Breaking News

चीन के बढ़ते खतरे की पृष्ठभूमि पर अमरीका ने शुरू किया ‘रिम ऑफ पैसिफिक’ युद्धाभ्यास – ऑस्ट्रेलिया और फ्रान्स समेत 10 देश शामिल

हवाई – कोरोना की महामारी और चीन के बढ़ते खतरे की पृष्ठभूमि पर विश्‍व के सबसे बड़े ‘नौसेना के युद्धाभ्यास’ के तौर पर जाने जा रहे ‘रिम ऑफ पैसिफिक 2020’ की शुरूआत हुई है। इस वर्ष के युद्धाभ्यास में 10 देशों के 22 युद्धपोत, पनडुब्बियां और पांच हज़ार से अधिक सैनिक शामिल हुए हैं। इस युद्धाभ्यास में ऑस्ट्रेलिया और फ्रान्स का समावेश होना ध्यान आकर्षित करनेवाला साबित हुआ है। इन दोनों देशों ने बीते वर्ष से ‘इंडो-पैसिफिक’ क्षेत्र में जारी चीन की हरकतों के खिलाफ़ आवाज़ उठाई है और इस क्षेत्र में अपनी तैनाती बढ़ाने के स्पष्ट संकेत भी दिए हैं।

‘रिम ऑफ पैसिफिक’

कोरोना की महामारी के पृष्ठभूमि पर चीन की कम्युनिस्ट हुकूमत ने अपनी विस्तारवाद की महत्वाकांक्षा पूरी करने के लिए जोरदार कोशिशें शुरू की हैं। इ्सके लिए अलग अलग हिस्सों में लष्करी तैनाती बढ़ाने के साथ ही कई हिस्सों में घुसपैठ करने की कोशिश भी चीन कर रहा है। पड़ोसी देशों के जहाज़ डुबोना, उनकी समुद्री सीमा में घुसपैठ करना और लष्करी ताकत के बल पर धमकाने की हरकतें चीन लगातार कर रहा है। इसी बीच हाँगकाँग पर कब्ज़ा करने के लिए थोंपा गया कानून और तैवान पर हमला करने की धमकाने की हरकत में इज़ाफा हुआ है। चीन ने इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में अपने लष्करी सामर्थ्य का प्रदर्शन करना भी शुरू किया है।

इस पृष्ठभूमि पर बीते महीने में अमरीका ने साउथ चायना सी को लेकर अपनी भूमिका स्पष्ट करते समय चीन के खिलाफ़ स्पष्ट संघर्ष करने की भूमिका का ऐलान किया था। इस क्षेत्र के अन्य देशों के क्षेत्र पर कब्ज़ा चीन ने किया है, यह आरोप रखकर ऐसे देशों की रक्षा के लिए अमरीका ड़टकर खड़ी रहेगी, यह इशारा भी अमरीका ने दिया था। अमरीका के साथ ही कई देशों को कोरोना की महामारी ने झटका दिया है और इसके बावजूद आयोजित किया गया ‘रिम ऑफ पैसिफिक युद्धाभ्यास’ अमरीका की कटिबद्धता का हिस्सा होने का दावा रक्षा अधिकारियों ने किया है।

‘रिम ऑफ पैसिफिक’

रिम ऑफ पैसिफिक 2020 में अमरीका के साथ कनाड़ा, फ्रान्स, ऑस्ट्रेलिया, जापान, दक्षिण कोरिया, फिलिपाईन्स, सिंगापुर, न्यूझिलैंड़ और ब्रुनेई शामिल हुए हैं। अगस्त महीने के अन्त तक होनेवाले इस युद्धाभ्यास में समुद्री क्षेत्र की युद्धनीति पर पूरा जोर रहेगा, यह जानकारी अमरीका के ‘थर्ड फ्लीट’ के कमांडर वाईस एडमिरल स्कॉट कॉन ने साझा की। इस दौरान, ऐंटी सरफेस ऐण्ड ऐंटी सबमरीन वॉरफेअर, इंटरडिक्शन ऑपरेशन्स और लाईव फायर इवेंटस्‌ का समावेश होने की बात एडमिरल स्कॉट कॉन ने साझा की।

इससे पूर्व, वर्ष 2018 में हुए ‘रिम ऑफ पैसिफिक’ युद्धाभ्यास में 25 देशों के 45 युद्धपोत, पांच पनडुब्बियां और लगभग 25 हज़ार सैनिक शामिल हुए थे।

English    मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info