Breaking News

दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया समेत रशिया को ललकारा

सेउल – दक्षिण कोरिया ने पिछले कुछ दिनों से आक्रामकता दिखानेवाले पडोसी उत्तर कोरिया को चेतावनी दी है| दक्षिण कोरिया की वायुसेना ने जारी किए वीडियो में ‘एफ-३५’ विमान उत्तर कोरिया की ‘पैंटसीर-एस१’ हवाई सुरक्षा यंत्रणा तबाह करते दिखाया है| यह हवाई सुरक्षा यंत्रणा रशिया का निर्माण होने से यह वीडियो जारी करके दक्षिण कोरिया अब उत्तर कोरिया के साथ रशिया को भी ललकारता दिखाई दे रहा है|

पिछले हफ्ते में दक्षिण कोरिया की वायुसेना का एक एनिमिटेड वीडियो प्रसिद्ध किया गया| दक्षिण कोरिया ने अमरिका से हाल ही में खरिदें ‘एफ-३५ए’ यह प्रगत लडाकू स्टेल्थ विमान उडान भरता दिखाया है| हवाई कारनामें करने के बाद दक्षिण कोरिया के इस विमान ने उत्तर कोरिया के लष्करी ठिकानों को लक्ष्य किया है| इस दौरान अपने लडाकू विमान उत्तर कोरिया की सेना में तैनात ‘हॉसॉंग-१४’ यह अंतरमहाद्विपीय बैलेस्टिक मिसाइल यंत्रणा एवं जमीन से हवां में हमला करनेवाले मिसाइलों की ‘२ के १२ कब’ हवाई सुरक्षा यंत्रणा तबाह करते दक्षिण कोरिया ने दिखाए है|

‘हॉसॉंग-१४’ और ‘२ के १२ कब’ इन दोनों का निर्माण उत्तर कोरिया ने किया है| इनमें से ‘हॉसॉंग १४’ मिसाइल दस हजार किलोमीटर दूरी पर हमला करने की क्षमता रखता है| इससे पहले उत्तर कोरिया ने अमरिका के शहरों पर इन क्षेपणास्त्रों का हमला करने की धमकी दी थी| इस वजह से दक्षिण कोरिया ने यह मिसाइल ‘एफ-३५ए’ के निशाने पर रखने की बात कही जा रही है| पर, दक्षिण कोरिया ने जारी किए एनिमेटेड वीडियो में ‘२ के १२ कब’ यह हवाई सुरक्षा यंत्रणा यानी रशिया ने निर्माण की हुई ‘पैंटसीर-एस१’ यंत्रणा होने का दावा किया है|

रशिया ने उत्तर कोरिया को ‘पेंटसीर-एस१’ यह हवाई सुरक्षा यंत्रणा प्रदान नही की है| इसके बावजूद दक्षिण कोरिया ने वर्णित वीडियो में रशियन यंत्रणा का जिक्र करके अलग संकेत दिए है, यह भी चर्चा हो रही है| पिछले कुछ दिनों से रशिया ने उत्तर कोरिया के पक्ष में और दक्षिण कोरिया को उकसानेवाली भूमिका अपनाई है| पिछले महीने में चीन के साथ हवाई युद्धाभ्यास करनेवाले रशिया के बॉम्बर्स विमानोंने दक्षिण कोरिया की हवाई सीमा में घुसपैठ की थी| इसके बाद दक्षिण कोरिया ने लडाकू विमान भेजकर रशियन बॉम्बर्स को भगाया था|

इसी बीच, दक्षिण कोरिया ने अमरिका के साथ ६० ‘एफ-३५ए’ लडाकू विमान खरीदने के लिए समझौता किया और इनमें से १३ विमान राजधानी सेउल में उतरें है| अमरिका और दक्षिण कोरिया के इस समझौते पर उत्तर कोरिया ने आपत्ति भी दर्ज की थी| यह समझौता अपनी सुरक्षा को चुनौती दे रहा है, यह आरोप भी उत्तर कोरिया ने रखा था|

English मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info