Breaking News

अमरीका के तालिबान पर जोरदार हवाई हमले – तालिबान ने किया बांध पर कब्ज़ा – लड़कियों की पाठशाला को भी किया बंद

काबुल – अमरीका ने अफ़गानिस्तान से सेना की वापसी शुरू की है, लेकिन आतंकवाद विरोधी कार्रवाई रोकी नहीं है। अमरीका के लड़ाकू विमानों ने हेल्मेंड प्रांत में तालिबान के ठिकानों पर जोरदार हवाई हमले करने की जानकारी अमरिकी अफसर ने साझा की है। इस कार्रवाई की वजह से तालिबान को आगे बढ़ने पर रोक लगी और इससे अफ़गान सेना की बड़ी सहायता होने का दावा किया जा रहा है। लेकिन, अफ़गानिस्तान के अन्य हिस्सों में तालिबान ने हमले तेज़ किए हैं। तालिबान ने अफ़गानिस्तान के बड़े बांध पर कब्ज़ा किया है। साथ ही लोगार प्रांत में लड़कियों की पाठशाला को भी तालिबान ने बंद किया होने की खबर है।

बीते चौबीस घंटों के दौरान अफ़गान सेना ने देश के सात प्रांतों में कार्रवाई करके १७९ तालिबानियों को मार गिराया है। अफ़गानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ने यह जानकारी प्रदान की। कंधार, बदघीस, बलख, फराह, हेल्मंड, तखर और कुंदूज़ प्रांतों में की गई कार्रवाई के दौरान ९१ तालिबानी घायल भी हुए हैं। इनमें से हेल्मंड प्रांत में की गई कार्रवाई का अफ़गान रक्षा मंत्रालय ने विशेष ज़िक्र किया है। सिर्फ हेल्मंड प्रांत में हुई कार्रवाई के दौरान ४३ तालिबानी मारे गए हैं।

अमरीका के लष्करी अफसर ने अमरिकी समाचार चैनल से बातचीत करते समय हेल्मंड में हुई कार्रवाई का ज़िक्र किया। हेल्मंड के लश्‍कर गह इलाके पर कब्ज़ा करने के लिए तालिबान ने अफ़गान सेना पर हमले किए थे। लश्‍कर गह पर तालिबान का कब्ज़ा ना हो, इस मंशा से अमरीका के लड़ाकू विमानों ने तालिबान पर जोरदार हवाई हमले करने की जानकारी संबंधित अमरिकी अफसर ने प्रदान की। कुछ दिन पहले इन हमलों को अंजाम दिया गया है, ऐसा इस अफसर ने कहा।

स्थानीय अफ़गान अधिकारी अतिकुल्लाह ने भी अमरीका ने जोरदार हवाई हमले करने का बयान किया है। बीते कई वर्षों में हमने इतने तीव्र हमले होते हुए नहीं देखे हैं, ऐसा बयान अतिकुल्लाह ने कहा है। अमरीका ने यह हमले करने के लिए अफ़गानिस्तान में स्थित अपने हवाई अड्डे का इस्तेमाल किया या नहीं, यह बात अभी स्पष्ट नहीं हो सकी है। लेकिन, पर्शियन खाड़ी में तैनात अमरिकी विमान वाहक युद्धपोत ‘यूएसएस आयसेनहॉवर’ पर तैनात लड़ाकू विमानों ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया, ऐसे दावे कुछ लोगों ने किए हैं।

हेल्मंड प्रांत से पीछे हटने के लिए मजबूर होने के बावजूद तालिबान ने बीते चौबीस घंटों के दौरान अफ़गानिस्तान के अन्य हिस्सों में हमले तीव्र किए होने खबरें प्राप्त हो रही हैं। अफ़गानिस्तान के उत्तरी ओर के बघलान प्रांत के दो जिलों पर तालिबान ने कब्ज़ा किया है। इसी दौरान पाकतिका प्रांत के पुलिस प्रमुख को भी मार गिराया है। इसी बीच कंधार प्रांत में तालिबान ने अफ़गानिस्तान के जानेमाने समाचार चैनल के पत्रकार की गोली मारकर हत्या करने की घटना भी हुई है।

इसी कंधार प्रांत के ‘दाहला’ बांध पर तालिबान ने कब्ज़ा किया है। दाहला बांध अफ़गानिस्तान का दूसरे क्रमांक का बड़ा बांध है। इसी बांध पर कब्ज़ा करने से तालिबान अफ़गान सरकार और जनता को बंधक बना सकती है, ऐसी चिंता स्थानीय अफसर व्यक्त कर रहे हैं। इसी दौरान लोगार प्रांत में स्थित लड़कियों की माध्यमिक पाठशाला को तालिबान ने ताला लगाया है।

ऐसे में अमरिकी सेना की वापसी होने के बाद तालिबान यदि अफ़गानिस्तान की सत्ता की ड़ोर अपने हाथों में लेती है तो इस देश की महिलाओं-लड़कियों के अधिकार छीने जाएँगे, ऐसा ड़र अंतरराष्ट्रीय स्तर पर व्यक्त किया जा रहा है। लोगार प्रांत में तालिबान की इस कार्रवाई के बाद यह ड़र सच्चाई में उतरता हुआ दिख रहा है।

English  मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info