Breaking News

चीन के दिखाए गलत दिशा में आगे ना बढें – अमरिका ने दी यूरोपिय देशों को चेतावनी

म्युनिक  – ‘राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंग के नेतृत्व में चीन और चीन की शासक कम्युनिस्ट पार्टी काफी तेजी से गलत दिशा में आगे बढ रहे है| जनता का हो रहा दमन, दुसरें देशों की लुट करनेवाली गलत आर्थिक निति और काफी आक्रामक लष्करी गतिविधियां यही दिखानेवाली है| चीन अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था का गलत इस्तेमाल कर रहा है और उसे हम सभीयों को एक होकर रोकना होना’, इन शब्दों में अमरिकी रक्षामंत्री मार्क एस्पर ने यूरोपिय देशों को चीन की निति और सहायता से दूर रहने की चेतावनी दी|

  Munich Security Conference, security meeting, President Xi, Chinese policies, criticism, US, Europe, Hong Kong  Munich Security Conference, security meeting, President Xi, Chinese policies, criticism, US, Europe, Hong Kong  Munich Security Conference, security meeting, President Xi, Chinese policies, criticism, US, Europe, Hong Kong

जर्मनी के म्युनिक शहर में अंतरराष्ट्रीय सुरक्षासंबंधित परिषद हो रही है और इसमें दुनिया के प्रमुख देशों के नेता, अफसर एवं विशेषज्ञ उपस्थित है| अमरिकी रक्षामंत्री मार्क एस्पर, विदेशमंत्री माईक पोम्पिओ, सभापति नैन्सि पेलोसी, वरिष्ठ नेता लिंडसे ग्रॅहम इस परिषद का हिस्सा बने है| इन सभी नेताओं ने वर्णित परिषद में किए वक्तव्य में बडी आक्रामकता से चीन के विरोध में भूमिका रखी है| इसमें भी रक्षामंत्री एस्पर और विदेशमंत्री पोम्पिओ ने किए बयान ध्यान आकर्षित करनेवाले साबित हुए है|

चीन की तुलना रशिया और ईरान से करके इन दोनों देशों की तरह उतना ही चीन भी अमरिका और यूरोप के लिए खतरा होने का इशारा पोम्पिओ ने दिया| इस दौरान उन्होंने पांच मुद्दों का जिक्र करके यूरोप को उचित सावधानी बरतने की सलाह दी| इसमें, हुवेई कंपनी, चीन की समुद्री महत्वाकांक्षा, तैवान, हॉंगकॉंग की आवाज दबाने के लिए जारी गतिविधियां, अमरिका एवं यूरोप की राजनिति पर प्रभाव बनाने की कोशिश और आर्क्टिक में बढ रहे प्रभाव के मुद्दों का उन्होंने जिक्र किया|

अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने लगातार पिछले तीन वर्षों से चीन के विरोध में बडी अग्रहता से चीन विरोधी भूमिका का पुरस्कार किया है| चीन के साथ शुरू किया हुआ व्यापारयुद्ध, तैवान के मुद्दे पर किए निर्णय, चीन के विरोध में अलग अलग देशों का मोर्चा तैयार करने में की हुई पहल, चीन की कंपनियों को रोकने के लिए जारी किए आदेश ट्रम्प का कडा चीन विरोष स्पष्ट करनेवाले है| राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प की इस निति पर अमरिका के अन्य नेता बार बार बयान कर रहे है और विदेशमंत्री पोम्पिओ इसमें सबसे आगे रहे है|

पिछले छह महीनों में पोम्पिओ ने अमरिका के अलग अलग कार्यक्रमों समेत विदेश यात्रा एवं अंतरराष्ट्रीय बैठकों में लगातार चीन की बढती स्पर्धा और चीन ने खडी की हुई चुनौतियों को लक्ष्य किया है| म्युनिक सुरक्षा परिषद जैसे अहम व्यासपीठ पर भी आक्रामक भाषा में चीन विरोधी भूमिका रखकर उन्होंनें अमरिका की निति में बदलाव नही होगा, यह भी स्पष्ट किया| अमरिका के प्रमुख नेताओं से हो रही आलोचना को चीन के विदेशमंत्री वैंग यी ने जवाब दिया है|

अमरिका के वरिष्ठ नेताओं से चीन पर आलोचना हो रही है और यह नेता कही भी पहुंचे यही बातें दोहराते रहते है, ऐसी फटकार चीन के विदेशमंत्री ने लगाई| साथ ही अमरिकी नेताओं के बयान झुठे होने का दावा भी वैंग यी ने किया है|

English     मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info