Breaking News

चीन का खतरा बढ़ रहा है – तैवान की राष्ट्राध्यक्षा का इशारा

तैपेई – बीते कुछ दिनों में देखी गई चीन की आक्रामक गतिविधियां उसकी अंतरराष्ट्रीय प्रतिमा के हित में यकिनन नहीं हैं। इन गतिविधियों ने तैवान की जनता को भी चीन को लेकर अधिक चौकन्ना किया है। चीन की कम्युनिस्ट हुकूमत का असली चेहरा तैवान के सामने आया है। साथ ही इस क्षेत्र के अन्य देशों को भी चीन के बढ़ते खतरे का उचित अहसास हुआ होगा, यह उम्मीद है, इन शब्दों में तैवान की राष्ट्राध्यक्षा त्साई र्इंग वेन ने चीन की गतिविधियां बड़ा गंभीर खतरा होने का इशारा दिया। चीन ने तैवान के समुद्री क्षेत्र के करीब बड़ा युद्धाभ्यास शुरू किया है और इससे पहले तैवान की हवाई सीमा में चीन के 37 लड़ाकू विमानों ने घुसपैठ करने की कोशिश की थी।

शुक्रवार और शनिवार के लगातार दो दिन चीन के लड़ाकू विमानों ने तैवान की सीमा में घुसपैठ करने की कोशिश करके दबाव बढ़ाने की कोशिश की। शुक्रवार को 18 और शनिवार को 19 विमानों ने तैवान की सीमा पर पहुँचकर घुसपैठ करने की कोशिश की थी, यह जानकारी तैवान के रक्षा मंत्रालय ने साझा की। लगातार दो दिन इतनी बड़ी संख्या में घुसपैठ करने की कोशिश होने का यह पहला अवसर है। इस घुसपैठ के बाद चीन के रक्षाबल ने तैवान के समुद्री क्षेत्र के करीब नए युद्धाभ्यास की शुरूआत करने की बात भी सामने आयी थी। इस युद्धाभ्यास में युद्धपोत, विध्वंसक, लड़ाकू और बॉम्बर्स विमान, पनडुब्बियां और हेलिकॉप्टर्स का समावेश था। इसके बाद चीन ने एक वीड़ियो जारी करके चीन के बॉम्बर विमान अमरीका के गुआम स्थित रक्षा अड्डे पर हमला करते हुए दिखाए थे।

तैवान की राष्ट्राध्यक्षा त्साई र्इंग वेन ने चीन की इन हरकतों की ओर ध्यान आकर्षित करते समय इसमें देखी गई आक्रामकता और खतरा और भी बढ़ने का अहसास कराया। एक मित्र तैवान को भेंट देने पहुँचा था तब चीन ने की हुई गतिविधियां उकसानेवाली हैं, यह इशारा भी तैवान की राष्ट्राध्यक्षा ने दिया। साथ ही चीन से सिर्फ तैवान को ही खतरा नहीं है बल्कि इस खतरे का दायरा बढ़ रहा है यह इशारा भी उन्होंने दिया। त्साई र्इंग वेन ने इस बार दुबारा अंतरराष्ट्रीय समुदाय को चीन के खतरे की ओर ध्यान देने के लिए आवाहन भी किया।

इसी बीच, अमरीका में नियुक्त तैवान के प्रतिनिधि शिआओ बी खिम ने सोशल मीडिया पर जारी जानकारी में स्वयं को राजदूत कहा है और इस पर चीन ने तीव्र प्रतिक्रिया दर्ज़ की है। तैवान के शासक चीन और तैवान के संबंध बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं और यह बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा, ऐसा इशारा चीन के प्रवक्ता ने दिया। इस दौरान संयुक्त राष्ट्रसंघ में नियुक्त अमरिकी राजदूत ने तैवान के प्रतिनिधियों से की हुई मुलाकात पर भी चीन ने नाराज़गी व्यक्त कीक्षा।

English    मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info