Breaking News

‘आयएस’ के हजारों आतंकी सीरिया से लीबिया पहुंचे है – जॉर्डन के राजा अब्दुल्लाह का इशारा

अम्मान – ‘सीरिया में ‘आयएस’ के आतंकियों का प्रभाव कम नही हुआ है, बल्कि वह अब और भी बढ चुका है| क्यों की हजारों की संख्या में मौजूद इन आतंकियों की सीरिया से लीबिया में तस्करी की गई है| लीबिया में इन आतंकियों की मौजुदगी अब यूरोपिय देशों के लिए सबसे बडा खतरा बनता है’, यह इशारा जॉर्डन के राजा अब्दुल्लाह ने दिया है| फ्रान्स के नामांकित समाचार चैनल से की बातचीत के दौरान राजे अब्दुल्लाह ने यह जानकारी साझा की| ‘आयएस’ की यह हरकत जीन देशों के लिए खतरा साबित होगी, वह सभी देश एक होने की आश्यकता है, यह निवेदन भी जॉर्डन के राजा ने किया|

     

इस हफ्ते के आखरी दिनों में यूरोपिय नेता लीबिया की स्थिति पर बातचीत करने के लिए बु्रसेल्स में मिल रहे है| जॉर्डन के राजा अब्दुल्लाह भी इस बैठक में मौजुद रहेंगे| इस पृष्ठभूमि पर फ्रान्स के समाचार चैनल से बातचीत करते समय राजा अब्दुल्लाह ने लीबिया एवं आगे यूरोपिय देशों के सामने खडे हो रहे ‘आयएस’ के खतरे का एहसास कराया है|

‘पिछले वर्ष से ‘आयएस’ के आतंकियों ने इराक और सीरिया की सीमा क्षेत्र में अपना प्रभाव बढाया है| इन आतंकियों से खाडी देशों के साथ ही यूरोपिय देशों के लिए भी खतरा बना है| क्यों की सीरिया के इदलिब के हजारों आतंकियों को उत्तरी सीरिया के रास्ते जहाज में भरभर कर लीबिया में उतारा जा रहा है| ‘आयएस’ के आतंकी यूरोप से काफी नजदिक पहुंच चुके है’, यह इशारा राजा अब्दुल्लाह ने दिया है|

‘आयएस’ के आतंकियों की सीरिया से लीबिया में हो रही तस्करी किसी सहायता से हो रही है, इस मुद्दे पर राजा अब्दुल्लाह ने बयान नही किया है| पर, इससे पहले लीबिया के बागी सेनाप्रमुख जनरल खलिफा हफ्तार ने ‘आयएस’ और तुर्की में मित्रता होने का आरोप किया था| तुर्की, ‘आयएस’ के आतंकियों को विमान में बिठाकर लीबिया में उतार रहा है, यह आरोप हफ्तार ने किया था| लीबिया की सराज हुकूमत की सुरक्षा के लिए तुर्की त्रिपोली में प्रधानमंत्री दफ्तर के आस पास ‘आयएस’ के आतंकियों को तैनात कर रहा है, यह दावा भी हफ्तार ने किया था|

ऐसी स्थिति में ‘आयएस’ के हजारों आतंकी सीरिया से लीबिया पहुंचने के मुद्दे पर जॉर्डन के राजाने की दी हुई चेतावनी की अहमियत बढ रही है|

हिंदी   मराठी 

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info