Breaking News

सीरिया में रशिया के सैनिकी प्लेन पर हमला – रशिया ने इस्रायल को जिम्मेदार ठहराते हुए जवाब देने की धमकी

दमास्कस – सीरिया के लताकिया प्रांत में सोमवार रात इस्रायलने किए हवाई हमलों की भीषण नतीजे सामने आ रहे है। इस्रायल के लड़ाकू विमान पर सीरिया के हवाई सुरक्षा सिस्टम ने प्रक्षेपास्त्रों का हमला किया जिसमें ये विमान गिराने के बदले रशिया का प्लेन मार गिराया। शुरुआत में ये प्लेन किसने गिराया, इस बारे में अलग खबरे प्रकाशित हुए थी जिससे यहॉं का तनाव काफी हद तक बढ गया। लेकिन ये प्लेन गलती से सीरियन हवाई सुरक्षा सिस्टम ने गिराया होगा लेकिन रशिया ने इसके लिए इस्रायल को ही जिम्मेदार ठहराया है। इसे जवाब देने का अधिकार हमारे पास है, ऐसी सूचक चेतावनी रशिया ने दी है।

सैनिकी प्लेन, हमला, एफ-१६, एस-२००, लड़ाकू विमान, सीरिया, ww3, तुर्कीसोमवार रात इस्रायली वायूसेना के ‘एफ-१६’ लड़ाकू विमान ने सीरिया के लताकिया प्रान्त में जोरदार हमले किए। लताकिया प्रान्त में रशियन नौसेना साथही वायूसेना का बेस है। साथही रशिया ने सीरिया को दी ‘एस-४००’ ये हवाई सुरक्षा सिस्टम भी यही पर तैनात की गई है। इसलिए अभी तक इस्रायल ने इस इलाके में हवाई हमले नहीं किए थे। लेकिन सोमवार रात इस्रायल के लड़ाकू विमान ने लताकिया पर घमासान हमले किए जिसमें १० लोक जख्मी हुए, ऐसा कहा जाता है। इनमें से दो हालत गंभीर बताई जाती है।

सैनिकी प्लेन, हमला, एफ-१६, एस-२००, लड़ाकू विमान, सीरिया, ww3, तुर्कीसीरिया द्वारा धमकी दी जा रही है कि, इस्रायल द्वारा सीरिया पर बार बार हमले हो रहे है, जिसके नतीजे गंभीर होगें। लेकिन सोमवार रात को रशियन बनावट की सीरियन हवाई सुरक्षा सिस्टम ‘एस-२००’ ने इस्रायल ने लड़ाकू विमान को निशाना बनाते हुए हमले किए। इस सिस्टम द्वारा प्रक्षेपित किए गए प्रक्षेपास्त्रों ने इस्रायल के ‘एफ–१६’ विमान को निशाना बनाने के बजाए गलती से रशिया के गश्ती प्लेन को ही निशाना बनाया। शुरूआती दौर में इस्रायल के हमले के बाद रशिया का ये प्लेन रडार से गायब होने के दावे किए गए थे। वहीं रशिया द्वारा फ्रान्स ने हमारा प्लेन गिराने के आरोप किए गए थे।

भूमध्य सागर में तैनात फ्रान्स के विध्वंसक ने लताकिया पर हमले चढ़ाए और इन हमलों में रशिया का प्लेन गिराया गया ऐसा रशिया ने कहते हुए कड़ा रोष जताया था। लेकिन कुछ ही पलों में ये प्लेन सीरिया के हवाई सुरक्षा सिस्टम नें गिराने की बात उजागर हुई। रशिया के रक्षा मंत्रालय ने भी ये बात मानी। लेकिन ऐसा होते हुए इस्रायल के गैरजिम्मेदाराना हरकत के कारण हमारा प्लेन गिरा, ऐसा आरोप रशिया ने किया है। इस्रायल ने हेतू पूर्वक ये हमले करते हुए रशिया का प्लेन अपने पर होने वाले प्रति हमले की चपेट में आएगा, ऐसी स्थिती निर्माण की थी, ऐसा आरोप रशियन रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ‘मेजर जनरल इगोर कोनाशेंकोव्ह’ ने किया है।

रशिया का प्लेन इस जगह लैंडिंग कर रहा हे, ये पता होते हुए भी इस्रायल ने ये हमला किया था। साथही ये हमला करने के एक मीनट पहले इस्रायल ने रशिया को इस बारे में सूचना दी थी। इससे रशियन विमान को बचाने के लिए हमारी सिस्टम कुछ नहीं कर सकी, ऐसा इल्जाम मेजर जनरल कोनाशेंकोव्ह ने रखा। इस्रायल के इस कार्रवाई को जवाब देने का अधिकार रशिया अपने पास रख रहा है, ऐसे रशियन सेना ने धमकाया है। साथही रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमिर पुतिन ने ये घटना आनेवाले कई दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं के मालिका शुरू करने वाली होगी, ऐसी सूचक बात कही है।

रशियन रक्षा मंत्रालय ने जानकारी दी कि, ये प्लेन भूमध्य सागर में गिर चूका है, जिसका अब तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है। सोमवार रात को गिराए गए रशियन प्लेन के दुर्घटना की तुलना वर्ष २०१५ में तुर्की ने गिराए रशियन प्लेन की घटना से नहीं किया जा सकता, ऐसा राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमिर पुतिन ने कहा है।

English    मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info