Breaking News

नातांझ न्यूक्लियर प्लांट में हुए विस्फोट में ईरान के प्रवक्ता कमालवंदी जख्मी – अमरिकी अखबार का दावा

कमालवंदी जख्मी, विस्फोट, बेहरोझ कमालवंदी, प्रवक्ता, नातांझ, ब्लैक आउट, ईरान, TWW, Third World War

न्यूयॉर्क/तेहरान – ईरान के नातांझ न्यूक्लियर प्लांट में रिमोट कंट्रोल द्वारा विस्फोट करवाया गया। इस विस्फोट में ईरान के परमाणु ऊर्जा आयोग के प्रवक्ता बेहरोझ कमालवंदी जख्मी हुए होकर, उन्हें अस्पताल दाखिल किया गया, ऐसी सनसनीखेज खबर अमरीका का शीर्ष अखबार ‘द न्यूयॉर्क टाईम्स’ ने दी है। हालांकि इस खबर की पुष्टि नहीं की गई है, फिर भी जख्मी हुए कमालवंदी की फोटोग्राफ्स और वीडियो प्रकाशित हुए हैं। अब तक ईरान के नातांझ न्यूक्लियर प्लांट की सुरक्षा में हुई यह सबसे बड़ी ढिलाई है, ऐसा इस अखबार ने कहा है। इस्रायली माध्यमों में अमरिकी अखबार की इस खबर का बड़ा चर्चा चल रहा है।

रविवार सुबह ईरान के नातांझ न्यूक्लियर प्लांट में ब्लैक आउट हुआ था। शुरू शुरू में यह एक अपघात होने का दावा करनेवाले ईरान ने सोमवार को, इसके पीछे इस्रायल होने का दोषारोपण किया। न्यूक्लियर प्लांट पर हमला यानी परमाणु आतंकवाद है, ऐसा बताकर, इस्रायल का बदला लेने की धमकी ईरान के विदेश मंत्री जावेद झरिफ ने दी। इस हमले के कारण ईरान का परमाणु कार्यक्रम नौं महीने पिछड़ गया होने का दावा अमरिकी अखबार ने किया। हालांकि ईरान ने यह दावा ठुकराया है, फिर भी प्लांट के हमले के बारे में अधिक जानकारी सार्वजनिक नहीं की है।

कमालवंदी जख्मी, विस्फोट, बेहरोझ कमालवंदी, प्रवक्ता, नातांझ, ब्लैक आउट, ईरान, TWW, Third World War

लेकिन अमरिकी अखबार ने नातांझ न्यूक्लियर प्लांट में रिमोट कंट्रोल की सहायता से विस्फोट कराया होने की खबर मंगलवार को प्रकाशित की। गुप्तचर यंत्रणा के अधिकारी का हवाला देकर अमरिकी अखबार ने यह दावा किया। इस विस्फोट में प्लांट में प्राथमिक तथा बैकअप के लिए होने वाली इलेक्ट्रिकल यंत्रणा खराब हुई। इस विस्फोट में ईरान के परमाणु ऊर्जा आयोग के प्रवक्ता कमालवंदी भी घायल हुए। उनका सर, पीठ, हाथ और पैर को जख्म हुए होकर, स्थानीय पत्रकार ने जख्मी कमालवंदी का वीडियो जारी किया है।

कमालवंदी जख्मी, विस्फोट, बेहरोझ कमालवंदी, प्रवक्ता, नातांझ, ब्लैक आउट, ईरान, TWW, Third World War

इस वीडियो में कमालवंदी ने विस्फोट की तीव्रता की जानकारी दी। इस विस्फोट के कारण प्लांट में ७ मीटर गहराई का गड्ढा तैयार हुआ, उसमें मैं गिर गया, लेकिन हेलमेट होने के कारण मैं बच गया, ऐसा कमालवंदी ने कहा है। इस विस्फोट के कारण ईरान की सुरक्षा यंत्रणा की क्षमता पर सवाल उपस्थित हुआ है, ‘द न्यूयॉर्क टाईम्स’ ने कहा है।

मंगलवार को रशिया के विदेश मंत्री सर्जेई लॅव्हरोव्ह के साथ हुई चर्चा के बाद ईरान के विदेश मंत्री झरिफ ने, नातांझ में घातपात करवाकर इस्रायल ने जुए की भयंकर चाल चली होने का आरोप किया है। इससे पहले ही ईरान ने इस्रायल का बदला लेने की धमकी दी थी।

इस्रायल ने इस मामले पर प्रतिक्रिया नहीं दी है। लेकिन इस्रायल के पूर्व प्रधानमंत्री एहूद ओल्मर्ट ने, मंगलवार को स्थानीय न्यूज़ एजेंसी से वार्तालाप करते हुए बड़ा दावा किया। ‘एक ही रात में किसी ने घुसकर यह मुहिम कामयाब नहीं की है। शायद १०-१५ साल पहले ही इस जगह पर ये विस्फोटक बिछाए गए होंगे’, ऐसा चौका देनेवाला बयान ओल्मर्ट ने किया है। इससे पहले इस्रायल ने नातांझ न्यूक्लियर प्लांट पर साइबर हमले किए थे। वहीं, इस्रायल के गुप्तचर प्रमुख योसी कोहेन ने तो, स्वयं ही ईरान के न्यूक्लियर प्लांट में घुसकर संवेदनशील कागजात हासिल करने की जानकारी सामने आई थी। साथ ही, ईरान के परमाणु वैज्ञानिक फखरिझादेह को इस्रायल ने खत्म किया था। वहीं, अब नातांझ के न्यूक्लियर प्लांट में हुए विस्फोट की तैयारी १० से १५ साल पहले ही हुई हो सकती है, ऐसा बताकर इस्रायल के पूर्व प्रधानमंत्री ने इस संदर्भ में रहस्य को अधिक ही बढ़ाया है।

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info