू विमानों में से एक परमाणु हमला करने में सक्षम ‘बी-२ स्टेल्थ बॉम्बर्स’ मंगलवार रात ब्रिटेन के हवाई अड्डे पर उतरें है| यह बॉम्बर्स यूरोप में ‘सीक्रट मिशन’ के लिए ब्रिटेन पहुंचे है, यह दावा ब्रिटीश प्रसार माध्यम कर रहे है| ऐसे में अमरिका और ब्रिटेन के लष्करी प्रवक्ता ने ‘बी-२ स्टेल्थ बॉम्बर्स’ की ब्रिटेन में हुई यह तैनाती नाटो के प्रशिक्षण कार्यक्रम का हिस्सा होने की जानकारी दी गई है| अमरिकी रक्षा दलों में लगभग २० ‘बी-२ स्टेल्थ बॉम्बर्स’ तैनात है और यह विमान एक ही समय पर २० टन परमाणु बम के साथ उडान भरने की क्षमता रखते है|

‘Secret Mission’, missile tests, B-2 Stealth Bombers, nuclear weapons, training exercise, Europe, Iceland

अमरिका और रशिया के बीच हुई अहम ‘आईएनएफ ट्रिटी’ से दोनों देश पीछे हट चुके है| इसके बाद दोनों देशों ने आक्रामकता के साथ प्रगत मिसाइलों का परीक्षण करना शुरू किया है| अमरिका ने १ अगस्त के दिन परीक्षण करने के बाद रशिया ने थोडी ही समय में दो मिसाइलों का परीक्षण किया है और इनमें परमाणु मिसाइलों का भी समावेश है| साथ ही रशियन रक्षा दलों ने आर्क्टिक, ब्लैक सी, बाल्टिक सी में एक ही समय पर बडे तादाद में युद्धाभ्यास भी शुरू किया है| इस वजह से इन क्षेत्रों में बने तनाव में प्रति दिन बढोतरी होती दिखाई दे रही है|

इस पृष्ठभूमि पर अमरिका के परमाणु बॉम्बर्स ब्रिटेन पहुंचा ध्यान आकर्षित कर रहा है| अमरिकी वायुसेना के यूरोपियन कमांड ने इस संबंधी निवेदन प्रसिद्ध किया है| इसमें नाटो सदस्य देशों के प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए एवं इन विमानों के साथ यूरोपियन माहौल का अभ्यास हो इस लिए इन विमानों की तैनाती होने की जानकारी दी गई है| लेकिन, यह विमान पक्का कितने समय के लिए तैनात रहेंगे, यह जानकारी अभी देना टाल दिया गया है|

मंगलवार देर रात ब्रिटेन के हवाई अड्डे पर उतरने के बाद दुसरे ही दिन इन ‘बी-२ स्टेल्थ बॉम्बर्स’ विमानों ने आईसलैंड की दिशा में उडान भरी है, यह कहा गया| आईसलैंड में ‘केफलैविक एअरपोर्ट’ पर यह विमान करीबन दो घंटे रूके थे| इस दौरान ‘हॉट पीट रिफ्युएलिंग’ तकनीक का इस्तेमाल करके ईंधन भरने का अभ्यास किया गया है, यह जानाकी दी गई| आईसलैंड में अमरिका के ‘बी-२ स्टेल्थ बॉम्बर्स’ उतरने का यह पहला ही अवसर है| ब्रिटेन के हवाईअड्डे पर तैनात इन ‘बी-२ स्टेल्थ बॉम्बर्स’ ने ब्रिटेन के ‘एफ-३५ बी’ इन लडाकू विमानों के साथ कुछ देर युद्धाभ्यास भी किया|

फिलहाल ब्रिटेन के हवाई अड्डे पर तैनात अमरिका के यह बॉम्बर्स आगे कौन से देश में पहुंचेगे या ‘नाटो’ के कौन से युद्धाभ्यास में शामिल होंगे, इससे जुडी जानकारी अभी नही दी गई है| ब्रिटेन के प्रसारमाध्यमों ने ऐसा दावा किया है की, अमरिका के यह ‘बी-२ स्टेल्थ बॉम्बर्स’ यूरोप में ‘सीक्रट मिशन’ के लिए पहुंचे है|

अमरिकी वायुसेना में दो दशक पहले शामिल किए गए ‘बी-२ स्टेल्थ बॉम्बर्स’ यह वायुसेना के सबसे अधिक खतरनाक विमान के तौर पर जाने जाते है| राडार को चकमा देने, परमाणु बम एवं क्रूज मिसाइल के साथ उडान भरने की क्षमता रखने वाले इस विमान की किमत २.१ अरब डॉलर्स है| प्रति घंटा १०१० किलोमीटर गति से ११ हजार किलोमीटर से भी अधिक दूरी तक उडान भरने की क्षमता रखनेवाले इन विमानों का इस्तेमाल कोसोवो, अफगानिस्तान एवं सीरिया की मुहिम में किया गया था|

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info