Breaking News

अमरिकी संसद ने राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प पर रखा महाभियोग का प्रस्ताव ठुकराया

वॉशिंग्टन – अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प के विरोध में रखा गया महाभयिोग का प्रस्ताव संसद ने ठुकराया है| बुधवार के दिन अमरिकी संसद की सिनेट में ‘महाभियोग’ संंबंधित दो प्रस्तावों पर वोट किया गया| यह दोनों प्रस्ताव संसद ने बहुमत के साथ ठुकराए है और यह घटना ट्रम्प के विरोधकों के लिए बडा झटका समझा जा रहा है| डोनाल्ड ट्रम्प ने इस निर्णय का स्वागत किया है और संसद में प्राप्त यह जीत विद्यमान वर्ष के अंत में होनेवाले राष्ट्राध्यक्ष पद के चुनाव में अहम घटक साबित होगी, यह मत विश्‍लेषकों ने व्यक्त किया है|

पिछले वर्ष राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने युक्रैन के राष्ट्राध्यक्ष वोलोदिमिर झेलेन्स्की को किए फोन में डेमोक्रैट पक्ष के नेता और उमीदवार जो बिडेन के मामले को लेकर दबाव बनाने की कोशिश की, यह दावा विरोधक कर रहे थे| राष्ट्राध्यक्ष स्तर के व्यक्ति ने इस तरह का बरताव करना उचित नही है, यह आरोप करके उनके विरोध में कानूनी कार्रवाई करने की मांग की गई थी| राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प पर सत्ता का गलत इस्तेमाल और संसद के काम में अडंगा लाने के दो आरोप रखे गए थए|

अमरिकी संसद के कनिष्ठ सभागृह हाउस ऑफ रिप्रेझेंटेटिव्ह में डेमोक्रैट पक्ष का वर्चस्व है| इसमें राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प के विरोध में कार्रवाई करने का प्रस्ताव २३० बनाम १९७ मतों से पारित हुआ था| दिसंबर महीने में हुए वोट के बाद यह प्रस्ताव वोटिंग के लिए सिनेट में दाखिल हुआ था| अमरिकी नियमों के अनुसार सिनेट में यह प्रस्ताव पारित होने के लिए दो तिहाई बहुमत आवश्यक था| पर, सिनेट में ट्रम्प के रिपब्लिकन पक्ष के बहुमत होने से महाभियोग का प्रस्ताव पारित होना नामुमकिन समझा जा रहा था| 

बुधवार के दिन हुए वोट में में इसकी पुष्टी हुई है और दोनों प्रस्ताव ५२ बनाम ४८ और ५३ बनाम ४७ मतों से ठुकराए गए| पहले प्रस्ताव के दौरान रिपब्लिकन पार्टी के सिनेटर मिट रोम्नी ने विरोध में मतदान करने की बात स्पष्ट हुई| राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने अमरिकी जनता ने रखें भरोसे का गलत इस्तेमाल किया, इन शब्दों में रोम्मी ने अपने विरोधी मत का समर्थन किया|

संसद ने महाभियोग की प्रक्रिया शुरू करके सिनेट ने यह प्रस्ताव ठुकराने की अमरिकी इतिहास की यह तिसरीं घटना है| इससे पहले ‘अँड्य्रू जॉन्सन’ और ‘बिल क्लिंटन’ के विरोध में महाभियोग की कार्रवाई की गई थी| दोनों राष्ट्राध्यक्षों के विरोध में कार्रवाई करने के लिए रखा सिनेट ने ठुकराया था|

राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प के विरोध में रखा प्रस्ताव राष्ट्राध्यक्ष पद के चुनावी वर्ष में ही ठुकराया गया है| ट्रम्प ने लगातार अपने विरोध में रखें आरोप ठुकराए है और साथ ही विरोधकों की यह कार्रवाई यानी खोखलें दावे होने की बात कही थी| महाभियोग नाकाम होने से ट्रम्प को इस वर्ष के अंत में होनेवाले चुनाव में बडा लाभ प्राप्त होगा, यह संकेत भी विश्‍लेषकों ने दिए है|

English   मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info