Breaking News

तैवान के ‘क्रूज़ मिसाइल्स’ चीन के ठिकानों को लक्ष्य करने के लिए तैयार

तैपेई – चीन ने तैवान पर कब्जा करने की रिहर्सल शुरू करने की धमकियां देना शुरू किया है और तैवान ने भी प्रतिहमले के लिए जोरदार तैयारी करने की जानकारी सामने आ रही है। तैवान के रक्षा विभाग ने चीन के लष्करी ठिकानों पर हमले करने की क्षमता वाले स्वदेशी ‘वैन चिएन’ नामक हवां से ज़मीन पर हमला करनेवाले अपने ‘क्रूज़ मिसाइल्स’ विकसित किए हैं। 200 किलोमीटर से अधिक दूरी तक हमला करने के लिए सक्षम यह मिसाइल्स चीन के फुजीआन और ग्वांगडाँग प्रांत में मौजूद लष्करी अड्डों को लक्ष्य कर सकेंगे, ऐसा दावा तैवानी माध्यमों ने किया है। यह मिसाइल्स तैवान ने विकसित किए स्वदेशी लड़ाकू विमानों पर तैनात किए गए हैं। चीन के हमले को प्रत्युत्तर देने के लिए अहम साबित होनेवाले ‘माकुंग बेस’ पर ‘वैन चिएन मिसाइल्स’ तैनात होने की जानकारी सूत्रों ने प्रदान की।

‘क्रूज़ मिसाइल्स’

बीते कुछ महीनों में तैवान के मुद्दे पर अमरीका और चीन के बीच युद्ध शुरू होगा, ऐसे इशारे अलग अलग अभ्यासगुट एवं विश्‍लेषक लगातार दे रहे हैं। चीन ने तैवान के खिलाफ़ अपनी गतिविधियां बढ़ाने की बात भी दिखाई दे रही है और चीन में हुई बैठक के दौरान कम्युनिस्ट पार्टी के वरिष्ठ नता ने एवं लष्करी अधिकारियों ने तैवान पर हमला करने के लिए यह समय उतिच होने की भूमिका बड़ी तीव्रता के साथ रखी थी। कुछ दिन पहले चीन के रक्षाबलों ने तैवान की खाड़ी में बड़े युद्धाभ्यास का आयोजन किया था। संप्रभुता की सुरक्षा और उकसानेवाली हरकतों के खिलाफ़ तैयारी रखने के उद्देश्‍य से इस युद्धाभ्यास का आयोजन किया गया था, यह जानकारी चीन के प्रवक्ता ने साझा की थी।

इस महीने में चीन की ‘पिपल्स लिब्रेशन आर्मी’ ने तैवान की सीमा के करीब चौथी बार युद्धाभ्यास का आयोजन किया था। यह युद्धाभ्यास यानी तैवान पर हमला करने की रिहर्सल होने के दावे भी चीन के प्रसारमाध्यमों ने किए थे। तैवान ने भी अब इसकी पुष्टी की है और तैवान पर हमला करने की तैयारी चीन कर रहा है, ऐसी चिंता तैवानी मंत्री एवं अफ़सरों ने व्यक्त की है।

‘क्रूज़ मिसाइल्स’

अमरीका के वरिष्ठ अधिकारियों ने तैवान की एक के बाद एक लगातार यात्रा करने से चीन बौखला गया है और चीन के रक्षाबलों ने तैवान में गश्‍त एवं घुसपैठ करने की कोशिश जारी रखी है। इस पृष्ठभूमि पर तैवान ने भी आक्रामक रवैया अपनाया है और युद्ध की तैयारी के लिए तेज़ कदम उठाना शुरू किया है। चीन ने हमला करने पर प्रत्युत्तर देने के लिए तैवान की खाड़ी में मौजूद अपने लष्करी ठिकानों पर बड़ी मात्रा में आवश्‍यक तैयारी करना शुरू किया है। चीन के लष्करी ठिकाने और युद्धपोतों को लक्ष्य करने के लिए स्वदेशी लड़ाकू विमान और वैन चिएन जैसे मिसाइल्स तैनात करना तैवान की इसी तैयारी का हिस्सा है। ‘वैन चिएन’ का मतलब ‘टेन थाउज़ंड स्वर्ड्स’ होता है और यह मिसाइल्स चीन की ‘एअर डिफेन्स सिस्टम’ को भी चकमा देने की क्षमता रखती है, यह बात भी कही जा रही है।

‘क्रूज़ मिसाइल्स’

दो दिन पहले तैवान की राष्ट्राध्यक्षा ‘त्साई र्इंग वेन’ ने ‘एफ-16’ लड़ाकू विमानों से सज्जित माकुंग हवाई अड्डे को भेंट दी थी। इस दौरान उन्होंने अपनी संप्रभुता की सुरक्षा के लिए तैवान तैयार है, यह इशारा भी दिया था। इसी अड्डे पर ‘वैन चिएन’ मिसाईलों से सज्जित स्वदेशी लड़ाकू विमान तैनात किए गए हैं। तैवान की राष्ट्राध्यक्षा की भेंट के बाद इसके आगे चीन की युद्धपोत और विमानों ने घुसपैठ की कोशिश की तो तैवान अपनी आत्मरक्षा के अधिकार का इस्तेमाल करने से हिचकिचाएगा नहीं, यह इशारा तैवान के रक्षा मंत्रालय ने दिया था।

English   मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info