ईरान की धमकी के बाद भी सिरिया में हमलें चालू रखने की इस्रायल की घोषणा – सिरिया में किये हमले में ईरान का कमांडर ढ़ेर

तेल अविव – अपने परमाणु वैज्ञानिक की हत्या का बदला लेने के लिए ईरान द्वारा इस्रायल के हैफा शहर को जलाकर राख करने की धमकियाँ दीं जा रहीं हैं। लेकिन हम ईरान के धमकियों की परवाह नहीं करते और सिरिया स्थित ईरान के स्थानों पर इस्रायल के हमलें चालू ही रहेंगे, ऐसी घोषणा इस्रायल के रक्षादलप्रमुख लेफ्टनंट जनरल अवीव कोशावी ने की। इसके चंद कुछ घंटों में ही सिरिया में किए ड्रोन हमले में ईरन के कुद्स फोर्सेस का वरिष्ठ कमांडर मारा गया होने की जानकारी सामने आ रही है।

ईरान में परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फखरीझादेह की हत्या के बाद तीख़ी प्रतिक्रियाएँ उमड़ रहीं हैं। ठेंठ ईरान में घुसकर की गयी, हमारे परमाणु वैज्ञानिक की हत्या के बाद भी शान्त रहना, यानी ऐसीं और हत्याओं को अनुमति देने जैसा साबित होगा। इस कारण, हत्या करानेवालों को लष्करी कार्रवाई के द्वारा सबक सिखाना चाहिए, ऐसी माँग ईरान में ज़ोर पकड़ रही है। फखरीझादेह की हत्या का आरोप इस्रायल ने ठुकराया है। साथ ही, ईरान अथवा ईरान से जुड़े गुटों द्वारा इस्रायल पर हमला किये जाने की संभावना को ख़ारिज नहीं कर सकते, ऐसा इस्रायल ने स्पष्ट किया है।

रक्षादलप्रमुख लेफ्टनंट जनरल कोशावी ने भी रविवार के दिन गोलान पहाड़ियों की सिरिया सीमा की भेंट करने के बाद यही कहा है कि ईरान तथा ईरान से जुड़े गुटों के हमलों को प्रत्युत्तर देने के लिए हमारा देश सिद्ध है। ‘सिरिया में ईरान की जमी हुई सेना के खिलाफ़ इस्रायल की कठोर कार्रवाई इसके आगे भी जारी रहेगी। इस्रायल की सुरक्षा के लिए ख़तरा बन सकनेवाले ईरान के स्थानों पर कार्रवाई करने के लिए इस्रायल पूरी तरह सिद्ध है’, ऐसा कोशावी ने स्पष्ट किया। इस भेंट के दौरान इस्रायल के रक्षादलप्रमुख, सिरिया के गोलान इलाक़े में हमले करनेवाले इस्रायली लष्करी अधिकारियों से मिले।

इसी बीच, ईशान्य सिरिया के ‘अल कईम’ शहर में रविवार को हुए ड्रोन के हमले में ईरान के कुद्स फोर्सेस का वरिष्ठ कमांडर तथा अन्य दो जवान मारे गये होने की जानकारी स्थानीय माध्यमों ने साझा की। इराक की सीमा के नज़दीक होनेवाले ‘अल कईम’ से कुद्स फोर्सेस के कमांडर की गाड़ी गुज़र रही थी, तब यह हमला हुआ। इराक की सीमा से नज़दीक यह हमला हुआ होने के कारण यह संभावना भी जतायी जा रही है कि शायद अमरीका ने यह ड्रोन हमला किया हो।

लेकिन इस्रायली माध्यम इस बात पर ग़ौर फ़रमा रहे हैं कि कोशावी के ऐलान के बाद सिरियास्थित कुद्स फोर्सेस के कमांडर पर यह कार्रवाई हुई है। कुछ दिन पहले, सिरिया-इराक के सीमावर्ती प्रदेश के अल-बुकमल इलाक़े में ईरान के अड्डों पर हुए हवाई हमलों के पीछे इस्रायल होने का आरोप सिरियास्थित मानवाधिकार संगठन ने किया था।

English    मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info